SDPI वाहियात संगठन है, हम उस पर बैन लगाने की सोच रहे हैं: कर्नाटक मंत्री

SDPI वाहियात संगठन है, हम उस पर बैन लगाने की सोच रहे हैं: कर्नाटक मंत्री
बेंगलुरु हिंसा में SDPI का नाम सामने आ रहा है. (फाइल फोटो)

SDPI का नाम बेंगलुरु हिंसा में सामने आया है. 11 अगस्त की रात को बेंगलुरु में भीड़ (Bengaluru Violence) की हिंसा में एक जांच आगे बढ़ने के साथ, सोशलिस्ट डेमोक्रेटिक पार्टी ऑफ इंडिया (Socialist Democratic Party of India) सुर्खियों में आ गई है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 14, 2020, 4:10 PM IST
  • Share this:
बेंगलुरु. कर्नाटक सरकार में मंत्री केएस ईश्वरप्पा (KS Eshwarappa) ने कहा है कि सोशलिस्ट डेमोक्रेटिक पार्टी ऑफ इंडिया (Socialist Democratic Party of India-SDPI) एक वाहियात संगठन है और इस पर बैन लगाने पर विचार किया जा रहा है. उन्होंने कहा है कि दो कदमों पर विचार किया जा रहा है. पहला, बेंगलुरु सांप्रदायिक हिंसा में शामिल लोगों की संपत्ति जब्त कर जुर्माना वसूलने का और दूसरा, SDPI पर बैन. गौरतलब है कि SDPI का नाम बेंगलुरु हिंसा में सामने आया है. 11 अगस्त की रात को बेंगलुरु में भीड़ (Bengaluru Violence) की हिंसा में जांच आगे बढ़ने के साथ, SDPI सुर्खियों में आ गई है.

कई सदस्यों को किया जा चुका है गिरफ्तार
इस संगठन के तीसरे सदस्य को गुरुवार को गिरफ्तार किया गया था. एसडीपीआई (SDPI) के बेंगलुरु (Bengaluru) जिला सचिव मुज़म्मिल पाशा सहित दो अन्य लोगों को बुधवार को गिरफ्तार किया गया था. पूर्वी बेंगलुरु (East Bengaluru) में मंगलवार रात पुलिस फायरिंग में तीन लोगों की मौत हो गई क्योंकि भीड़ ने कांग्रेस विधायक के रिश्तेदार के इस्लाम के कथित अपमानजनक संदर्भ के साथ सोशल मीडिया पोस्ट डालने के बाद एक पुलिस स्टेशन और कांग्रेस विधायक के घर को निशाना बनाया.





क्या बोले कर्नाटक के गृह मंत्री
कर्नाटक के गृह मंत्री बसवराज बोम्मई (Karnataka home minister Basavaraj Bommai) ने गुरुवार को मीडिया को बताया, 'अब तक की जानकारी और वीडियो फुटेज के अनुसार, सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि एसडीपीआई की भूमिका प्रकाश में आ रही है. हम इसके बारे में पूरी जानकारी एकत्र कर रहे हैं; हम इस संबंध में गहनता से जांच कर रहे हैं.'
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज