वैज्ञानिकों ने किया दावा, तापमान में नमी कम होने से बढ़ सकता है कोरोना वायरस

वैज्ञानिकों ने किया दावा, तापमान में नमी कम होने से बढ़ सकता है कोरोना वायरस
देश में अब तक दो लाख से ज्‍यादा लोग कोरोना वायरस की सपेट में आ चुके हैं. इनमें एक लाख से ज्‍यादा लोग इलाज के बाद ठीक हो गए हैं.

सिडनी के वैज्ञानिकों ने कोरोना वायरस (Coronavirus) के 749 मरीजों पर रिसर्च कर दावा किया कि तापमान में नमी कम होने से संक्रमण का खतरा और अधिक बढ़ सकता है.

  • Share this:
नई दिल्ली. दुनिया में फैले कोरोना संक्रमण (Coronavirus) को लेकर आए दिन नए-नए दावे किए जा रहे हैं. लेकिन अभी तक ना तो इसकी कोई वैक्सीन बनी है और ना ही कोई सटीक दवा की खोज हो पाई है. सिडनी यूनिवर्सिटी और शंघाई की फूडान यूनिवर्सिटी ऑफ पब्लिक हेल्थ ने एक रिसर्च में दावा किया है कि तापमान में जैसे-जैसे नमी कम होती जाएगी संक्रमण का खतरा उतना ही अधिक बढ़ जाएगा. उनका कहना है कि कोविड-19 सर्दियों की मौसमी बीमारी बन सकता है.

749 मरीजों पर किया रिसर्च
सिडनी में कोरोना के 749 मरीजों पर रिसर्च कर ये दावा किया गया है. यह रिसर्च 26 फरवरी से 31 मार्च तक की गई जिसमें बारिश, नमी और जनवरी से मार्च के तापमान के आंकड़े एकत्र किए गए थे. महामारी विशेषज्ञों ने मौसम और संक्रमण के अन्य पैरामीटर्स पर जब यह रिसर्च कर कहा कि संक्रमण फैलने में नमी अहम रोल अदा करती सकती है.

कम नमी से बढेगा संक्रमण



सिडनी यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर माइकल वार्ड के अनुसार, सर्दियों से भी ज्यादा अहम है कम नमी वाला तापमान. उन्होंने कहा, नमी घटने पर वायरस के कण भी हल्के और छोटे हो जाते हैं. इसलिए संक्रमण का खतरा बढ़ जाता है. चीन, यूरोप, उत्तरी अमेरिका में यह महामारी सर्दियों के दिनों में फैली.



ये भी पढ़ें : खुलासा! चीन से WHO भी हुआ परेशान, नहीं साझा कर रहा है कोरोना से जुड़ा डेटा

नमी कम होने से वायरस के कण छोट हो जाते हैं
शोधकर्ताओं ने दावा किया है नमी घटती है और हवा शुष्क होती है तो वायरस के कण और छोटे और हलके होने लगते हैं. इसी कारण वो वातावरण में लंबे समय तक बने रह सकते हैं. इस दौरान किसी के छींकने या खांसने पर ये हवा में मिल जाते हैं. वहीं, जब हवा में नमी बढ़ती है तो ये कण बड़े और भारी होने के कारण नीचे गिर जाते हैं.

मंगलवार को भी दुनिया भर में कोरोना संक्रमण के मामलों में तेजी बनी रही और कुल 1,10,000 से ज्यादा नए केस सामने आए हैं. इसके बाद कुल मामलों की संख्या बढ़कर अब 64,74,000 से भी ज्यादा हो गई है. बीते 24 घंटे में संक्रमण से दुनियाभर में 4500 से ज्यादा मौतें हुईं हैं और कुल मौतों का आंकड़ा बढ़कर अब 3,81,700 से भी ज्यादा हो गया है.

 

ये भी पढ़ें : Covid-19: सबसे ज्यादा प्रभावित 100 देशों में से 60 का रिकवरी रेट भारत से बेहतर
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading