स्कूल-कॉलेज 21 सितंबर से खुलेंगे, लेकिन नियमित कक्षाएं नहीं होंगी: कर्नाटक शिक्षा मंत्री

Unlock- 4.0 में नौवीं से 12वीं कक्षा तक के छात्रों के लिए कुछ छूट दी गई है.
Unlock- 4.0 में नौवीं से 12वीं कक्षा तक के छात्रों के लिए कुछ छूट दी गई है.

Unlock-4: केंद्र सरकार द्वारा अनलॉक-4 (Unlock-4) के लिए जारी की गई गाइडलाइंस के अनुसार स्कूल, कॉलेज और अन्य शैक्षणिक संस्थान 30 सितंबर तक बंद रहेंगे. हालांकि नौवीं से 12वीं कक्षा तक के छात्रों के लिए कुछ छूट दी गई है.

  • भाषा
  • Last Updated: September 18, 2020, 10:42 PM IST
  • Share this:
मैसुरु. कर्नाटक (Karnataka) में स्कूल और प्री-यूनिवर्सिटी कॉलेज (Schools & Pre-University Colleges) 21 सितंबर से खुलेंगे लेकिन नियमित कक्षाएं (Regular Classes) नहीं होंगी बल्कि छात्र अपनी पढ़ाई से संबंधित दुविधाओं को दूर करने के लिए स्कूल आकर शिक्षकों से मिल सकें. कर्नाटक (Karnataka) के प्राथमिक और माध्यमिक शिक्षा मंत्री एस सुरेश कुमार (Secondary Education Minister S Suresh Kumar) ने शुक्रवार को यह जानकारी दी. उन्होंने कहा कि सरकार नियमित कक्षाओं को फिर से शुरू करने के लिए केंद्र की मंजूरी का इंतजार कर रही है.

शिक्षा मंत्री ने संवाददाताओं से कहा, “21 सितंबर से, कक्षा नौ से 12वीं तक के शिक्षक, अपने विषय से संबंधित छात्रों की दुविधाओं को दूर करने के लिए स्कूल में उपस्थित होंगे. यह नियमित कक्षाओं जैसा नहीं होगा.” वह केंद्रीय पुस्तकालय का उद्घाटन करने के लिए जिला प्रभारी मंत्री एस टी सोमशेखर के साथ मैसूरु में थे. नियमित कक्षाओं को फिर से शुरू करने पर के सवालों के जवाब में, कुमार ने कहा 'किसी भी परिस्थिति में, नियमित कक्षाएं शुरू नहीं होंगी. हम नियमित कक्षाओं को फिर से शुरू करने के लिए केंद्र से हरी झंडी का इंतजार कर रहे हैं.'

ये भी पढ़ें- क्या है MSP, जिसके लिए मोदी सरकार के खिलाफ सड़क पर उतर गए किसान?




केंद्र ने अनलॉक-4 के लिए जारी की थीं ये गाइडलाइंस
बता दें केंद्र सरकार द्वारा अनलॉक-4 (Unlock-4) के लिए जारी की गई गाइडलाइंस के अनुसार स्कूल, कॉलेज और अन्य शैक्षणिक संस्थान 30 सितंबर तक बंद रहेंगे. हालांकि नौवीं से 12वीं कक्षा तक के छात्रों के लिए कुछ छूट दी गई है. गृह मंत्रालय ने बताया कि राज्यों और केन्द्र शासित प्रदेशों से व्यापक चर्चा के बाद यह निर्णय लिया गया है कि 30 सितंबर तक छात्रों और नियमित कक्षा गतिविधि के लिए स्कूल, कॉलेज, शैक्षणिक और कोचिंग संस्थान बंद रहेंगे.

मंत्रालय ने कहा कि राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में 50 प्रतिशत तक शिक्षण, गैर-शिक्षण कर्मचारियों को ऑनलाइन शिक्षण, टेली-काउंसलिंग से संबंधित कार्य के लिए स्कूलों में बुलाया जा सकता है.

ये भी पढ़ें- राजस्थान के एलन परिवार की बड़ी कामयाबी, Forbes India की इस लिस्ट में हुए शामिल

दिशा-निर्देशों के अनुसार कंटेनमेंट क्षेत्र के बाहर स्थित स्कूलों में नौवीं कक्षा से 12वीं कक्षा तक के छात्रों को अपने शिक्षकों से मार्गदर्शन लेने के लिए स्वैच्छिक आधार पर स्कूल जाने की अनुमति दी जा सकती है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज