लाइव टीवी

स्कूल प्ले में 'देशद्रोह': जेल में बंद मां का इंतजार कर रहा मासूम, पुलिस ने चप्पल भी किए जब्त

News18Hindi
Updated: February 4, 2020, 2:57 PM IST
स्कूल प्ले में 'देशद्रोह': जेल में बंद मां का इंतजार कर रहा मासूम, पुलिस ने चप्पल भी किए जब्त
पुलिस ने इस मामले में एक बार से स्कूली बच्चों से पूछताछ की है. (फाइल)

कर्नाटक पुलिस ने बीदर के एक स्कूल में CAA के खिलाफ किए गए नाटक के 'देशविरोधी' होने के शक में उन चप्पलों को भी जब्त कर लिया है, जिन्हें नाटक में दिखाकर कहा गया था ‘जूते मारेंगे.’

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 4, 2020, 2:57 PM IST
  • Share this:
बीदर. कर्नाटक पुलिस पिछले छह दिनों में बीदर के शाहीन प्राइमरी और हाई स्कूल (Shaheen Primary School) में पढ़ने वाले बच्चों से तीन बार पूछताछ कर चुकी है. गुरुवार को एक छात्र की मां और स्कूल की प्रिसिंपल को CAA के विरोध में एक नाटक (Play) के लिए देशद्रोह के आरोप में गिरफ्तार किया गया था. पुलिस ने इस मामले में उन चप्पलों को भी जब्त कर लिया है, जिन्हें नाटक में दिखाकर कहा गया था ‘जूते मारेंगे.’

द इंडियन एक्सप्रेस की खबर के मुताबिक, मासूम छात्र की मां नजमुन्निसा के अलावा पुलिस ने स्कूल की प्रिसिंपल फरीदा बेगम को भी देशद्रोह के आरोप में पकड़ा है. देशद्रोह का केस दर्ज होने के बाद पुलिस लगातार स्कूल में आकर छात्रों से पूछताछ कर रही है. पुलिस पूछताछ के दौरान बच्चों के माता-पिता को भी स्कूल आना पड़ रहा है. वहीं, रिपोर्ट में बताया गया कि पुलिस ने उन चप्पलों को भी जब्त कर लिया है, जिन्हें स्कूल में CAA के विरोध में नाटक के दौरान छात्रा ने कहा था कि ‘जूते मारेंगे.’ पुलिस ने इन्हें सबूत के तौर जब्त किया है.

9 साल का बेटा कर रहा इंतजार
वहीं. नजमुन्निसा का 9 साल का बेटा अपनी मां के जेल से आने का रोज इंतजार कर रहा है. मासूम से जब पूछा गया कि उसकी मां कहां हैं तो वह फूटकर रोने लगा. इसी बीच बीदर जिला जेल में बंद 35 वर्षीय नजमुन्निसा कहती हैं कि उन्होंने सीएए या एनआरसी के बारे में बहुत कम जानकारी है. उन्हें सिर्फ इतना पता है कि उन्होंने एक इस कानून के बारे में टीवी पर सुना था, जबकि एक बार किसी के मोबाइल में सुना था. हालांकि उनके फोन में वॉट्सऐप नहीं है.

स्कूल में हुआ था CAA के खिलाफ प्ले
बता दें कि पुलिस 21 जनवरी को बीदर के शाहीन प्राइमरी और हाई स्कूल में सीएए के खिलाफ बच्चों ने एक नाटक किया था. इसके लेकर एक शिकायतकर्ता (Complainant) ने कहा था कि नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के विरोध में किए गए नाटक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) को 'अपमानित' किया गया और यह समाज में शांति को भंग करने वाला प्ले था.

ये भी पढ़ें-गोवा के डिप्टी सीएम का विवादित बयान, कहा- आंबेडकर बनाना चाहते थे 'दलितस्तान'

प्रेसीडेंसी यूनिवर्सिटी की VC को प्रदर्शनकारी छात्रों ने किया चैंबर में कैद

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 4, 2020, 11:36 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर