लाइव टीवी

दूसरे राज्य में ट्रांसफर के कारण बॉम्बे हाईकोर्ट के जस्‍टिस धर्माधिकारी ने दिया इस्तीफा

भाषा
Updated: February 14, 2020, 6:22 PM IST
दूसरे राज्य में ट्रांसफर के कारण बॉम्बे हाईकोर्ट के जस्‍टिस धर्माधिकारी ने दिया इस्तीफा
जस्‍टिस धर्माधिकारी 2022 में रिटायर होने वाले थे. फाइल फोटो

वरिष्ठ जज न्यायमूर्ति सत्यरंजन धर्माधिकारी (Justice Satyaranjan Dharmadhikari) को 14 नवंबर 2003 को बॉम्बे हाईकोर्ट (Bombay High court) का न्यायाधीश नियुक्त किया गया था. उन्होंंने यह कहते हुए इस्तीफा दे दिया है कि वह नहीं चाहते कि उनका महाराष्ट्र से बाहर स्थानांतरण हो.

  • Share this:
मुंबई. बॉम्बे हाईकोर्ट (Bombay High court) के दूसरे सबसे वरिष्ठ जज न्यायमूर्ति सत्यरंजन धर्माधिकारी (Justice Satyaranjan Dharmadhikari) ने यह कहते हुए इस्तीफा दे दिया है कि वह अपने निजी और पारिवारिक कारणों से नहीं चाहते कि उनका महाराष्ट्र से बाहर स्थानांतरण हो. जस्टिस धर्माधिकारी ने शुक्रवार को संवाददाताओं से बातचीत करते हुए कहा कि कि उन्होंने इस्तीफा दे दिया है, क्योंकि उन्हें किसी अन्य राज्य के हाईकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश के रूप में पदोन्नत किया गया था, हालांकि वह मुंबई नहीं छोड़ना चाहते थे.

जस्टिस धर्माधिकारी (Justice Satyaranjan Dharmadhikari) ने कहा, ‘मैंने पूरी तरह से व्यक्तिगत और पारिवारिक मुद्दों के कारण इस्तीफा दिया. मैं मुंबई नहीं छोड़ना चाहता था और वे मुझे मुंबई उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश के रूप में प्रोन्नति देने के लिए तैयार नहीं थे." न्यायाधीश ने कहा कि उन्होंने गुरुवार शाम अपना इस्तीफा राष्ट्रपति को भेज दिया.

शुक्रवार को बोले-आज मेरा आखिरी दिन
यह अभी तक स्पष्ट नहीं है कि उनका इस्तीफा स्वीकार हुआ है या नहीं लेकिन न्यायमूर्ति धर्माधिकारी ने शुक्रवार को अदालत में वकीलों से कहा कि यह कार्यालय में उनका आखिरी दिन है और वह 17 फरवरी (सोमवार) से उपलब्ध नहीं रहेंगे. न्यायमूर्ति धर्माधिकारी दो साल बाद सेवानिवृत्त होने वाले थे. जस्टिस धर्माधिकारी ने कहा, "मुंबई में मेरी कुछ व्यक्तिगत जिम्मेदारियां हैं, यही वजह है कि मैं महाराष्ट्र से बाहर स्थानांतरण नहीं चाहता था."

इससे पहले सुबह जब अधिवक्ता मैथ्यु नेदमपारा ने एक याचिका पर तत्काल सुनवाई के लिए अदालत से अगले हफ्ते की तारीख मांगी तब न्यायाधीश ने इस्तीफा देने संबंधी घोषणा की. न्यायमूर्ति धर्माधिकारी ने अदालत में कहा, ‘मैंने इस्तीफा दे दिया है, आज यहां मेरा अंतिम दिन है.’ अधिवक्ता नेदमपारा ने बाद में कहा, ‘जब न्यायाधीश ने कहा कि उन्होंने इस्तीफा दे दिया है तो शुरुआत में मुझे लगा कि ऐसा उन्होंने हल्के-फुल्के अंदाज में कहा है. वह एक वरिष्ठ न्यायाधीश हैं और इस्तीफा देने की उनकी बात सुनकर धक्का सा लगा.’

न्यायमूर्ति धर्माधिकारी को 14 नवंबर 2003 को बंबई उच्च न्यायालय का न्यायाधीश नियुक्त किया गया था और वह 2022 में अवकाशग्रहण करने वाले थे.

यह भी पढ़ें...वाराणसी: सऊदी अरब की नागरिक, दुनिया की पहली ह्यूमनॉइड रोबोट सोफिया पहुंचीं BHU

मांझी, कुशवाहा, सहनी और शरद की 'गुप्त' बैठक, क्या बिहार में थर्ड फ्रंट बनेगा?

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Mumbai से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 14, 2020, 6:19 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर