• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • आधार: राहुल पर अमित शाह का कटाक्ष, कहा- 2014 की तरह ही है यह कांग्रेस की जीत

आधार: राहुल पर अमित शाह का कटाक्ष, कहा- 2014 की तरह ही है यह कांग्रेस की जीत

File Photo of BJP President Amit Shah

File Photo of BJP President Amit Shah

राहुल गांधी के ट्वीट को रीट्वीट करते हुए बीजेपी अध्यक्ष ने तंज कसा. उन्होंने कहा यह कांग्रेस की ठीक वैसी ही जीत है जैसी 2014 में हुई थी. '

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:
    बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने आधार को लेकर राहुल गांधी के बयान पर चुटकी लेते हुए बुधवार को कहा, ‘हां, कांग्रेस आज उसी तरह से जीत गई, जैसे कि उसने 2014 का लोकसभा चुनाव जीता था.’  दरअसल इससे पहले  कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने बुधवार को कहा कि उनकी पार्टी के लिए आधार सशक्तिकरण का माध्यम था और आज सुप्रीम कोर्ट ने अपने फैसले में कांग्रेस के इसी नजरिये का समर्थन किया है.

    राहुल गांधी के ट्वीट को रीट्वीट करते हुए बीजेपी अध्यक्ष ने तंज कसा. उन्होंने कहा यह कांग्रेस की ठीक वैसी ही जीत है जैसी 2014 में हुई थी. '

    अमित शाह ने कहा, 'यूपीए सरकार के दौरान आधार निराधार था और इसका कोई उद्देश्य नहीं था. यूपीए सरकार ने बिना किसी कानून या जांच पड़ताल के ही लोगों के आधार रजिस्ट्रेशन में हजारों करोड़ रुपये खर्च कर दिए. मोदी सरकार ने इसे कानूनी मजबूती दी और लोगों तक सरकारी सेवाओं का लाभ पहुंचाने का जरिया बनाया. इससे सरकारी खज़ाने में 90,000 करोड़ रुपये की बचत हुई और साथ ही वंचित तबकों को सरकारी योजनाओं का लाभ भी मिल सका.'



    शाह ने कहा, 'यूपीए सरकार के दौरान यह बिचौलिए और भ्रष्टाचार की जड़ था. इस वजह से कांग्रेस ने इसे राजनीतिक और कानूनी हर तरह से हराने की पूरी कोशिश की.'



    बीजेपी अध्यक्ष ने कहा, कांग्रेस ने निजता के हनन के नाम पर लोगों को भ्रमित करने की कोशिश की. आज वे हार गए हैं और जनता के सामने उनका चेहरा उजागर हो गया है.'



    बता दें कि सुप्रीम कोर्ट की पांच न्यायाधीशों की पीठ ने बुधवार को अपने फैसले में आधार को संवैधानिक रूप से वैध करार दिया है. हालांकि आधार के उपयोग और इसकी अनिवार्यता पर कोर्ट ने कुछ शर्तें भी रखी हैं. जस्टिस एके सीकरी ने सीजेआई दीपक मिश्रा, जस्टिस एएम खानविलकर और अपनी ओर से फैसला सुनाते हुये कहा कि आधार देश के हर नागरिक को एक अलग पहचान देता है. उन्होंने टिप्पणी की, 'यूनीक होना बेस्ट होने से बेहतर है.'



    सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि मोबाइल नंबर, बैंक एकाउंट के लिए आधार कार्ड की आवश्यकता नहीं है. सुप्रीम कोर्ट ने आधार अधिनियम की धारा 57 रद्द कर दी है. इसके बाद निजी कंपनियों के पास किसी भी व्यक्ति से उसका आधार मांगने का अधिकार नहीं होगा

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज