लाइव टीवी

J&K: BDC चुनाव से पहले आतंकियों ने स्कूल में लगाई आग, सब्जी मंडी में फेंके पेट्रोल बम

News18Hindi
Updated: October 23, 2019, 1:48 PM IST
J&K: BDC चुनाव से पहले आतंकियों ने स्कूल में लगाई आग, सब्जी मंडी में फेंके पेट्रोल बम
जम्मू-कश्मीर में आतंकियों ने एक स्कूल में लगाई आग

जम्मू-कश्मीर (Jammu Kashmir) के मुख्य निर्वाचन अधिकारी शैलेंद्र कुमार ने कहा था कि 26,629 पंच और सरपंच बीडीसी (BDC) अध्यक्ष पद के लिए मतदान और चुनाव लड़ने के योग्य हैं. इनमें से 8,313 महिलाएं और 18,316 पुरुष हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 23, 2019, 1:48 PM IST
  • Share this:
श्रीनगर. जम्मू-कश्मीर (Jammu Kashmir) में 24 अक्टबूर को होने वाले ब्लॉक डेवलपमेंट काउंसिल के चुनाव से पहले आतंकावदियों (Terrorist) ने मंगलवार देर रात श्रीनगर (Srinagar) के कुलगाम में एक स्कूल और जनरल स्टोर में आग लगा दी. पुलवामा में एक ट्रक को भी जला दिया गया, वहीं श्रीनगर की सब्जी मंडी में पेट्रोल बम फेंके गए. हालांकि इन घटनाओं में कोई हताहत नहीं हुआ. पुलिस ने मामला दर्ज कर आतंकियों की तलाश शुरू कर दी है.

कश्मीर में बीडीसी (BDC) चुनाव से ठीक एक दिन पहले यह घटना सामने आई है. बता दें 5 अगस्त को जम्मू-कश्मीर (Jammu Kashmir) से अनुच्छेद 370 (Article 370) के अधिकतर प्रावधानों को हटा दिया गया था. इसके साथ ही जम्मू-कश्मीर और लद्दाख को दो केंद्र शासित प्रदेशों में बांट दिया गया था. पंचायती राज व्यवस्था के दूसरे चरण के चुनाव की प्रक्रिया 5 नवंबर तक पूरी हो जाएगी.

मैंदान में 26 हजार से ज्यादा उम्मीदवार
जम्मू-कश्मीर के मुख्य निर्वाचन अधिकारी शैलेंद्र कुमार ने कहा था कि 26,629 पंच और सरपंच बीडीसी अध्यक्ष पद के लिए मतदान और चुनाव लड़ने के योग्य हैं. इनमें से 8,313 महिलाएं और 18,316 पुरुष हैं. चुनाव बैलेट बॉक्स के माध्यम से होंगे, जो पहले ही संबंधित मुख्यालयों में भेज दिए गए हैं. पंच और सरपंचों के पदों में से करीब 24 फीसदी (12,766) कई कारणों से खाली हैं.

कांग्रेस ने चुनाव का किया विरोध
कांग्रेस ने अपने नेताओं की नजरबंदी और राज्य प्रशासन के उदासीन रवैये के कारण चुनावों का बहिष्कार करने का फैसला किया है. कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष गुलाम अहमद मीर ने कहा कि पूर्ववर्ती राज्य पर कोई भी निर्णय लेने से पहले हितधारकों पर ध्यान नहीं दिया गया था. कांग्रेस लोकतांत्रिक संस्थानों को मजबूत करने में विश्वास करती है और यह कभी भी किसी भी चुनाव से दूर नहीं हुआ है. लेकिन आज, हम राज्य प्रशासन के उदासीन रवैये और राज्य में प्रमुख पार्टी (कांग्रेस) के निरंतर नजरबंदी के कारण बीडीसी चुनावों का बहिष्कार करने के लिए मजबूर हैं.

कब होगा बीडीसी चुनाव
Loading...

बता दें जम्मू-कश्मीर में 5 अगस्त को अनुच्छेद 370 को खत्म किए जाने के बाद से कई नेताओं को नजरबंद कर दिया गया था. घाटी में 24 अक्टूबर को बीडीसी के चुनाव होने वाले हैं. सरपंच अपने इलाके के BDC को चुनते हैं. इससे पहले पीडीपी और नेशनल कॉन्फ्रेंस भी चुनाव का बहिष्कार कर चुके हैं. चुनाव में अब बीजेपी-पैंथर्स और निर्दलीय ही बचे हैं.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 23, 2019, 1:12 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...