श्रीनगर में धारा-144 लागू, उमर अब्दुल्ला ने नजरबंद होने का किया दावा

उमर अब्दुल्ला ने ट्वीट कर कहा, 'मुझे लगता है कि आज आधी रात से मुझे नजरबंद किया गया है और मुख्‍यधारा के अन्‍य नेताओं के लिए भी ये प्रक्रिया शुरू हो गई है.'

News18Hindi
Updated: August 5, 2019, 3:06 PM IST
श्रीनगर में धारा-144 लागू, उमर अब्दुल्ला ने नजरबंद होने का किया दावा
उमर अब्दुल्ला (फाइल फोटो)
News18Hindi
Updated: August 5, 2019, 3:06 PM IST
जम्मू और कश्मीर में कुछ संभावित बड़े फैसले को लेकर बढ़ती अटकलों के बीच, कश्मीर में मोबाइल और इंटरनेट सेवा बंद कर दी गई है. श्रीनगर में 5 अगस्त से धारा-144 लगा दी गई है, जो अगले आदेश तक लागू रहेगी. वहीं, जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री और नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता उमर अब्दुल्ला ने नजरबंद होने का दावा किया है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, उमर अब्दुल्ला के अलावा महबूबा मुफ्ती और पीपुल्स कॉन्फ्रेंस के नेता सज्जाद लोन को भी नजरबंद कर दिया गया है.

उमर अब्दुल्ला ने ट्वीट कर कहा, 'मुझे लगता है कि आज आधी रात से मुझे नजरबंद किया गया है और मुख्‍यधारा के अन्‍य नेताओं के लिए भी ये प्रक्रिया शुरू हो गई है.'

वहीं, जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री और पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) की अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती ने ट्वीट कर कहा है, 'कैसी विडंबना है कि हमारे जैसे चुने हुए प्रतिनिधि जो शांति के लिए लड़े थे, घर में नजरबंद हैं. दुनिया देख रही है कि जम्‍मू-कश्‍मीर में लोगों और उनकी आवाज को दबाया जा रहा है. वह कश्मीर जिसने एक धर्मनिरपेक्ष लोकतांत्रिक भारत को चुना था, अकल्पनीय उत्पीड़न का सामना कर रहा है. जागो भारत जागो.'

घाटी के इन जगहों पर सशस्‍त्र बल तैनात
Loading...

अधिकारियों का कहना है कि आतंकी हमलों की धमकी के मद्देनजर बीते दो दिनों में जम्मू जिले के अलग-अलग जिलों में आरएएफ, सीआरपीएफ, आईटीबीपी और बीएसएफ समेत विभिन्न केन्द्रीय सशस्त्र पुलिस बलों की कई कंपनियों को तैनात किया गया है. अधिकारियों ने कहा कि सीमावर्ती राजौरी और पुंछ जिलों में तैनात आरएएफ की टुकड़ियों ने सुरक्षा अभ्यास के तहत स्थानीय पुलिस और सीआरपीएफ के साथ एक इलाके में गश्त की.

एटीएम में नहीं है पैसा
जम्मू क्षेत्र में हालात कमोबेश सामान्य रहे हैं, लेकिन राजौरी और पुंछ, डोडा, किश्तवाड़ समेत विभिन्न जिलों से यहां आ रहीं रिपोर्टों के मुताबिक भारी संख्या में बलों की तैनाती से लोगों में घबराहट है. रिपोर्ट में मुताबिक अधिकतर एटीएम में नकदी नहीं है क्योंकि लोगों ने हालात के मद्देनजर जरूरी सामान खरीदकर जमा करना शुरू कर दिया है.

गृहमंत्री ने की बैठक
कश्मीर घाटी में आतंकी खतरे, देश की सुरक्षा तैयारियों और रणनीति की समीक्षा करने के लिए गृहमंत्री अमित शाह ने रविवार को उच्च स्तरीय बैठक की. केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने संसद भवन स्थित अपने कार्यालय में राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल और गृह सचिव राजीव गौबा के साथ करीब दो घंटे तक उच्च स्तरीय बैठक की.


ये भी पढ़ें-

सेना की कार्रवाई, PoK में 30 Km अंदर आतंकी ठिकाने किए नष्‍ट

जम्मू-कश्मीर में ‘हलचल’ के पीछे हो सकती हैं ये 5 वजहें
First published: August 5, 2019, 1:05 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...