लाइव टीवी

नागरिकता कानून का विरोध, पीएम मोदी और अमित शाह से मिलेंगे असम के सीएम सोनोवाल

News18Hindi
Updated: December 14, 2019, 11:01 PM IST
नागरिकता कानून का विरोध, पीएम मोदी और अमित शाह से मिलेंगे असम के सीएम सोनोवाल
सीएम सोनोवाल ने कहा कि अधिनियम के तहत असम में एक करोड़ से अधिक लोगों के प्रवेश जैसी खबर लोगों में भ्रम पैदा करने के लिए फैलाई जा रही है. फोटो.पीटीआई

नागरिकता (संशोधन) कानून (Citizenship amendment act) के बाद असम अपने इतिहास में जनता के भीषणतम हिंसक प्रदर्शनों में से एक से गुजर रहा है. वहां तीन रेलवे स्टेशनों,एक डाकघर, एक बैंक, एक बैंक टर्मिनस, दुकानों, दर्जनों वाहन और कई अन्य सरकारी संपत्तियां को जला दिया गया या उनमें तोड़फोड़ की गई.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 14, 2019, 11:01 PM IST
  • Share this:
गुवाहाटी. असम के मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल (Sarbananda Sonowal) की अगुवाई में एक टीम नागरिकता (संशोधन) कानून के खिलाफ राज्य में चल रहे विरोध प्रदर्शन पर चर्चा करने के लिए शीघ्र ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) और केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह (Amit Shah) से मिलेगी. असम के संसदीय कार्य मंत्री चंद्रमोहन पटवारी ने शनिवार को बताया कि स्थिति के बारे में प्रधानमंत्री और केंद्रीय गृह मंत्री को बताने का फैसला यहां भाजपा विधायकों और सांसदों की एक बैठक में किया गया है. पटवारी ने एक बयान में कहा कि टीम राज्य की वर्तमान स्थिति के बारे में बताने के जल्द ही दोनों नेताओं से मिलेगी.

उन्होंने कहा, ‘आज की बैठक में लोगों से शांति एवं व्यवस्था बनाये रखने की अपील की गयी.’सोनोवाल ने ट्वीट किया कि बैठक में उन्होंने बैठक में अपने मंत्रिमंडलीय सहयोगियों, केंद्रीय मंत्री श्री रामेश्वर तेली और सांसदों, विधायकों, असम भाजपा के अध्यक्ष रंजीत कुमार दास असम की वर्तमान स्थिति के बारे में चर्चा की. असम अपने इतिहास में जनता के भीषणतम हिंसक प्रदर्शनों में से एक से गुजर रहा है. वहां तीन रेलवे स्टेशनों,एक डाकघर, एक बैंक, एक बैंक टर्मिनस, दुकानों, दर्जनों वाहन और कई अन्य सरकारी संपत्तियां को जला दिया गया या उनमें तोड़फोड़ की गई.



संशोधित नागरिकता कानून से बहुत कम लोगों को फायदा होगा: सोनोवालअसम के मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल ने शनिवार को कहा कि नागरिकता (संशोधन) कानून से "बहुत कम" लोगों को फायदा होगा. उन्होंने लोगों से शांति बनाए रखने की अपील करते हुए कहा कि इससे जिन लोगों को फायदा होगा, उनकी सटीक संख्या उचित समय आने पर बताई जाएगी. सोनोवाल ने एक वीडियो संदेश में कहा, "जो लोग (संशोधित अधिनियम के तहत नागरिकता के लिए) आवेदन करेंगे उनकी संख्या बहुत ही कम होगी. हम सरकार चला रहे हैं और हमारे पास आंकड़े हैं. उचित समय पर आपको संख्या बताई जाएगी."

मुख्यमंत्री ने कहा कि जब आवेदन प्रक्रिया समाप्त हो जाएगी, तो प्रत्येक जानकारी जनता के सामने प्रस्तुत की जाएगी. सोनोवाल ने आरोप लगाया कि अधिनियम के तहत असम में एक करोड़ से अधिक लोगों के प्रवेश जैसी खबर लोगों में भ्रम पैदा करने के लिए फैलाई जा रही है. उन्होंने कहा, "मैं आप सभी से अपील करता हूं कि इस फर्जी सूचना पर यकीन न करें. गलत सूचना फैलाकर हिंसा भड़काने वाले लोग समाज में शांति और विकास नहीं चाहते. वे हानिकारक तत्व हैं. सभी शांति प्रिय लोगों को ऐसे असामाजिक तत्वों के खिलाफ एकजुट होना चाहिए."

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 14, 2019, 10:41 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर