Lock Down: राशन की दुकानों पर लंबी लाइनें, ऑनलाइन रिटेलर्स ने कैंसिल किये पहले से प्लेस्ड ऑर्डर

Lock Down: राशन की दुकानों पर लंबी लाइनें, ऑनलाइन रिटेलर्स ने कैंसिल किये पहले से प्लेस्ड ऑर्डर
प्रतीकात्मक तस्वीर

राष्ट्र के नाम संबोधन के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने कहा था कि खरीददारी के लिए घबराएं नहीं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 26, 2020, 8:46 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. कोरोना वायरस (Coronavirus) के चलते देश भर में लॉकडाउन के पहले दिन लोगों को कुछ दिक्कतों का सामना करना पड़ा. कहीं राशन के लिए लंबी लाइनें लगीं तो कहीं  लोगों को इस बात की जानकारी की ही नहीं थी कि किस बात की अनुमति है और किस चीज की नहीं. देश भर में बुधवार को बाजार में लोगों की भीड़ थी क्योंकि उन्होंने महामारी से बचाव के लिए तीन सप्ताह तक घर पर रहने से पहले ही सामान रख लिया. दिल्ली समेत विभिन्न शहरों में लोगों को स्टोरों तक पहुंचने में परेशानी का सामना करना पड़ा, क्योंकि पुलिसकर्मियों ने उन्हें जाने से मना कर दिया, यहां तक कि आवश्यक वस्तुओं की खरीद पर कोई अंकुश नहीं लगाने के सरकार के आश्वासन के बावजूद कुछ लोगों ने पिटाई कर दी. उत्पीड़न का सामना करने वाले कई लोगों ने कहा कि पुलिस को सरकार की सलाह के बारे में पता नहीं था.

बाजार में भीड़ के चलते लोगों ने भी संयम बरता और लाइनों में लग कर सामान खरीदा. केंद्रीय खाद्य मंत्री रामविलास पासवान ने कहा कि सरकार बाजार में आवश्यक वस्तुओं की उपलब्धता की निगरानी कर रही है. उन्होंने लॉकडाउन अवधि के दौरान निर्माताओं और व्यापारियों को मुनाफाखोरी के खिलाफ चेतावनी दी. उन्होंने कहा कि केंद्र यह सुनिश्चित करने के लिए राज्य सरकारों के साथ संपर्क में है कि आवश्यक वस्तुओं की कोई कमी नहीं है.

राष्ट्र के नाम संबोधन के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा था कि खरीददारी के लिए घबराएं नहीं. हालांकि, लोगों ने इस बात पर गौर नहीं किया. गृहमंत्रालय द्वारा जारी किये गये एक आदेश में भी यहीं बातें कही गई थीं.



सोशल डिस्टेंसिंग का लोग ख्याल नहीं रख रहे



ऑनलाइन रिटेलर्स जैसे कि अमेज़ॅन और बिग बास्केट पहले से किये गये ऑर्डर्स को रद्द कर रहे थे और कहा कि उनके पास नए डिलीवरी स्लॉट उपलब्ध नहीं थे. इसके बाद लोगों ने स्थानीय दुकानोें का रुख किया और सोशल डिस्टेंसिंग का लोग ख्याल नहीं रख रहे थे.

कोलकाता में भीड़ के जमा होने पर पूरी तरह पाबंदी लगने के बावजूद शहर के कुछ हिस्सों में लोग अगले कई दिनों के लिए जरूरी वस्तुओं की खरीद के लिए बाजारों की तरफ जाते दिखे. कई जगहों पर लोग अतिरिक्त एलपीजी सिलेंडर के लिए कतारों में भी नजर आए. दिल्ली में मदर डेयरी की कई दुकानों और राशन की स्थानीय दुकानों के बाहर भी लोगों की कतारें देखी गईं.

हालांकि, मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा है कि बंद के दौरान जरूरी वस्तुओं की उपलब्धता और सेवाएं सुनिश्चित की जाएंगी और ऐसे में लोगों को अफरा-तफरी में आने की जरूरत नहीं है.

केंद्र सरकार ने मलेरिया रोधी दवा हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन के निर्यात पर तत्काल प्रभाव से पाबंदी लगा दी है, ताकि बाजार में इसकी पर्याप्त उपलब्धता हो सके. भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) के महानिदेशक बलराम भार्गव ने कहा कि कोरोना वायरस के संदिग्ध या पुष्ट मामलों को देख रहे स्वास्थ्यकर्मियों और पुष्ट मरीजों के संपर्क में अति जोखिम वाले लोगों को हाइड्रॉक्सी-क्लोरोक्वीन दी जानी चाहिए.

यह भी पढ़ें कोरोना वायरस : नेशनल हाईवेज पर अगले आदेश तक नहीं लिया जाएगा टोल
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading