अपना शहर चुनें

States

आसाराम मामले में गवाह को पुलिस ने दी सुरक्षा

आसाराम द्वारा एक लड़की से कथित यौन शोषण प्रकरण के अहम गवाह कृपाल सिंह की पिछले दिनों शाहजहांपुर में हुई हत्या के बाद पुलिस प्रशासन ने मामले के एक अन्य गवाहों सुरक्षा उपलब्ध कराई है।
आसाराम द्वारा एक लड़की से कथित यौन शोषण प्रकरण के अहम गवाह कृपाल सिंह की पिछले दिनों शाहजहांपुर में हुई हत्या के बाद पुलिस प्रशासन ने मामले के एक अन्य गवाहों सुरक्षा उपलब्ध कराई है।

आसाराम द्वारा एक लड़की से कथित यौन शोषण प्रकरण के अहम गवाह कृपाल सिंह की पिछले दिनों शाहजहांपुर में हुई हत्या के बाद पुलिस प्रशासन ने मामले के एक अन्य गवाहों सुरक्षा उपलब्ध कराई है।

  • Share this:


बरेली। आसाराम द्वारा एक लड़की से कथित यौन शोषण प्रकरण के अहम गवाह कृपाल सिंह की पिछले दिनों शाहजहांपुर में हुई हत्या के बाद पुलिस प्रशासन ने मामले के एक अन्य गवाहों सुरक्षा उपलब्ध कराई है। बरेली परिक्षेत्र के पुलिस उपमहानिरीक्षक आर. के. एस. राठौर ने आज बताया कि शाहजहांपुर स्थित सरस्वती शिशु बाल मंदिर के प्रधानाचार्य अरविन्द बाजपेयी को कल एक गनर दिया गया है।


राठौर ने बताया कि बाजपेयी ने आसाराम पर बलात्कार का आरोप लगाने वाली उनके स्कूल की छात्रा रही लड़की का स्थानान्तरण प्रमाणपत्र (टीसी) जारी किया था, जिसमें उल्लिखित जन्मतिथि के हिसाब से बालिका को नाबालिग माना गया था। बाजपेयी ने दिसम्बर 2014 में अदालत में इस सिलसिले में गवाही भी दी थी।


बाजपेयी के मुताबिक उन्हें दिसम्बर 2014 में उस वक्त फोन पर धमकी दी गई थी। उस वक्त उन्होंने शाहजहांपुर के पुलिस अधीक्षक को सुरक्षा के लिये पत्र दिया था लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई थी।



गौरतलब है कि शाहजहांपुर में किशोरी के साथ कथावाचक आसाराम द्वारा कथित दुष्कर्म प्रकरण के गवाह 35 साल के कृपाल सिंह को पिछले 10 जुलाई को शाहजहांपुर में मोटरसाइकिल सवार बदमाशों ने गोली मार दी थी। गम्भीर रूप से घायल सिंह की अगले दिन मौत हो गी थी।
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज