सात फरवरी को बेंगलुरू से चेन्नई लौटेंगी शशिकला, भव्य स्वागत की तैयारी: दिनाकरन

तमिलनाडु की पूर्व मुख्यमंत्री जयललिता की करीबी शशिकला को अस्पताल से छुट्टी मिल गई है. (फोटो: ANI/Twitter)

तमिलनाडु की पूर्व मुख्यमंत्री जयललिता की करीबी शशिकला को अस्पताल से छुट्टी मिल गई है. (फोटो: ANI/Twitter)

Tamilnadu News: शशिकला 15 फरवरी 2017 से कर्नाटक की राजधानी बेंगलुरू की जेल में कैद थी और भ्रष्टाचार के मामले में चार साल की कैद की सजा पूरी करने के बाद उन्हें 27 जनवरी को रिहा किया गया.

  • Last Updated: February 3, 2021, 11:16 PM IST
  • Share this:

मदुरै (तमिलनाडु). तमिलनाडु की पूर्व मुख्यमंत्री जयललिता (Tamilnadu Former CM Jayalalitha) की विश्वस्त सहयोगी रह चुकी वी. के. शशिकला (KV Sasikala) बेंगलुरू से सात फरवरी को चेन्नई लौटेंगी. अम्मा मक्कल मुनेत्र कषगम (AAMK) महासचिव टीटीवी दिनाकरन ने बुधवार को यहां यह जानकारी दी. शशिकला के समर्थन में दीवारों पर पोस्टर लगाने के चलते अन्नाद्रमुक के पांच कार्यकर्ताओं को पार्टी से निकाले जाने की घटना का संभवत: जिक्र करते हुए दिनाकरन ने कहा कि उनके वापस आने से पहले ही तमिलनाडु में परिवर्तन शुरू हो गये हैं.

शशिकला 15 फरवरी 2017 से कर्नाटक की राजधानी बेंगलुरू की जेल में कैद थी और भ्रष्टाचार के मामले में चार साल की कैद की सजा पूरी करने के बाद उन्हें 27 जनवरी को रिहा किया गया. कोविड-19 संक्रमण (Covid-19) से उबरने के बाद उन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी गयी है और डॉक्टरों की सलाह पर वह बेंगलुरू के एक रिजार्ट में आराम कर रही हैं.

भव्य स्वागत की तैयारी

दिनाकरन ने संवाददाताओं से कहा कि तमिलनाडु की सीमा पर स्थित होसुर में उनका भव्य स्वागत किया जायेगा. उन्होंने बताया कि वह सात फरवरी को बेंगलुरू से सुबह नौ बजे रवाना होंगी और सड़क मार्ग से चेन्नई के टी नगर स्थित अपने आवास पर पहुंचेंगी.
इससे पहले शशिकला सोमवार को बेहद स्पष्ट संदेश देते हुए अन्नाद्रमुक का झंडा लगे हुए कार से अस्पताल से बाहर निकलीं थीं. पार्टी से निष्कासित होने के बाद शशिकला के इस कदम पर सत्तारूढ़ दल ने सवाल उठाए. अन्नाद्रमुक कई बार स्पष्ट कर चुका है कि 66 वर्षीय शशिकला को पार्टी में वापस नहीं लिया जाएगा और जेल से उनकी रिहाई का पार्टी पर कोई असर नहीं होगा.

पार्टी ने के. पलानीस्वामी को अन्नाद्रमुक की ओर से अगले चुनाव के लिए मुख्यमंत्री पद का उम्मीदवार घोषित किया है.

Youtube Video



शशिकला और दिनाकरण को 2017 में ही कर दिया गया था निष्कासित

गौरतलब है कि पलानीस्वामी और ओ. पनीरसेल्वम ने अन्नद्रमुक के अपने-अपने धड़ों के विलय के बाद शशिकला और उनके भांजे टीटीवी दिनाकरण सहित अन्य लोगों को सितंबर 2017 में पार्टी से निकाल दिया था.

अन्नाद्रमुक ने ट्वीट किया कि शशिकला द्वारा पार्टी के झंडे का उपयोग गैरकानूनी है. पार्टी ने मत्स्य पालन मंत्री और वरिष्ठ नेता डी. जयकुमार के हवाले से कहा, ‘‘शशिकला पार्टी की सदस्य नहीं हैं, ऐसे में वह पार्टी का झंडा कैसे लगा सकती हैं? यह कानून के खिलाफ है.’’

इस मामले में शशिकला का बचाव करते हुए अम्मा मक्कल मुनेत्र कषगम के महासचिव दिनाकरण ने दावा किया, ‘‘वह (शशिकला) अन्नाद्रमुक की महासचिव हैं.’’ गौरतलब है कि मार्च 2018 में दिनाकरण ने अन्नद्रमुक को वापस पाने के लक्ष्य से अम्मा मक्कल मुनेत्र कषगम का गठन किया था.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज