• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • शारदा चिटफंड घोटाला: कलकत्ता हाईकोर्ट ने IPS राजीव कुमार की अग्रिम जमानत याचिका पर बंद कमरे में की सुनवाई

शारदा चिटफंड घोटाला: कलकत्ता हाईकोर्ट ने IPS राजीव कुमार की अग्रिम जमानत याचिका पर बंद कमरे में की सुनवाई

कलकत्‍ता हाईकोर्ट ने कोलकाता के पूर्व पुलिस कमिश्‍नर राजीव कुमार की अग्रिम जमानत याचिका पर बंद कमरे में सुनवाई की.

कोलकाता (Kolkata) के पूर्व कमिश्‍नर राजीव कुमार (Rajeev Kumar) के वकील ने बंद कमरे में सुनवाई के लिए अपील की थी, जिसे कलकत्‍ता हाईकोर्ट (Calcutta High Court) ने मंजूर कर लिया. राजीव कुमार को गिरफ्तारी से बचाने के लिए उनकी पत्‍नी ने 23 सितंबर को हाईकोर्ट में अग्रिम जमानत याचिका (Anticipatory Bail Plea) दायर की थी. डिविजन बेंच बृहस्‍पतिवार को भी याचिका पर सुनवाई करेगी.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:
    कोलकाता. शारदा चिटफंड घोटाले (Saradha Chit-Fund Scam) के सबूतों को दबाने और उनसे छेड़छाड़ के आरोपों में फंसे कोलकाता के पूर्व पुलिस कमिश्‍नर राजीव कुमार (Rajeev kumar) की अग्रिम जमानत याचिका (Anticipatory Bail Plea ) पर कलकत्‍ता हाईकोर्ट (Calcutta High Court) ने बंद कमरे में सुनवाई की. आईपीएस अफसर (IPS Officer) राजीव कुमार के वकील ने बंद कमरे में सुनवाई के लिए अपील की थी, जिसे हाईकोर्ट ने मंजूर कर लिया था. बता दें कि शारदा समूह की कंपनियों ने लाखों लोगों के साथ कथित तौर पर 2500 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी की थी.

    डिविजन बेंच बृहस्‍पतिवार को फिर करेगी याचिका पर सुनवाई
    हाईकोर्ट के जस्टिस एस. मुंशी और जस्टिस एस. दासगुप्ता की खंडपीठ (Division Bench) ने राजीव कुमार की अग्रिम जमानत याचिका पर उनके वकीलों की दलीलें सुनीं. इस दौरान केवल वही अधिवक्ता कोर्ट में मौजूद थे, जो मामले से जुड़े हैं. सुनवाई के दौरान कोर्ट में मौजूद रहे एक वकील ने बताया कि हाईकोर्ट की डिविजन बेंच बृहस्पतिवार को एक बार फिर मामले में सुनवाई करेगी. यह अग्रिम जमानत याचिका राजीव कुमार की पत्‍नी ने दायर की थी.

    पत्‍नी ने 23 सितंबर को हाईकोर्ट में दायर की अग्रिम जमानत याचिका
    अलीपुर जिला व सत्र अदालत ने 21 सितंबर को राजीव कुमार की अग्रिम जमानत याचिका खारिज कर दी थी. सीबीआई (CBI) ने अदालत से कहा कि हजारों करोड़ रुपये के शारदा चिटफंड घोटाला मामले में आईपीएस अफसर राजीव कुमार को कई बार समन किया गया, लेकिन वह पेश नहीं हुए. ऐसा करके वह कानून तोड़ रहे हैं. इसके बाद कोर्ट ने उनकी अग्रिम जमानत याचिका रद्द कर दी थी. इसके बाद उनकी पत्‍नी ने उन्‍हें गिरफ्तारी से बचाने के लिए कलकत्‍ता हाईकोर्ट में 23 सितंबर को अग्रिम जमानत याचिका दायर की.

    सीबीआई ने राजीव कुमार को खोजने का अभियान कर दिया था तेज
    सीबीआई ने आईपीएस राजीव कुमार को खोजने का अभियान तेज कर दिया था. सीबीआई की अलग-अलग टीमें अलीपुर बॉडीगार्ड लाइंस और राजीव कुमार के पार्क स्ट्रीट स्थित सरकारी आवास भी गई थीं. कलकत्ता हाई कोर्ट भी राजीव कुमार को गिरफ्तारी से दिया गया संरक्षण वापस ले चुका था. बता दें कि आईपीएस अधिकारी राजीव कुमार शारदा चिटफंड घोटाला मामले में जांच एजेंसियों के आरोपों का सामना कर रहे हैं.

    घोटाले के सबूतों को दबाने और छेड़छाड़ करने का लगा है आरोप
    आईपीएस राजीव कुमार को पश्चिम बंगाल (West Bengal) की मुख्‍यमंत्री ममता बनर्जी (CM Mamata Banerjee) का खास माना जाता है. उन पर आरोप है कि उन्होंने घोटाले की जांच में जरूरी सबूत दबा दिए थे. साथ ही कुछ सबूतों से छेड़छाड़ भी की थी. पश्चिम बंगाल पुलिस ने सीबीआई को बताया था कि राजीव कुमार 9 से 25 सितंबर तक छुट्टी पर हैं.

    ये भी पढ़ें:

    होटल का वेटर दया नायक ऐसे बना मुंबई पुलिस का Encounter Specialist

    बाबा रामदेव ने छात्रों से कहा- कानून तोड़ोगे तो चिदंबरम की तरह जेल जाओगे

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज