सुप्रीम कोर्ट कॉलेजियम ने दोबारा भेजा जस्टिस केएम जोसेफ का नाम

सुप्रीम कोर्ट कॉलेजियम ने दोबारा भेजा जस्टिस केएम जोसेफ का नाम
सुप्रीम कोर्ट ने गुजरात हाईकोर्ट के जस्टिस एम आर शाह को पटना हाईकोर्ट का मुख्य न्यायाधीश बनाने के लिए प्रस्तावित किया है.

सुप्रीम कोर्ट ने गुजरात हाईकोर्ट के जस्टिस एम आर शाह को पटना हाईकोर्ट का मुख्य न्यायाधीश बनाने के लिए प्रस्तावित किया है.

  • Share this:
सुप्रीम कोर्ट ने उत्तराखंड के जस्टिस के एम जोसेफ का नाम सुप्रीम कोर्ट के जज के तौर पर नियुक्त करने का प्रस्ताव दोबारा केंद्र को भेजा है. इसके अलावा सु्प्रीम कोर्ट ने कई राज्‍यों में उच्‍च न्‍यायालयों में जजों की नियुक्ति के लिए सरकार को प्रस्ताव भेजे हैं. सुप्रीम कोर्ट ने गुजरात हाईकोर्ट के जस्टिस एमआर शाह को पटना हाईकोर्ट का मुख्य न्यायाधीश बनाने के लिए प्रस्तावित किया है.

बता दें कॉलेजियम पहले भी केएम जोसेफ के नाम की सिफारिश कर चुका है लेकिन केंद्र सरकार ने उनके नाम को पुर्नविचार के लिए लौटा दिया था. कॉलेजियम ने सबसे पहले 10 जनवरी को केएम जोसेफ के नाम की सिफारिश की थी. इससे बाद 11 मई को हुई बैठक में भी कॉलेजियम ने इस पर सर्वसम्मति से केएम जोसेफ के नाम को दुबारा भेजने का फैसला लिया था लेकिन 16 मई को हुए बैठक में इस फैसले को स्थगित कर दिया था.

कॉलेजियम ने दिल्‍ली हाईकोर्ट की कार्यकारी चीफ जस्टिस गीता मित्‍तल को जम्‍मू-कश्‍मीर, कलकत्‍ता हाईकोर्ट के वरिष्‍ठ जज अनिरुद्ध बोस को झारखंड हाईकोर्ट, बॉम्‍बे हाईकोर्ट के जस्टिस वीके ताहिलरमानी को मद्रास हाईकोर्ट का चीफ जस्टिस नियुक्‍त किया है.



 



जानिए कौन हैं केएम जोसफ
जस्टिस जोसेफ ने उस पीठ की अगुवाई की थी जिसने वर्ष 2016 में उत्तराखंड में राष्ट्रपति शासन लगाने के नरेंद्र मोदी सरकार के फैसले को खारिज कर दिया था. तब राज्य में कांग्रेस की सरकार थी. जस्टिस जोसेफ केरल से आते हैं. जस्टिस जोसेफ जुलाई, 2014 से उत्तराखंड हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस हैं. वह इस साल जून में 60 साल के हो जाएंगे.

उन्हें 14 अक्तूबर , 2004 को केरल हाईकोर्ट में स्थायी जस्टिस नियुक्त किया गया था और उन्होंने 31 जुलाई , 2014 को उत्तराखंड हाईकोर्ट का प्रभार संभाला था. चीफ जस्टिस जस्टिस मिश्रा , जस्टिस जे चेलमेश्वर , जस्टिस रंजन गोगोई , जस्टिस बी लोकुर और जस्टिस कुरियन जोसेफ के कॉलेजियम ने जस्टिस के एम जोसेफ के नाम की सिफारिश सुप्रीम कोर्ट के जस्टिस के तौर पर की थी.

इसे भी पढ़ें-
भाषण खत्म होते ही राहुल गांधी ने पीएम को दी 'जादू की झप्पी'
बेरोज़गारी पर राहुल ने जो कहा वो कितना सच है?
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज