जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल ने की शाह फैसल की तारीफ, कहा-बतौर अधिकारी बेहतर सेवा करते

(File photo)
(File photo)

राज्यपाल ने शनिवार को कहा कि राजनीति से जुड़ने का उनका फैसला व्यक्तिगत है, लेकिन नेता के बजाय एक अधिकारी के तौर पर वह लोगों की बेहतर सेवा करते.

  • Share this:
जम्मू कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने शाह फैसल को एक ‘कुशल’ और ‘समर्पित’ आईएएस अधिकारी बताया. राज्यपाल ने शनिवार को कहा कि राजनीति से जुड़ने का उनका फैसला व्यक्तिगत है, लेकिन नेता के बजाय एक अधिकारी के तौर पर वह लोगों की बेहतर सेवा करते.

राज्यपाल ने एक बयान में कहा, ‘फैसल एक कुशल व समर्पित अधिकारी रहे हैं जिन्होंने राज्य और उसकी जनता, खास तौर पर समाज के कमजोर तबकों के लोगों के कल्याण के लिए बहुत ही उत्साह से अपनी सेवाएं दी.’

उन्होंने कहा, ‘यदि वह आईएएस अधिकारी के तौर पर अपनी सेवा जारी रखते तो वह बेहतर तरीके से समाज के लोगों की सेवा करते.’



साल 2009 की सिविल सेवा परीक्षा में शीर्ष स्थान हासिल करने वाले पहले कश्मीरी बनने के बाद से सुर्खियों में रहे फैसल ने कश्मीर में लगातार लोगों के मारे जाने और भारतीय मुसलमानों को हाशिये पर डालने का विरोध करते हुए नौ जनवरी को भारतीय प्रशासनिक सेवा से इस्तीफा दे दिया था.
मलिक ने कहा, ‘जहां तक कश्मीरियों के प्रति उनकी भावना का सवाल है तो उन्हें इस क्षेत्र में तैनात किया जा सकता था ताकि वह गरीबी उन्मूलन और घाटी के युवाओं के लिए अवसर पैदा करने में पूर्ण सहयोग कर पाते.’

राज्यपाल ने कहा, ‘उन्हें (फैसल को) युवाओं की आकांक्षाएं जानने के लिए व उनकी समस्याओं और शिकायतों के निवारण के लिए नया मंच तैयार करने की कोशिश के वास्ते उनसे संवाद करना चाहिए.’

हालांकि, राज्यपाल ने कहा कि यह उनके लिए जरुरी नहीं है कि वह फैसल को इस बात का सुझाव दे कि उन्हें क्या करना चाहिए लेकिन उनकी शुभकामनाएं सदैव उनके साथ है. मलिक ने कहा कि यदि वह युवाओं की समस्याओं के हल के लिए उनसे मिलने आते हैं तो वह उनसे मिलना पसंद करेंगे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज