Home /News /nation /

sandeep pathak iit delhi professor became aap rajyasabha candidate

संदीप पाठक: पंजाब में जिस IITian के कैलकुलेशन में फंस गईं सभी पार्टियां, वह अब जा रहा राज्यसभा

संदीप पाठक छत्तीसगढ़ के रहने वाले हैं और उनके पिता किसान हैं.

संदीप पाठक छत्तीसगढ़ के रहने वाले हैं और उनके पिता किसान हैं.

डॉ. संदीप पाठक का पहला परिचय यह है कि वह दिल्ली आईआईटी में फिजिक्स के प्रोफेसर हैं. वह पिछले तीन साल से आम आदमी पार्टी के कोर ग्रुप में हैं. कम समय में ही वह 'आप' के खास रणनीतिकार बन गए. पार्टी ने उन्हें काम करने के लिए पंजाब भेजा और उन्होंने साबित किया कि किसी तरह से एक पार्टी तमाम धुरंधरों को मात दे सकती है.

अधिक पढ़ें ...

संसद का ऊपरी सदन. राज्यसभा. नेता इसका सदस्य बनने के लिए तमाम गोटियां सेट करते हैं. पार्टियां अपनी तमाम रणनीतियों को ध्यान में रखकर सदस्य बनाती हैं. लेकिन, आम आदमी पार्टी ने एक ऐसे शख्स को पंजाब से राज्यसभा भेजने का निर्णय लिया है, जिसका नाम आने के बाद लोग गूगल करने पर मज़बूर हो गए हैं. जो पर्दे के पीछे रहकर काम करता रहा और पंजाब में बड़े-बड़े दिग्गजों के राजनैतिक करियर पर ही सवाल खड़ा करके ‘आप’ को सबसे बड़ी पार्टी के रूप में सामने ला दिया.

बात हो रही है डॉ. संदीप पाठक की. इनका पहला परिचय यह है कि वह दिल्ली आईआईटी (Delhi IIT) में फिजिक्स के प्रोफेसर हैं. वह पिछले तीन साल से आम आदमी पार्टी (AAP) के कोर ग्रुप में हैं. कम समय में ही वह ‘आप’ के खास रणनीतिकार बन गए. पार्टी ने उन्हें काम करने के लिए पंजाब भेजा और उन्होंने साबित किया कि किसी तरह से एक पार्टी तमाम धुरंधरों को मात दे सकती है.

कहा जा रहा है कि चुनाव के ठीक पहले जिस तरह अरविंद केजरीवाल दावा करते थे कि चन्नी दोनों सीटों से इतने वोट से हार रहे हैं, या बादल इतने अंतर से पिछड़ रहे हैं, ये सब कैलकुलेशन संदीप पाठक का होता था. केजरीवाल ने दावा किया था कि पार्टी के सर्वेक्षण में चमकौर साहिब में चन्नी को 35 फीसदी तो 52 फीसदी लोगों ने आप को पसंद किया है. वहीं, भदौड़ में 48 फीसदी लोगों ने आप उम्मीदवार को पसंद किया, जबकि चन्नी को केवल 30 फीसदी लोगों ने पसंद किया है. ये सब कैलकुलेशन संदीप पाठक का ही था. उनकी ग्राउंड पर पकड़ और वोटर्स में सेंध लगाने की क्षमता बिल्कुल वैसी ही रही, जैसे कोई IITian किसी इक्वेशन को सॉल्व करता है. बिल्कुल स्टेप बाई स्टेप. तीन साल में पंजाब में आप ने ऐसी पकड़ बनाई कि पार्टी ने आखिरी में जीत के रूप में Hence Proved ही लिखा.

संदीप पाठक का एजुकेशन रिकॉर्ड भी बेहद उत्कृष्ट है. उन्होंने कैंब्रिज यूनिवर्सिटी से साल 2011 में पीएचडी की है. उन्होंने प्रोफेसर डेविड कार्डवेल (Prof David Cardwell) के साथ रिसर्च की है. वह दुनिया के जाने-पहचाने नाम हैं.

किसान का बेटा जो पीएचडी करने कैंब्रिज पहुंचा
संदीप मूलरूप से छत्तीसगढ़ के मुंगेली जिले के लोरमी के रहने वाले हैं. उनके गांव का नाम बटहा है. उनके पिता किसान हैं. अपने माता-पिता की पहली संतान के रूप में संदीप का जन्म 1979 में हुआ है. डॉ. संदीप ने पांचवीं तक की पढ़ाई लोरमी में की है. इसके बाद वे बिलासपुर चले गए जहां से उन्होंने एमएससी तक की पढ़ाई की. इसके बाद वे हैदराबाद होते हुए ब्रिटेन के कैंब्रिज चले गए जहां उन्होंने छह साल  बिताए. आईआईटी दिल्ली की वेबसाइट के मुताबिक संदीप ने मेसाच्युसेट्स इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी में (Massachusetts Institute of Technology (USA) में प्रोफेसर व्लादिमारी बुलोविक (Prof. Vladimir Bulovic) के साथ काम किया. 2006 से वे आईआईटी दिल्ली में प्रोफेसर हैं.

Tags: AAP, Arvind kejriwal, Punjab Election 2022, Punjab Elections 2022

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर