संजीवनी- टीका ज़िंदगी का : नेटवर्क18 और फेडरल बैंक ने शुरू किया कोरोना वैक्सीनेशन को लेकर जागरूकता अभियान

इस कैंपेन के तहत भारत के उन 5 ज़िलों के गांवों में वैक्सीनेश का अभियान चलाया जाएगा जो कोरोना से सबसे ज्यादा प्रभावित हैं

इस कैंपेन के तहत भारत के उन 5 ज़िलों के गांवों में वैक्सीनेश का अभियान चलाया जाएगा जो कोरोना से सबसे ज्यादा प्रभावित हैं

Federal Bank and Network 18 Initiative: नेटवर्क18 7 अप्रैल को फेडरल बैंक के साथ मिलकर पंजाब के अमृतसर से संजीवनी नाम का ये कैंपेन लॉन्च करेगा. इस कैंपेन के ब्रांड एम्बेसडर हैं बॉलीवुड अभिनेता सोनू सूद.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 7, 2021, 10:32 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. नेटवर्क 18 इस साल विश्व स्वास्थ्य दिवस (7 अप्रैल) पर कोरोना वैक्सीनेशन पर जागरूकता अभियान की शुरुआत करने जा रहा है. इस कैंपेन को 'संजीवनी- टीका ज़िंदगी का' नाम दिया गया है. इसके तहत लोगों को कोरोना वैक्सीन की अहमियत के बारे में जानकारी दी जाएगी. फेडरल बैंक अपने कॉर्पोरेट सोशल रेस्पांसिबिलिटी के तहत नेटवर्ट 18 (Federal Bank and Network 18 Initiative ) के जरिए देश के नागरिकों को वैक्सीन से जुड़ी जानकारियां पहुंचाएगा.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस साल 16 जनवरी को देशभर में कोरोना के वैक्सीनेशन की शुरुआत की थी. वैक्सीनेशन के पहले फेज में देश के 3 करोड़ स्वास्थ्य कर्मियों को टीका लगाया गया था. भारत में इस वक्त ड्रग्स कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया ने दो वैक्सीन के इमरजेंसी इस्तेमाल को मंजूरी दी है. ये हैं- कोविशील्ड (Covishield) और कोवैक्सीन (Covaxin). कोरोना का पहला टीका देश के एक सफाईकर्मी को लगाया गया था.

45 साल से ऊपर के लोगों को लग रहा टीका

इस साल एक मार्च को सरकार ने वैक्सीनेशन के दूसरे फेज की शुरुआत की. इसके तहत 60 साल से ऊपर के सभी लोगों को टीके लगाने का ऐलान किया गया. इसके अलावा 45 से 59 साल के ऐसे लोगों को भी टीके लगाने की इजाजत दी गई जिन्हें कोई गंभीर बीमारी थी. अब एक अप्रैल से सरकार ने उन सभी लोगों को वैक्सीन लगाने की इजाजत दे दी है जिनकी उम्र 45 साल से ज्यादा है.
Youtube Video


सोनू सूद होंगे ब्रांड एम्बेसडर 

7 अप्रैल को नेटवर्क18 फेडरल बैंक के साथ मिलकर पंजाब के अमृतसर से संजीवनी नाम का ये कैंपेन लॉन्च करेगा. इस कैंपेन के ब्रांड एम्बेसडर हैं बॉलीवुड अभिनेता सोनू सूद. इस जागरूकता अभियान की शुरुआत करते हुए सूद पहला टीका लगाएंगे. देश के 66 फीसदी लोग गांव में रहते हैं. ऐसे में हर नागरिक के लिए वैक्सीन लेना आसान नहीं होगा. नेटवर्क 18 की ये कोशिश है कि देश के हर नागरिक को कोरोना का टीका लग जाए जिससे कि एक बारगी हालात सामान्य हो सके.



सर्वाधिक प्रभावित जिलों पर खास ध्यान

इस कैंपेन के तहत भारत के उन 5 ज़िलों के गांवों में वैक्सीनेशन का अभियान चलाया जाएगा जो कोरोना से सबसे ज्यादा प्रभावित हैं. ये ज़िले हैं- अमृतसर, इंदौर, नासिक, गुंटूर और दक्षिण कन्नड़. इस मौके पर एक वैन को भी हरी झंडी दिखाई जाएगी जो अलग-अलग गांवों का दौरा करेगी. इसे नाम दिया गया है संजीवनी की गाड़ी. आइए हमारे साथ जुड़िए और 9 महीने तक चलने वाले इस अभियान को सफल बनाएं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज