होम /न्यूज /राष्ट्र /Haldwani: सफाई कर्मचारियों की हड़ताल से हालात बेकाबू, शहर में जगह-जगह बने कचरे के पहाड़

Haldwani: सफाई कर्मचारियों की हड़ताल से हालात बेकाबू, शहर में जगह-जगह बने कचरे के पहाड़

नैनीताल के सफाईकर्मी 9 सूत्रीय मांगों को लेकर बेमियादी हड़ताल पर बैठे हैं. इस वजह से शहर में कूड़ा उठान नहीं हो रहा है औ ...अधिक पढ़ें

    रिपोर्ट: पवन सिंह कुंवर

    हल्द्वानी. उत्तराखंड के हल्द्वानी शहर को ग्रीन सिटी नाम से भी जाना जाता है, लेकिन इन दिनों इस हरे-भरे शहर में हर ओर कूड़ा-करकट ही नजर आ रहा है, जो शहर की शान में दाग जैसा है. दरअसल कुमाऊं का प्रवेश द्वार कहे जाने वाले इस शहर से होकर ही पर्यटक पहाड़ी जिलों को जाते हैं. वहीं, इस समय सफाईकर्मियों की हड़ताल के चलते शहर में जगह-जगह कूड़े के ढेर नजर आ रहे हैं. सफाईकर्मी 9 सूत्रीय मांगों को लेकर बेमियादी हड़ताल पर बैठे हैं. एक तरफ शहर में कूड़ा उठान नहीं हो रहा है, तो दूसरी तरफ घरों पर कूड़ा उठाने के लिए आने वाले वाहन भी बंद हैं.

    हल्द्वानी निवासी शेर सिंह का कहना है कि नगर निगम को कूड़ा उठाने के लिए वैकल्पिक व्यवस्था करनी चाहिए, क्योंकि पूरा शहर कूड़ाघर में तब्दील होता जा रहा है. चिह्नित स्थानों पर धीरे-धीरे कूड़े के ढेर बढ़ते जा रह रहे हैं. कूड़े से बीमारियों का खतरा भी बढ़ता जा रहा है.

    नैनीताल रोड स्थित एक पॉश कॉलोनी निवासी अभय सिंह ने कहा कि हल्द्वानी नगर निगम के पास इतना बड़ा क्षेत्र है. इतनी बड़ी जनसंख्या होने के बावजूद निगम ने अभी तक कूड़ा उठान की कोई वैकल्पिक व्यवस्था तैयार नहीं की. सफाईकर्मी अगर हड़ताल पर हैं, तो शहर को समस्या मुक्त रखना निगम का ही काम है. घर से कूड़ा उठाने वाला वाहन नहीं आ रहा है. जगह-जगह कूड़े के ढेर नजर आ रहे हैं.

    हल्द्वानी नगर आयुक्‍त ने कही ये बात
    वहीं नगर आयुक्त पंकज उपाध्याय ने इस बारे में कहा कि शहर से कचरा उठाने के लिए दूसरी व्यवस्था की जा रही है. जल्‍द ही कूड़ा उठाने वाले कुछ वाहन काम करने लगेंगे. सफाईकर्मियों की हड़ताल पर उन्होंने कहा किनगर निगम शासनादेश के हिसाब से मानदेय देने के लिए बाध्य है. निगम आय बढ़ाने की कोशिश कर रहा है. जल्द ही बढ़ा हुआ मानदेय दिया जाएगा. इसके साथ उन्‍होंने सफाईकर्मियों से सहयोग की अपील है.

    बता दें कि हल्द्वानी नगर निगम के सफाईकर्मी शासनादेश के हिसाब से बढ़ा हुआ मानदेय देने की मांग सहित 9 सूत्रीय मांगों को लेकर आंदोलनरत हैं. बढ़ा हुआ मानदेय, निगम में ठेका प्रथा समाप्त करने, बैंणी सेना की व्यवस्था समाप्त करने,ट्रांसपोर्ट नगर में कार्यरत सफाईकर्मियों को वापस शामिल करने, चालक के रूप में कार्य कर रहे सभी कर्मियों को चालक के समान वेतन देने और मैजिक वाहन निजी डोर टू डोर का निगम में विलय करना आदि हैं. सफाईकर्मियों का कहना है कि उत्तराखंड के सभी शहरों में समान वेतन दिया जा रहा है,लेकिन हल्द्वानी नगर निगम अभी तक समान वेतन नहीं दे पा रहा है, जिस वजह से सभी कर्मचारी हड़ताल पर हैं.

    Tags: Haldwani news, Strike, Uttarakhand news

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें