आफत: सरपंच ने 4000 लोगों के गांव में बंटवाया अचार, बनाने वाला कोविड-19 पॉजिटिव निकला

आफत: सरपंच ने 4000 लोगों के गांव में बंटवाया अचार, बनाने वाला कोविड-19 पॉजिटिव निकला
112 ग्रामीणों को घरों में होम क्वारंटाइन किया गया है (सांकेतिक फोटो, AP)

जहां स्वास्थ्य विभाग (Health Department) के अधिकारियों ने वायरस के फैलने की आशंका को खारिज किया है, वहीं कोरोना वायरस (Coronavirus) प्रसार की आशंका के चलते कोलोर (Kollor) में कई दुकानें बंद हैं.

  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
हैदराबाद. 4,000 लोगों के बीच पारंपरिक आम पचड़ी (अचार) बांटने वाले एक सरपंच ने महबूबनगर (Mahbubnagar) के नवाबपेट मंडल में एक पूरे गांव को परेशानी में डाल दिया है. शादनगर के एक व्यापारी (Trader) और एक रसोइये जो अचार बनाने में शामिल थे, उनके कोविड-19 (Covid-19) टेस्ट में पॉजिटिव पाये जाने के बाद 100 से अधिक ग्रामीणों को घर में ही क्वारंटाइन (Quarantine) में रखा गया है.

जहां स्वास्थ्य विभाग (Health Department) के अधिकारियों ने वायरस के फैलने की आशंका को खारिज किया है, वहीं कोरोना वायरस (Coronavirus) प्रसार की आशंका के चलते कोलोर में कई दुकानें बंद हैं. यहां तक कि ग्रामीणों ने भी अचार को इस डर से फेंक दिया है कि वह उन्हें संक्रमित कर देगा. आम का अचार सभी तेलुगु घरों में गर्मियों के दौर में एक बड़ा आकर्षण होता है.

सरपंच और उनके पति ने व्यापारी से पूरे गांव के लिये तैयार करवाया था अचार
सूत्रों ने कहा कि 112 ग्रामीणों को उनके घरों में क्वारंटाइन किया गया है. जिला चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी (DM and HO) डॉ. के कृष्णा ने पुष्टि की कि किसी भी ग्रामीण ने अब तक टेस्ट में कोरोना पॉजिटिव नहीं पाया गया है. जिला चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी ने कहा, "घबराइए नहीं, स्थिति नियंत्रण में है. हां, अचार को चखने के बाद कुछ ग्रामीण डर गए थे. लेकिन, हमने उन्हें सलाह दी कि उन्हें इसे खाने से वायरस का संक्रमण नहीं होगा."



अधिकारियों के अनुसार, यह विचार सरपंच और उनके पति का था कि गांव के सभी घरों में अचार बांटा जाये. वे आम का अचार बनाने के लिए व्यापारियों से मिलने के लिए शादनगर गए- जहां कई कोविड-19 मामले पाये गये थे. शादनगर, कोलोर से 52 किमी दूर है.



एक व्यापारी ने अचार तैयार करने के लिए दो रसोइयों की व्यवस्था की और गांव का दौरा किया. सरपंच ने 12 व्यक्तियों को सामूहिक तौर पर लगाकर अचार तैयार कराया था.

व्यापारी, रसोइयों में से एक टेस्ट में पॉजिटिव पाये गये, ग्रामीण सकते में
दो क्विंटल अचार तैयार किया गया था. जबकि कुछ ने इसे कुछ ही दिनों में खा लिया, कई अन्य लोगों ने इसे फिलहाल नहीं खाया था क्योंकि अगर इसे जार में कुछ दिन रख दिया जाये तो अचार का स्वाद बेहतर होता है.

जब ग्रामीणों को पता चला कि व्यापारी और रसोइयों में से एक ने कोविड-19 का टेस्ट पॉजिटिव आया है तो वे हैरान रह गए. एक अधिकारी ने बताया, “सरपंच से अचार का ऑर्डर मिलने से पहले व्यापारी ने हैदराबाद के ओल्ड सिटी के जियागुड़ा का कई बार दौरा किया. एक अधिकारी ने कहा कि उनके नमूने लिए गए और टेस्टिंग में वे पॉजिटिव मिले."

यह भी पढ़ें: तमिलनाडु में सामने आए कोरोना के 1091 नए केस, 13 की मौत, कुल मामले 24,586
First published: June 2, 2020, 8:37 PM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading