Assembly Banner 2021

संबित पात्रा ने SC से जगन्नाथ यात्रा की मांगी अनुमति, कहा- आशा करते हैं कि परमात्मा हमारी सुनेगा

संबित पात्रा ने SC से जगन्नाथ यात्रा की अनुमति देने की गुजारिश की है (File Photo)

संबित पात्रा ने SC से जगन्नाथ यात्रा की अनुमति देने की गुजारिश की है (File Photo)

संबित पात्रा (Sambit Patra) ने ट्वीट किया है, ‘‘आज मैंने उच्चतम न्यायालय (Supreme Court) के पुराने आदेश पर स्पष्टीकरण/समीक्षा के लिए एक अर्जी दी है और 23 जून को पुरी में श्री जगन्नाथ महाप्रभु की पवित्र रथ यात्रा (Rath Yatra) की अनुमति देने का अनुरोध किया है.’’

  • Share this:
नई दिल्ली. भारतीय जनता पार्टी के प्रवक्ता (BJP Spokesperson) संबित पात्रा (Sambit Patra) ने उच्चतम न्यायालय (Supreme Court) से अनुरोध किया है कि वह कोरोना वायरस महामारी (Coronavirus pandemic) के मद्देनजर पुरी की भगवान जगन्नाथ रथ यात्रा (Lord Jagannath Rath Yatra, Puri) पर रोक लगाने वाले अपने आदेश की समीक्षा करे. पात्रा ने ट्वीट किया है, ‘‘आज मैंने उच्चतम न्यायालय के पुराने आदेश पर स्पष्टीकरण/समीक्षा के लिए एक अर्जी दी है और 23 जून को पुरी में श्री जगन्नाथ महाप्रभु की पवित्र रथ यात्रा की अनुमति देने का अनुरोध किया है.’’

भाजपा नेता संबित पात्रा (BJP Leader Sambit Patra)  को 2019 में पुरी लोकसभा (Lok Sabha) सीट पर बीजद के पिनाकी मिश्रा के हाथों हार मिली थी. पुरी में नौ दिन लंबा रथ यात्रा समारोह 23 जून से शुरू होने वाला था.

यात्रा को लेकर पात्रा ने कहा, "आशा करते हैं कि परमात्मा हमारी प्रार्थनाएं सुनेगा"
भारत के प्रधान न्यायाधीश एस.ए. बोबड़े की अध्यक्षता वाली उच्चतम न्यायालय की पीठ ने 18 जून को कहा कि कोरोना वायरस महामारी के कारण सार्वजनिक स्वास्थ्य और नागरिकों की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए इस साल ओडिशा की तीर्थ नगरी में रथयात्रा की अनुमति नहीं दी जा सकती है.
पात्रा ने कहा, ‘‘आशा करतें हैं कि परमात्मा हमारी प्रार्थनाएं सुनेगा.’’



VHP ने सुप्रीम कोर्ट से अपने फैसले पर पुनर्विचार की गुजारिश की थी
विश्व हिन्दू परिषद के महासचिव मिलिंद परांडे ने रविवार को कहा कि रथ यात्रा की अनुमति दी जानी चाहिए क्योंकि उसका आयोजन कोविड-19 दिशा-निर्देशों का पालन करते हुए भी किया जा सकता है.

विश्व हिंदू परिषद (VHP) ने सुप्रीम कोर्ट से गुजारिश की है कि वह पिछले हफ्ते के अपने उस आदेश पर पुनर्विचार करे, जिसमें कोरोना वायरस के प्रसार को देखते हुए पुरी में रथ यात्रा के समारोह पर पूरी तरह से रोक लगा दी गई थी. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) का सहयोगी संगठन ओडिशा के इस प्रसिद्ध कार्यक्रम को रद्द न किए जाने के खिलाफ मजबूती से प्रयास कर रहा है. ऐसा सुप्रीम कोर्ट के उस आदेश के बाद किया जा रहा है, जिसमें इसने इस भव्य धार्मिक समारोह से जुड़ी सारी गतिविधियों पर रोक लगा दी थी, जिसमें दुनिया भर से लोग जुटते हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज