लाइव टीवी

शारदा चिट फंड केस: अग्रिम जमानत याचिका पर IPS अधिकारी राजीव कुमार को नहीं मिली राहत

भाषा
Updated: September 17, 2019, 11:20 PM IST
शारदा चिट फंड केस: अग्रिम जमानत याचिका पर IPS अधिकारी राजीव कुमार को नहीं मिली राहत
कोलकाता के पूर्व पुलिस आयुक्त राजीव कुमार को सारदा चिटफंड मामले में अपनी अग्रिम जमानत याचिका पर बारासात जिला एवं सत्र अदालत से मंगलवार को राहत नहीं मिली

कोलकाता के पूर्व पुलिस आयुक्त राजीव कुमार (Rajeev Kumar) को शारदा चिटफंड मामले (Sharda Chit fund Case) में अपनी अग्रिम जमानत याचिका पर बारासात जिला एवं सत्र अदालत से मंगलवार को राहत नहीं मिली.

  • भाषा
  • Last Updated: September 17, 2019, 11:20 PM IST
  • Share this:
कोलकाता. कोलकाता के पूर्व पुलिस आयुक्त राजीव कुमार (Rajeev Kumar) को शारदा चिटफंड मामले (Sharda Chit fund Case) में अपनी अग्रिम जमानत याचिका पर बारासात जिला एवं सत्र अदालत से मंगलवार को राहत नहीं मिली. इससे कुछ घंटे पहले एक विशेष अदालत ने उनकी याचिका की सुनवाई से इनकार कर दिया था. कुमार शारदा चिटफंड मामले में पूछताछ के लिए सीबीआई के समक्ष पेश नहीं हुए थे.

बारासात सत्र न्यायाधीश एस रशीदी ने कुमार की याचिका का निस्तारण करते हुए कहा कि यह मामला उनके अधिकार क्षेत्र में नहीं आता है क्योंकि करोड़ों रुपये का यह घोटाला मामला अलीपुर जिला अदालत में दर्ज है. बारासात अदालत उत्तर 24 परगना जिले में है जबकि अलीपुर अदालत समीपवर्ती दक्षिण 24 परगना जिले में है.

अदालत ने याचिका पर सुनवाई से कर दिया था इंकार
इससे पूर्व दिन में विशेष अदालत ने यह कहते हुए याचिका पर सुनवाई से इनकार कर दिया था कि अग्रिम जमानत याचिका पर सुनवाई करना उनके अधिकार क्षेत्र में नहीं आता है. इसके बाद कुमार ने बारासात जिला सत्र न्यायाधीश की अदालत का रूख किया था.

सीबीआई ने मामले में मदद के वास्ते उसके समक्ष पेश होने के लिए कुमार को नोटिस दिया था. कुमार इस मामले के सिलसिले में मंगलवार को सीबीआई के समक्ष पूछताछ के लिए पेश नहीं हुए. इस बीच सूत्रों ने बताया कि सीबीआई ने कुमार का पता लगाने के लिए एक विशेष टीम का गठन किया है.

ये भी पढ़ें-
लोगों को धमकाने के लिए शस्त्र के साथ तस्वीर इंटरनेट पर डालने के बाद 2 अरेस्ट
Loading...

ममता का PM से मिलना अपनी कैबिनेट को बचाने की आखिरी कोशिश: कैलाश विजयवर्गीय

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 17, 2019, 10:18 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...