Home /News /nation /

संयुक्त किसान मोर्चा की मांग, सुप्रीम कोर्ट के जज से कराई जाए सिंघू बॉर्डर मामले की जांच

संयुक्त किसान मोर्चा की मांग, सुप्रीम कोर्ट के जज से कराई जाए सिंघू बॉर्डर मामले की जांच

मोर्चा ने पंजाब के किसानों से संगठन को और मजबूत बनाने की अपील की. (फाइल फोटो)

मोर्चा ने पंजाब के किसानों से संगठन को और मजबूत बनाने की अपील की. (फाइल फोटो)

सिंघू बॉर्डर (Singhu Border) पर हत्या के मामले पर संयुक्त किसान मोर्चा ने मामले की जांच उच्चतम न्यायालय (Supreme Court) के न्यायाधीशों से कराने की मांग की है. इसके साथ ही मोर्चा ने केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर (Narendra Singh Tomar) और कैलाश चौधरी के इस्तीफे की भी मांग की है.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्ली: संयुक्त किसान मोर्चा (SKM) ने गुरुवार को मांग की कि सिंघू बॉर्डर पर पीट-पीट कर हत्या किए जाने की घटना की जांच उच्चतम न्यायालय (Supreme Court) के न्यायाधीश से कराई जाए और निहंग सिख के एक नेता से मुलाकात करने के लिए केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर (Narendra Singh Tomar) और कैलाश चौधरी से इस्तीफा देने की मांग की, जिसका समूह कथित तौर पर एक व्यक्ति की जघन्य हत्या से जुड़ा था.

    किसान संगठनों के समूह ने लखीमपुर खीरी घटना में केंद्रीय मंत्री अजय मिश्रा की बर्खास्तगी एवं गिरफ्तारी की मांग तथा कृषि कानूनों (Agricultural Law) को रद्द करने की मांग को लेकर दिल्ली की सीमाओं पर प्रदर्शन के 11 माह पूरा होने पर अखिल भारतीय स्तर पर धरना देने का भी आह्वान किया.

    मोर्चा ने बयान जारी कर कहा, एसकेएम मांग करता है कि केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर और कैलाश चौधरी तुरंत इस्तीफा दें जिन्होंने निहंग सिखों के एक नेता से मुलाकात की जिसका समूह जघन्य हत्या में संलिप्त था. एसकेएम षड्यंत्र की उच्चतम न्यायालय के न्यायाधीश से जांच कराने की मांग करता है.

    यह भी पढ़ें- 2-3 साल के बच्चों के लिए वैक्सीन को फरवरी तक मिल सकती है मंजूरी: अदार पूनावाला

    यह भी पढ़ें- Pfizer-BioNTech का दावा, ट्रायल में 95.6% प्रभावी निकला वैक्सीन का बूस्टर डोज

    किसान आंदोलन को बदनाम करने की कोशिश
    इसने कहा कि इस तरह की घटनाओं से किसान आंदोलन को बदनाम करने और इसे हिंसा में फंसाने का षड्यंत्र रचा गया. दलित मजदूर लखबीर सिंह का शव 15 अक्टूबर को कृषि कानूनों के विरोध में हो रहे प्रदर्शन स्थल के पास एक अवरोधक से बंधा पाया गया था. उसका एक हाथ कटा हुआ था और उसके शरीर पर धारदार हथियारों से वार के कई निशान थे.

    एसकेएम ने कहा, पंजाब के 32 किसान संगठनों की कल सिंघू मोर्चा पर बैठक हुई. घटना की तथ्यान्वेषी रिपोर्ट सौंपने के लिए पांच सदस्यीय समिति का भी गठन किया गया. सरकार के षड़यंत्र को विफल करने के लिए बैठक में पंजाब के किसानों से कहा गया कि मोर्चा को मजबूत बनाएं.

    Tags: Kisan Andolan, Samyukt Kisan Morcha, Supreme Court

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर