• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • SC HEARING ON APPOINTMENT OF PRASHANT KISHORE AS ADVISOR TO CM AMARINDER SINGH

CM अमरिंदर सिंह के सलाहकार के तौर पर प्रशांत किशोर की नियुक्ति को लेकर SC में हुई सुनवाई

प्रशांत किशोर पहले भी पंजाब कांग्रेस के लिए काम कर चुके हैं (फाइल फोटो)

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा है कि उन्होंने चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर को अपने प्रमुख सलाहकार के तौर पर नियुक्त किया है. पंजाब सरकार की ओर से जारी आदेश में बताया गया कि प्रशांत किशोर अपनी सैलरी के तौर पर सिर्फ एक रुपया लेंगे.

  • Share this:
चंडीगढ़. चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर (Prashant Kishore) की मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह (Punjab CM Captain Amarinder Singh) के सलाहकार के तौर पर नियुक्ति को चुनौती देने के पंजाब हरियाणा हाईकोर्ट के फैसले को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी गई. सुप्रीम कोर्ट में जस्टिस संजय किशन कौल और जस्टिस हेमंत गुप्ता की बेंच ने मामले की सुनवाई मामले की. सुप्रीम कोर्ट ने पंजाब सरकार समेत सभी पक्षकारों को नोटिस जारी कर 4 हफ्ते में जवाब मांगा है.

सुप्रीम कोर्ट में याचिकाकर्ता की तरफ से पेश वकील ने दलील देते हुए यह कहा था कि पंजाब हरियाणा हाईकोर्ट ने इस मामले में उनके तथ्यों को ठीक से नहीं सुना और उनकी याचिका को खारिज कर दिया लिहाजा वह चाहते हैं कि सुप्रीम कोर्ट पंजाब हरियाणा हाईकोर्ट के आदेश की समीक्षा करें. दरअसल याचिका को पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट ने खारिज कर दिया था. हाईकोर्ट ने कहा था कि इस तरह की नियुक्ति पर जनहित याचिका दायर की ही नहीं जा सकती है.

ये भी पढ़ें- उत्तर भारत में कोरोना के ब्रिटिश वैरिएंट, जबकि महाराष्ट्र-कर्नाटक-गुजरात में 'डबल म्यूटेंट' ने मचाई है तबाही

क्या कहा था हाईकोर्ट ने
जस्टिस जसवंत सिंह एवं जस्टिस संत प्रकाश ने इस जनहित याचिका की सुनवाई करते हुए कहा था कि एक तो इस नियुक्ति को चुनौती देने वाले याचिकाकर्ता यह साबित नहीं कर पाए कि इस नियुक्ति से उनके अधिकारों पर क्या प्रभाव पड़ा. हाईकोर्ट ने कहा कि मुख्यमंत्री जनहित में अपने विवेक से किसी को भी सलाहकार नियुक्त कर सकते हैं. कोर्ट ने इस मामले में दखल देने से इनकार कर दिया था.

क्या दी गई है किशोर को सुविधाएं
गौरतलब है कि पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा है कि उन्होंने चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर को अपने प्रमुख सलाहकार के तौर पर नियुक्त किया है. पंजाब सरकार की ओर से जारी आदेश में बताया गया कि प्रशांत किशोर अपनी सैलरी के तौर पर सिर्फ एक रुपया लेंगे. इसके अलावा उन्हें प्राइवेट सेक्रेटरी, पर्सनल असिस्टेंट, डाटा एंट्री ऑपरेटर, एक क्लर्क और दो चपरासी दिए जाएंगे. इसके अलावा किशोर को राज्य ट्रांसपोर्ट कमिश्नर की ओर से वाहन मुहैया कराया जाएगा. इसके अलावा उनके आतिथ्य के लिए प्रति माह 5000 रुपये खर्च किए जाएंगे.

पहले भी रह चुके हैं पंजाब कांग्रेस के रणनीतिकार
किशोर ने वर्ष 2017 में पंजाब विधानसभा चुनाव के दौरान कांग्रेस के चुनाव अभियान की कमान संभाली थी. वर्तमान में किशोर की कंपनी, इंडियन पॉलिटिकल एक्शन कमेटी (आई-पीएसी) पश्चिम बंगाल चुनाव में ममता बनर्जी की पार्टी तृणमूल कांग्रेस की मदद कर रही है. किशोर ने वर्ष 2014 के आम चुनाव में नरेंद्र मोदी के प्रधानमंत्री पद के लिए अभियान की कमान संभाली थी.
Published by:Mahima Bharti
First published: