• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • SCO की बैठक में शामिल होंगे रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, चीन-पाक से द्विपक्षीय मुलाकात तय नहीं

SCO की बैठक में शामिल होंगे रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, चीन-पाक से द्विपक्षीय मुलाकात तय नहीं

SCO की पिछली बैठक में राजनाथ सिंह ने LAC के हालात पर चीन को सख्त जवाब दिया था. (फाइल फोटो)

SCO की पिछली बैठक में राजनाथ सिंह ने LAC के हालात पर चीन को सख्त जवाब दिया था. (फाइल फोटो)

SCO Summit India China: पिछले साल मॉस्को में शंघाई कोऑपरेशन ऑर्गेनाइजेशन (SCO) की बैठक के दौरान भारत और चीन के रक्षा मंत्रियों की मुलाकात हुई थी.

  • Share this:

नई दिल्ली. रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह मंगलवार दोपहर ताजिकिस्तान की राजधानी दुशांबे के लिए रवाना होंगे. दुशांबे में राजनाथ सिंह शंघाई कोऑपरेशन ऑर्गेनाइजेशन यानी SCO के रक्षा मंत्रियों की बैठक में शिरकत करेंगे. आपको बता दें कि भारत, चीन और पाकिस्तान भी एससीओ के सदस्य देशों में शामिल है.


इस बैठक में पाकिस्तान के रक्षा मंत्री परवेज़ खटक और चीन के रक्षा मंत्री वेई फेंघे भी हिस्सा ले रहे हैं. बैठक के साइडलाइन पर किसी द्विपक्षीय मुलाकात को लेकर अभी पुष्टि नहीं हुई है. हालांकि इस बैठक के दौरान भारत, चीन और पाकिस्तान के रक्षा मंत्री एक ही कमरे में मौजूद रहेंगे.


भारत-चीन रक्षा मंत्रियों की मुलाकात संभव, लेकिन तय नहीं
हालांकि रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और उनके चीन के समक्ष के बीच द्विपक्षीय मुलाकात तय नहीं है, लेकिन इससे इनकार भी नहीं किया जा रहा. आपको याद दिला दें कि पिछले साल मॉस्को में शंघाई  कोऑपरेशन ऑर्गेनाइजेशन- SCO की बैठक के दौरान भारत और चीन के रक्षा मंत्रियों की मुलाकात हुई थी. यह मुलाकात LAC पर चीन की दादागिरी के चलते काफी महत्वपूर्ण थी. पिछले साल ही जून में गलवान में भारत और चीनी सैनिकों के बीच खूनी संघर्ष हुआ था.


रूस में हुई बैठक के दौरान रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने चीन से दो टूक कहा था कि सीमा पर चीनी सैनिकों का बर्ताव आक्रमक रहता है, जबकि भारतीय जवान हमेशा संयमित रहते हैं. राजनाथ सिंह ने कहा था कि संप्रभुता और सीमाओं की रक्षा से भारत समझौता नहीं करेगा. ऐसे में विवाद बढ़ाने वाले कदम ना उठाएं.




जुलाई में हुई भारत-चीन विदेश मंत्रियों की मुलाकात
SCO के सदस्य देशों के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकारों और विदेश मंत्रियों की बैठक पिछले 2 महीने में दो बार हो चुकी है. इस महीने की शुरुआत में ही भारत और चीन के विदेश मंत्रियों की मुलाकात शंघाई कोऑपरेशन ऑर्गेनाइजेशन की बैठक के दौरान ही हुई थी. इस बैठक में भारत ने चीन से स्पष्ट रूप में कह दिया था कि सीमा पर यथास्थिति का एकतरफा परिवर्तन स्वीकार नहीं है और पूर्वी लद्दाख में LAC के साथ शेष मुद्दों को जल्द से जल्द हल करने की जरूरत है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज