सुरक्षाबलों को केंद्र का आदेश- J&K में रमजान के दौरान आतंकियों पर न चलाए गोलियां

गृह मंत्रालय ने ट्वीट कर जानकारी दी है कि केंद्र सरकार ने सुरक्षा बलों को आदेश दिया है कि रमजान के पवित्र महीने में सुरक्षा बल कोई सैन्य ऑपरेशन न करे

News18Hindi
Updated: May 16, 2018, 6:17 PM IST
सुरक्षाबलों को केंद्र का आदेश- J&K में रमजान के दौरान आतंकियों पर न चलाए गोलियां
गृह मंत्रालय ने ट्वीट कर जानकारी दी है कि केंद्र सरकार ने सुरक्षा बलों को आदेश दिया है कि रमजान के पवित्र महीने में सुरक्षा बल कोई सैन्य ऑपरेशन न करे
News18Hindi
Updated: May 16, 2018, 6:17 PM IST
रमजान के मुबारक महीने की शुरुआत हो गई है और इसको देखते हुए गृह मंत्रालय ने कश्मीर को लेकर बड़ा फैसला किया है. गृह मंत्रालय रमजान के महीने में शांति कायम रखने के लिए जम्मू-कश्मीर में सैन्य ऑपरेशन पर रोक लगा दी है.

गृह मंत्रालय ने ट्वीट कर जानकारी दी है कि केंद्र सरकार ने सुरक्षा बलों को आदेश दिया है कि रमजान के पवित्र महीने में सुरक्षा बल कोई सैन्य ऑपरेशन न करे. यह फैसला केंद्र सरकार ने शांति व्यवस्था में यकीन रखने वाले मुसलमानों को देखते हुए लिया है. इस फैसले से उन्हें रमजान के दौरान कोई परेशानी का सामना नहीं करना पड़ेगा और वह शांतिपूर्ण तरीके से रह सकेंगे.

गृह मंत्रालय ने ट्वीट कर यह भी कहा है कि इस्लाम से आतंक और हिंसा को अलग करना जरूरी है. गृह मंत्रालय ने कहा है कि जब तक मासूम जनता पर कोई आतंकी हमला ना हो तब तक फायरिंग ना करें. मंत्रालय ने यह भी कहा है कि यह फैसला मुस्लिम भाई, बहनों की हिफाजत के लिए लिया गया है, ताकि वे रमजान के दौरान अमन-चैन से रह सके.

Loading...





गृहमंत्रालय के इस फैसले का स्वागत करते हुए जम्मू-कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने पीएम मोदी और गृहमंत्री राजनाथ सिंह को धन्यवाद दिया. उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा, 'मैं इस फैसले का स्वागत करती हूं और पीएम मोदी और राजनाथ सिंह को इस मामले में व्यक्तिगत रूप से भाग लेने के लिए धन्यवाद देती हूं. सभी पार्टियों को इस मामले को लेकर सर्वसम्मति बनाने के लिए धन्यवाद देती हूं.'





गौरतलब है कि कुछ दिनों पहले महबूबा मुफ्ती ने केंद्र सरकार से अपील कर रमजान और अमरनाथ यात्रा को देखते हुए सैन्य ऑपरेशन ना चलाने और शांतिपूर्ण हालात बनाने की अपील की थी. यह फैसला सर्वदलीय बैठक के बाद सर्वसम्मति से लिया गया था.
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
-->