पुरुषों के साथ रेप को अपराध घोषित करने की मांग करने वाली याचिका को SC ने किया खारिज

चीफ जस्टिस रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली बेंच ने याचिका को खारिज करते हुए कहा कि कोर्ट इस चरण में इस याचिका की सुनवाई की इच्छुक नहीं है.

Utkarsh Anand | News18Hindi
Updated: November 12, 2018, 1:31 PM IST
पुरुषों के साथ रेप को अपराध घोषित करने की मांग करने वाली याचिका को SC ने किया खारिज
सुप्रीम कोर्ट (न्यूज 18 क्रिएटिव)
Utkarsh Anand | News18Hindi
Updated: November 12, 2018, 1:31 PM IST
सुप्रीम कोर्ट ने सोमवार को बलात्कार को लिंग-तटस्थ अपराध बनाने की मांग करने वाली एक याचिका को खारिज कर दिया. याचिका में पुरुषों के साथ होने वाले बलात्कार को अपराध घोषित करने की मांग की गई थी, शीर्ष अदालत ने पाया कि उसके लिए अभी यह मुद्दा महत्वपूर्ण नहीं है.

चीफ जस्टिस रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली बेंच ने याचिका को खारिज करते हुए कहा कि कोर्ट इस चरण में इस याचिका की सुनवाई की इच्छुक नहीं है.

इसके साथ ही कोर्ट ने कहा कि यह मुद्दा संसद के दायरे में आता है क्योंकि कानून बनाना अथवा अपराध की पहचान करना और दंड के लिए उपलब्ध कराना यह विधायिका के अंतर्गत आता है.

जब वकील ने याचिका वापस लेने की मांग की, जस्टिस गोगोई ने पाया कि उनका आदेश स्पष्ट था कि बेंच 'इस चरण में' याचिका पर सुनवाई के लिए तैयार नहीं थी लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि याचिका में कोई योग्यता नहीं थी अथवा भविष्य में इसपर सुनवाई नहीं हो सकती है.

बता दें कि इस याचिका को क्रिमिनल जस्टिस सोसाइटी ऑफ इंडिया की तरफ से दायर किया गया था. याचिका में रेप कानून में लैकुना का हवाला देते हुए कहा गया था कि यह पुरुषों और ट्रांसजेंडर के खिलाफ होने वाले रेप को अपराध के रूप में स्वीकार नहीं करता है.

ये भी पढ़ें: CJI ने कोर्ट के तरीकों पर उठाया सवाल, कहा- 'कोई भी आता है और फैसला लेकर जाता है'

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 12, 2018, 12:46 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...