लाइव टीवी

रेलवे ने बताया कब जारी होगा 1 जून से चलने वाली ट्रेनों का शेड्यूल

News18Hindi
Updated: May 20, 2020, 3:22 PM IST
रेलवे ने बताया कब जारी होगा 1 जून से चलने वाली ट्रेनों का शेड्यूल
श्रमिक स्पेशल ट्रेनों के अलावा, भारतीय रेलवे 1 जून, 2020 से समय सारणी के साथ 200 नई ट्रेनें शुरू करने जा रहा है.

श्रमिक स्पेशल ट्रेनों के अलावा, भारतीय रेलवे 1 जून, 2020 से समय सारणी के साथ 200 नई ट्रेनें शुरू करने जा रहा है.

  • Share this:
नई दिल्ली. रेलवे (Indian Railway) ने खासतौर पर देश के छोटे कस्बों और शहरों में रहने वाले लोगों को बड़ी राहत देते हुए रोजाना 200 विशेष रेलगाड़ियां चलाने का फैसला किया है. यह घोषणा रेलवे ने मंगलवार को की. इन रेलगाड़ियों में गैर वातानुकूलित द्वितीय श्रेणी के डिब्बे होंगे और ये रोजाना चलेंगी. ये रेलगाड़ियां मौजूदा समय में प्रवासी श्रमिकों को उनके गृह प्रदेश पहुंचाने के लिए चलाई जा रही श्रमिक विशेष रेलगाड़ियों एवं राजधानी ट्रेन के रूट पर दिल्ली से 15 शहरों के लिए चलाई जा रही विशेष रेलगाड़ियों के अलावा होंगी.

रेलवे के कार्यकारी निदेशक आरडी बाजपेयी ने बताया कि रेलवे 1 जून से नॉन-एसी ट्रेनों की 100 जोड़ी (200 वापसी यात्रा) चलाएगा. इन ट्रेनों के लिए केवल ऑनलाइन टिकट बुकिंग उपलब्ध होगी. जल्द ही इन ट्रेनों का शेड्यूल जारी किया जाएगा. बताया कि कल (मंगलवार) 204 विशेष श्रमिक विशेष ट्रेनें चलाई गईं.

इन रेलगाड़ियों में सफर करने के लिए सभी श्रेणी के यात्रियों को ऑनलाइन टिकटों की बुकिंग कराने की अनुमति होगी. वहीं रेलमंत्री पीयूष गोयल ने ट्वीट किया, 'भारतीय रेलवे एक जून से समयसारिणी के अनुरूप रोजाना 200 गैर वातानुकूलित रेलगाड़ियों का परिचालन करेगा, जिनमें सफर करने के लिए टिकटों की ऑनलाइन बुकिंग जल्द शुरू होगी.'



इन 200 रेलगाड़ियों से प्रवासियों को भी मदद मिलेगी



रेलवे को अभी यह तय करना है कि ये रेलागाड़ियां किस रूट पर चलायी जाएंगी लेकिन अधिकारियों ने बताया कि यह छोटे कस्बों और शहरों के लिए हो सकती हैं. इससे पहले रेलवे ने 30 जून तक के लिए सभी नियमित यात्री रेलगाड़ियों को रद्द कर दिया था.

रेलवे ने कहा कि इन 200 रेलगाड़ियों को चलाने से उन प्रवासियों को भी मदद मिलेगी जो किसी कारण श्रमिक विशेष रेलगाड़ियों की सुविधा नहीं ले पा रहे हैं. रेलवे ने कहा, ' इस बात की कोशिश की जाएगी कि वे (प्रवासी) जहां पर हैं वहीं पर नजदीक के रेलवे स्टेशन से रेलगाड़ी में सवार हो सकें.' रेलवे ने राज्य सरकारों से भी उन प्रवासी कामगारों की पहचान करने और उनकी स्थिति का पता लगाने को कहा है जो पैदल ही अपने गृह प्रदेशों के लिए निकल पड़े हैं ताकि नजदीकी जिला मुख्यालय में उनका पंजीकरण कराकर नजदीकी रेलवे स्टेशन से रेलगाड़ियों के जरिये उन्हें आगे के सफर पर भेजा जा सके. राज्यों से इन यात्रियों की सूची भी रेलवे प्रशासन को मुहैया कराने को कहा गया है ताकि श्रमिक विशेष रेलगाड़ियों से उन्हें आगे की यात्रा पर भेजा जा सके.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: May 20, 2020, 2:42 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading