Home /News /nation /

Schoolgirls Suicide: मद्रास हाईकोर्ट का बड़ा फैसला, छात्रा की खुदकुशी मामले की जांच अब CBI करेगी

Schoolgirls Suicide: मद्रास हाईकोर्ट का बड़ा फैसला, छात्रा की खुदकुशी मामले की जांच अब CBI करेगी

अब इस मामले की जांच सीबीआई करेगी.(फाइल फोटो)

अब इस मामले की जांच सीबीआई करेगी.(फाइल फोटो)

Madras High Court News, Schoolgirls Suicide Case: छात्रा ने वीडियो में कहा कि हॉस्टल में उसे लगातार डाटा जाता था और उससे हॉस्टल के सभी कमरों को साफ करने के लिए भी कहा जाता था. इतना ही नहीं छात्रा ने आरोप लगाया कि उसे लगातार ईसाई धर्म अपनाने के लिए भी मजबूर किया गया. इन सब घटनाओं के परेशान होकर छात्रा ने खुदकुशी करने के कोशिश की और इसके लिए उसने कीटनाशक खा लिया.

अधिक पढ़ें ...

नई दिल्ली: मद्रास हाईकोर्ट (Madras High Court) ने सोमवार को तमिलनाडु में स्कूल छात्रा के आत्महत्या (Tamil Nadu Girl Suicide) मामले की जांच सीबीआई से कराने के आदेश दिए हैं. 12वीं कक्षा की 17 वर्षीय छात्रा ने 9 जनवरी को आत्महत्या (Schoolgirls Suicide) का प्रयास किया था और बाद में उसकी मौत हो गई है. मद्रास हाईकोर्ट की मदुरै बेंच ने अब इस मामले को सीबीआई (CBI) को सौंपने के आदेश दे दिए हैं. इससे पहले कोर्ट ने इस मामले पर 28 जनवरी को सुनवाई पूरी करते हुए इस पर अपना फैसला सुरक्षित रख लिया था.

दरअसल तमिलनाडु के तंजावुर जिले के एक मिशनरी स्कूल में पढ़ती थी. छात्रा ने 9 जनवरी को जहर खाकर आत्महत्या का प्रयाक किया था. इसके दस दिन बाद 19 जनवरी को उसकी मौत हो गई थी. छात्रा की मौत के बाद एक वीडियो सामने आया था जिसमें उसने दावा किया था कि स्कूल प्रबंधन ने जबरन उसका धर्म परिवर्तन कराया था.

यह भी पढ़े- Budget 2022 : कल बजट में जीएसटी को लेकर ये बड़ी घोषणा कर सकती हैं वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण

छात्रा ने वीडियो में कहा कि हॉस्टल में उसे लगातार डाटा जाता था और उससे हॉस्टल के सभी कमरों को साफ करने के लिए भी कहा जाता था. इतना ही नहीं छात्रा ने आरोप लगाया कि उसे लगातार ईसाई धर्म अपनाने के लिए भी मजबूर किया गया. इन सब घटनाओं के परेशान होकर छात्रा ने खुदकुशी करने के कोशिश की और इसके लिए उसने कीटनाशक खा लिया.

छात्रा का नाम लावण्या है और उसके पिता मुरुगनंदम तंजावुर के अरियालुर के रहने वाले हैं. उन्हें 10 जनवरी को सूचना दी गई थी कि उनकी बेटी को 9 जनवरी को पेट में तेज दर्द की शिकायत के बाद अस्पताल में भर्ती कराया गया था. सूचना मिलने के बाद मुरुगनंदम ने लावण्या को तंजौर के मेडिकल कॉलेज में भर्ती करा दिया गया. जब लावण्या को होश आया तो उसने डॉक्टर्स को अपनी पीड़ा और आत्महत्या की जानकारी दी.

डॉक्टर्स ने पूरी घटना की जानकारी पुलिस को दे दी. पुलिस लावण्या से पूछताछ करने अस्पताल पहुंची. पूछताछ में पुलिस को पता चला की लावण्या को काफी प्रताड़ित किया गया है और उसे धर्म बदने के लिए भी मजबूर किया गया है. शिकायत के आधार पर पुलिस ने वार्डन सकायामारी को गिरफ्तार कर लिया है. बुधवार की रात को ठीक तरह से इलाज नहीं होने से लावण्या की मौत हो गई.

Tags: Madras high court, Suicide

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर