कोरोना वायरस के चलते क्या शाहीन बाग में खत्म होगा धरना? सुप्रीम कोर्ट में होगी सुनवाई

कोरोना वायरस के चलते क्या शाहीन बाग में खत्म होगा धरना? सुप्रीम कोर्ट में होगी सुनवाई
शाहीन बाग में प्रदर्शन

कोरोना वायरस (Coronavirus) के बढ़ते खतरे के मद्देनजर दिल्ली सरकार ने साफ कर दिया है कि किसी भी हालत में सार्वजनिक कार्यक्रमों में 50 से ज्यादा लोगों की मौजूदगी की अनुमति नहीं दी जाएगी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 20, 2020, 3:27 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. राजधानी दिल्ली के शाहीन बाग (Shaheen Bagh) में पिछले 3 महीने से नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के खिलाफ लगातार प्रदर्शन चल रहा है. लेकिन कोरोना वायरस के बढ़ते खतरे को देखते हुए इसे हटाने की मांग की गई है. सुप्रीम कोर्ट में इसको लेकर एक जनहित याचिका दायर की गई है. सुप्रीम कोर्ट इस मुद्दे पर सुनवाई के लिए तैयार हो गया है. कोर्ट ने कहा है कि 23 मार्च को इस पर सुनवाई होगी.

याचिका दायर करते हुए आशुतोष दुबे ने तर्क दिया है कि अगर इसे तुरंत नहीं हटाया गया तो कोरोना वायरस की चपेट में लाखों दिल्लीवासी आ सकते हैं. साथ ही उन्होंने अपनी याचिका में कहा है कि प्रदर्शनकारी कोरोना वायरस के खत्म होने के बाद वापस धरना प्रदर्शन के लिए लौट सकते हैं.

बातचीत बेनतीजा
इस मामले में पुलिस अधिकारियों ने प्रदर्शनकारी महिलाओं से इसके लिए बातचीत की पहल शुरू की, लेकिन ये बेनतीजा साबित हुई. दरअसल इन महिलाओं ने मंच पर आकर पुलिस से बात करने को कहा. इस मामले में सुप्रीम कोर्ट ने वार्ताकार नियुक्त किया था. इन वार्ताकारों ने अपनी रिपोर्ट शीर्ष अदालत को सौंप दी है. इन वार्ताकारों ने प्रदर्शनकारिय़ों से कहा था कि सुप्रीम कोर्ट ने माना है कि आपका प्रदर्शन करने का अधिकार संवैधानिक है.
क्या कहा दिल्ली के सीएम ने


पिछले दिनों कोरोना वायरस के बढ़ते खतरे के बीच दिल्ली के सीएम ने कहा था कि कहीं भी किसी भी हालत में 50 लोगों से ज्यादा लोगों को एक साथ इकट्ठा होने की इजाजत नहीं दी जाएगी, चाहे वो प्रदर्शन हो या कुछ और.

मांगी रिपोर्ट
राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग (एनसीपीसीआर) ने दक्षिण पूर्वी दिल्ली के जिला मजिस्ट्रेट को बुधवार को पत्र लिखकर कोरोना वायरस के खतरे के मद्देनजर शाहीन बाग प्रदर्शन स्थल पर लोगों के एकत्रित होने के संबंध में एक रिपोर्ट सौंपने को कहा है.

ये भी पढ़ें:-

कोरोना वायरस की पॉजिटिव महिला ने 1500 लोगों के साथ सत्संग में लिया था हिस्सा

अमेरिका में शर्मनाक है कोरोना वायरस के संक्रमण की जांच का तौर तरीका
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज