पद से हटने के बाद UK में घुसने न पाएं डोनाल्ड ट्रंप: स्कॉटलैंड के मंत्री की मांग

20 जनवरी के बाद जेल जा सकते हैं ट्रंप.  (फ़ाइल फोटो)

20 जनवरी के बाद जेल जा सकते हैं ट्रंप. (फ़ाइल फोटो)

स्कॉटलैंड के कानून मंत्री हमजा यूसुफ (Humza Yousaf) ने ब्रिटिश गृहमंत्री प्रीति पटेल (Priti Patel) से आग्रह किया है कि डोनाल्ड ट्रंप को पद से हटने के बाद यूनाइटेड किंगडम में न घुसने दिया जाए. इससे पहले स्कॉटलैंड सरकार की मुखिया निकोला स्टरजियॉन भी ट्रंप को लेकर नाराजगी जाहिर कर चुकी हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 8, 2021, 5:58 PM IST
  • Share this:
लंदन. अमेरिका की राजधानी वाशिंगटन (Washington D.C) में हुए शर्मनाक बवाल के बाद स्कॉटलैंड के कानून मंत्री हमजा युसूफ (Humza Yousaf) ने यूनाइटेड किंगडम में डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) की एंट्री बैन करने की मांग की है. उन्होंने ब्रिटेन की गृहमंत्री प्रीति पटेल से मांग की है कि एक बार डोनाल्ड ट्रंप अपने पद से हट जाएं फिर उन्हें यूनाइटेड किंगडम में नहीं घुसने देना चाहिए.

हमजा यूसुफ ने लिखा है-एक बार ट्रंप अपना दफ्तर छोड़ देते हैं फिर अगर वो यूके आना चाहें तो गृहमंत्री को उन्हें एंट्री न देने पर गंभीरता से विचार करना चाहिए. अगर आवेदनकर्ता की मौजूदगी आम लोगों के हित में नहीं है तो गृह मंत्री के पास ऐसे अधिकार हैं. ट्रंप लगातार नस्लीय भेदभाव को बढ़ावा देते रहे हैं और अब उन्होंने हिंसक भीड़ को उकसाया है.



इससे पहले ऐसी खबरें आई थीं कि डोनाल्ड ट्रंप 20 जनवरी को जो बाइडन के शपथ ग्रहण कार्यक्रम में शामिल न होकर स्कॉटलैंड जाएंगे. लेकिन इसे लेकर भी स्कॉटलैंड सरकार की मुखिया निकोला स्टरजियॉन कह चुकी हैं-'गोल्फ खेलने के लिए हमारे देश आने को मैं किसी गंभीर काम से जोड़कर नहीं देखती.' स्टरजियॉन के बयान की बेरुखी देखकर भी अंदाजा लगाया जा रहा था कि वो ट्रंप को न आने देने की इच्छुक हैं.
Youtube Video


अब वाशिंगटन में हुए उपद्रव के बाद भी स्टरजियॉन ने बेहद आक्रामक ट्वीट किया है. उन्होंने लिखा है-कैपिटोल से जो दृश्य सामने आ रहे हैं वो बेहद भयावह हैं. मैं उन लोगों के साथ एकजुटता दिखाना चाहती हूं जो लोकतंत्र और सत्ता के शांतिपूर्ण हस्तांतरण के पक्ष में हैं. उन लोगों को शर्म आनी चाहिए जिन्होंने लोकतंत्र पर इस हमले को उकसावा दिया.

गौरतलब है कि वाशिंगटन में हुई घटना की ब्रिटिश गृहमंत्री प्रीति पटेल ने भी निंदा की है. उन्होंने लिखा है कि वाशिंगटन में अलोकतांत्रिक और नाकाबिले बर्दाश्त दृश्य सामने आ रहे हैं. इस हिंसा का कोई स्पष्टीकरण नहीं हो सकता और डोनाल्ड ट्रंप को तुरंत इसकी निंदा करनी चाहिए.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज