होम /न्यूज /राष्ट्र /जम्मू-कश्मीर में 31 दिसंबर तक बंद रहेंगे शिक्षण संस्थान, 50 फीसदी क्षमता के साथ खुलेंगे सिनेमा हॉल

जम्मू-कश्मीर में 31 दिसंबर तक बंद रहेंगे शिक्षण संस्थान, 50 फीसदी क्षमता के साथ खुलेंगे सिनेमा हॉल

सैनेटाइजर: कोरोना महामारी (Corona Epidemic) से में इस साल सैनेटाइजर दूसरे नम्बर पर रहा. WHO और कई अन्य हेल्थ websites के अनुसार, अल्कोहल युक्त सैनेटाइजर से हाथ साथ करने से कोरोना वायरस का प्रभाव काफी कुछ निष्क्रिय हो जाता है. यही वजह है कि बाहर से घर आने के बाद कुछ लोग जहां सीधे सैनेटाइजर की तरफ लपकते हैं तो वहीं कुछ साथ में हैण्ड सैनेटाइजर लेकर भी घूमते हैं ताकि हर समय कोरोना से बचाव किया जा सके.

सैनेटाइजर: कोरोना महामारी (Corona Epidemic) से में इस साल सैनेटाइजर दूसरे नम्बर पर रहा. WHO और कई अन्य हेल्थ websites के अनुसार, अल्कोहल युक्त सैनेटाइजर से हाथ साथ करने से कोरोना वायरस का प्रभाव काफी कुछ निष्क्रिय हो जाता है. यही वजह है कि बाहर से घर आने के बाद कुछ लोग जहां सीधे सैनेटाइजर की तरफ लपकते हैं तो वहीं कुछ साथ में हैण्ड सैनेटाइजर लेकर भी घूमते हैं ताकि हर समय कोरोना से बचाव किया जा सके.

जम्मू-कश्मीर प्रशासन (Jammu and Kashmir Administration) ने रविवार की देर शाम दिशा निर्देश जारी करते हुए कहा कि बाहर से ...अधिक पढ़ें

    श्रीनगर. केंद्रशासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर प्रशासन (Jammu and Kashmir Administration) ने 31 दिसंबर तक सभी स्कूलों, कॉलेजों और उच्च शिक्षण संस्थानों को 31 दिसंबर तक बंद रखने का आदेश किया है. कक्षा नौवीं और बारहवीं के छात्र अपनी स्वेच्छा से स्कूल जा सकते हैं.

    रविवार की देर शाम जम्मू-कश्मीर प्रशासन की ओर से जारी निर्देशों के मुताबिक सिनेमाघर (Cinema Hall) 50 प्रतिशत क्षमता के साथ खोले जा सकते हैं. शादियों में सिर्फ 100 मेहमानों को बुलाने की इजाजत दी गई है.

    हालांकि राज्य में धार्मिक स्थान सार्वजनिक रूप से खुले रहेंगे, लेकिन नियम-कायदों का पालन करना होगा. सड़क, रेल और हवाई मार्ग से यात्रा करने वाले यात्रियों की एंट्री पर किसी भी तरह का बैन नहीं रहेगा. हालांकि बाहर से आने वाले लोगों को अनिवार्य कोविड एंटीजन टेस्ट कराना होगा.

    जम्मू-कश्मीर में कोरोना वायरस संक्रमण (Coronavirus) के मामलों की बात करें तो राज्य में एक्टिव केस की संख्या 5112 है, जबकि 1 लाख से ज्यादा लोग इलाज पाकर संक्रमण से उबर चुके हैं. राज्यों में वायरस संक्रमण के चलते मरने की वालों की संख्या 1680 है.

    पढ़ेंः कोरोना पर SC सख्‍त, कहा- हालात बद से बदतर, राजनीति से ऊपर उठें राज्य

    केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय से मिली जानकारी के मुताबिक, देश में पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस संक्रमण से हुई कुल 496 मौतों में से 71 प्रतिशत मौत के मामले आठ राज्यों और केन्द्र शासित क्षेत्रों से हैं.

    पढ़ेंः ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी की Corona वैक्सीन के ट्रायल पर चाहिए और डाटा: WHO

    मंत्रालय ने रविवार को बताया कि संक्रमण से दिल्ली में 89, महाराष्ट्र में 88 और पश्चिम बंगाल में 52 लोगों की मौत हुई. मंत्रालय ने कहा कि 22 राज्यों और केंद्र शासित क्षेत्रों में संक्रमण से मौत की दर, राष्ट्रीय औसत दर 1.46 प्रतिशत से कम रही. देश में संक्रमण के 4,53,956 एक्टिव मामले हैं, जो संक्रमण के अब तक के कुल मामलों का 4.83 प्रतिशत हैं.

    केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय (Health Ministry) के रविवार सुबह आठ बजे के आंकड़ों के अनुसार, देश में कोरोना वायरस संक्रमण के 41,810 नए मामले सामने आने के बाद संक्रमित लोगों की कुल संख्या बढ़कर 93,92,919 हो गई है. 496 और लोगों की मौत के बाद मृतकों की संख्या बढ़कर 1,36,696 हो गई है.

    मंत्रालय के अनुसार प्रतिदिन सामने आ रहे कुल मामलों के 70.43 प्रतिशत मामले आठ राज्यों और केन्द्र शासित क्षेत्रों केरल, महाराष्ट्र, दिल्ली, पश्चिम बंगाल, राजस्थान उत्तर प्रदेश, हरियाणा और छत्तीसगढ़ से हैं. केरल में 6,250 ,महाराष्ट्र में 5,965 और दिल्ली में संक्रमण के 4,998 नए मामले सामने आए हैं.

    Tags: Coronavirus, COVID 19, Jammu kashmir

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें