वर्चुअल सुनवाई में टी-शर्ट पहन आ गये वकील, सुप्रीम कोर्ट की हिदायत के बाद मांगी माफी

सुप्रीम कोर्ट (फाइल फोटो)
सुप्रीम कोर्ट (फाइल फोटो)

न्यायमूर्ति एस रवींद्र भट (Justice S Ravindra Bhat) ने ऐसा तब कहा कि जब अदालत (Court) में वीडियो सुनवाई (Video Hearing) के दौरान वकील पेश होते हैं, तो उन्हें प्रजेंटेबल होना चाहिए और उन दृश्यों को दिखाने से बचना चाहिए जो उचित नहीं हैं.

  • Share this:
नई दिल्ली. शीर्ष अदालत (Supreme Court) ने जोर देकर कहा है कि वीडियो सुनवाई (Video Hearing) के दौरान न्यूनतम अदालत शिष्टाचार (minimum court etiquette) का पालन जरूर किया जाना चाहिए. ऐसा कोर्ट ने तब कहा, जब एक सुनवाई के दौरान एक वकील (Advocate) टी-शर्ट (T-Shirt) पहने हुए बिस्तर पर लेटे दिखे.

न्यायमूर्ति एस रवींद्र भट (Justice S Ravindra Bhat) ने ऐसा तब कहा कि जब अदालत (Court) में वीडियो सुनवाई (Video Hearing) के दौरान वकील पेश होते हैं, तो उन्हें प्रजेंटेबल होना चाहिए और उन दृश्यों को दिखाने से बचना चाहिए जो उचित नहीं हैं और केवल उनके घरों में गोपनीयता (privacy) के दायरे में ही सहनीय हो सकते हैं.

सुप्रीम कोर्ट कोविड-19 महामारी के चलते वीडियो लिंक के माध्यम से सुनवाई कर रहा है
नाखुशी व्यक्त करते हुए, न्यायाधीश ने कहा कि एक वकील को सुनवाई की सार्वजनिक प्रकृति को देखते हुए ठीक से कपड़े पहनने चाहिए. सुप्रीम कोर्ट कोविड-19 महामारी (Covid-19 Pandemic) के कारण वीडियो लिंक के माध्यम से सुनवाई कर रहा है.
सुप्रीम कोर्ट ने कहा, "हम सभी कठिन दौर से गुजर रहे हैं और वर्चुअल अदालतों (Virtual Courts) में सुनवाई समय की जरूरत बन गई है. फिर भी, सभ्य कपड़े और पृष्ठभूमि के मामले में न्यूनतम अदालत शिष्टाचार का पालन किया जाना चाहिए. ऐसा सुनवाई की सार्वजनिक प्रकृति को देखते हुए करना चाहिए.“



वकील ने इसके बाद बिना शर्त मांगी माफी, सुप्रीम कोर्ट ने स्वीकार की
सुप्रीम कोर्ट मेंटिनेंस और क्रूरता के मामले में एक मामले का ट्रांसफर करने की मांग करने वाली याचिका पर सुनवाई कर रहा था, जो अतिरिक्त जिला और सत्र न्यायाधीश, प्रधान न्यायाधीश, परिवार न्यायालय, रेवाड़ी हरियाणा और बिहार की एक अन्य अदालत में लंबित थी.

वकील (Advocate) ने इसके बाद जज से बिना शर्त माफी मांगी, जिसे स्वीकार कर लिया गया.

यह भी पढ़ें: India China Face-off- भारत ने कहा- LAC पर चीन के अटपटे दावे नहीं माने जाएंगे
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज