अपना शहर चुनें

States

Farmers Protest: किसानों की ताकत का प्रतीक बन रही इस युवा आंदोलनकारी की तस्वीर

वॉटर कैनन बंद करने के बाद अपनी ट्रॉली पर छलांग लगाते नवदीप सिंह. (फोटो: Twitter)
वॉटर कैनन बंद करने के बाद अपनी ट्रॉली पर छलांग लगाते नवदीप सिंह. (फोटो: Twitter)

Farmers Protest: इस युवा आंदोलनकारी का नाम है नवदीप सिंह, जो अंबाला जिले में रहता है. ग्रेजुएट नवदी 250 से ज्यादा गांवों के ग्रामीणों के साथ प्रदर्शनों में शामिल हो रहा है. सिंह ने पुलिस की गाड़ी पर चढ़कर वॉटर कैनन बंद की और वापस कूद गया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 27, 2020, 10:10 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. कृषि कानून (Farms Law 2020) में बदलाव की मांग पर अड़े किसानों का प्रदर्शन जारी है. भारत में केंद्र सरकार (Central Government) के खिलाफ नाराजगी का नजारा देश की सड़कों पर देखा गया. देश के कई हिस्सों में शुक्रवार को किसानों ने कृषि कनूनों (Agriculture Laws) के खिलाफ बड़ी संख्या में इकट्ठे होकर आवाज़ बुलंद किए. बैरिकेड तोड़कर आ बढ़ रहे किसानों को काबू करने के लिए पुलिस ने आंसू गैस के गोले और वॉटर कैनन का भी सहारा लिया. किसानों के इस विरोध की कई तस्वीरें और वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रही हैं, लेकिन इन्हीं आंदोलकारियों में एक युवा के प्रयास कई लोगों की जुबान पर हैं.

वॉटर कैनन बंद करने पुलिस गाड़ी पर चढ़ा युवक
सोशल मीडिया (Social Media) पर शेयर की जा रही जानकारी के मुताबिक, यह वीडियो कुरुक्षेत्र के पास का है. यहां युवा आंदोलनकारी पुलिस का गाड़ी पर चढ़ा और किसानों पर पानी की बौछार कर रही कैनन को बंद कर दिया. इतना ही नहीं, जब पुलिस गाड़ी पर उसे पकड़ने पहुंची, तो वह वापस कूद कर अपनी ट्रॉली पर पहुंच गया. इस वीडियो को किसानों की ताकत के तौर पर प्रदर्शित किया जा रहा है.







इस युवा आंदोलनकारी का नाम है नवदीप सिंह, जो अंबाला जिले में रहता है. ग्रेजुएट नवदीप 250 से ज्यादा गांवों के ग्रामीणों के साथ प्रदर्शनों में शामिल हो रहा है. अंग्रेजी वेबसाइट द क्विंट के मुताबिक, नवदीप ने एक पंजाबी चैनल को बताया, 'मैं हमेशा से पढ़ने-लिखने वाला लड़का था और चढ़ने-कूदने जैसी चीजें कभी नहीं की.' उन्होंने कहा 'आंदोलनकारियों की बहादुरी ने मुझे प्रोत्साहित किया है.'

Farmers Protest: लंबी लड़ाई की तैयारी के साथ दिल्ली मार्च पर निकले हैं किसान, दो महीने का राशन रखा है साथ

उन्होंने बताया 'मैं ट्रैक्टर ट्रॉली से ट्रक के ऊपर चढ़ा और नल तक पहुंचा. मैंने उसे बंद कर दिया, लेकिन एक पुलिसकर्मी मुझे पकड़ने ऊपर आ गया था. हालांकि उसी समय मेरा भाई पास में ट्रैक्टर लेकर आया और मैं उसपर कूद गया.' नवदीप ने बताया कि पुलिस ने उन्हें डंडों से मारा था, लेकिन उन्हें पुलिसकर्मियों के खिलाफ कोई नराजगी नहीं है.



ये भी पढ़ें- किसान कौन से कानून के खिलाफ और क्यों आंदोलन कर रहे है? जानिए इससे जुड़ी सभी बातें

राजधानी दिल्ली के पड़ोसी राज्य हरियाणा के किसानों ने करनाल-मेरठ, रोहतक-झज्जर और दिल्ली-हिसार मार्ग समेत कई जगहों को ब्लॉक कर दिया था. सैकड़ों की संख्या में किसानों ने दिल्ली की उत्तर प्रदेश सीमा पर इकट्ठे होकर प्रदर्शन किए. ये सभी किसान राजधानी में दाखिल होने की कोशिश कर रहे थे. इन आंदोलनों की वजह से नोएडा और गाजियाबाद में ट्रैफिक खासा प्रभावित हुआ.
इसके अलावा शुक्रवार को किसानों ने अयोध्या-लखनऊ और दिल्ली-मेरठ हाईवे को भी कुछ घंटों के लिए बंद कर दिया. वहीं, लखीमपुर खेरी, पीलीभीत, संभल, सीतापुर, बागपत और बाराबंकी से भी प्रदर्शन की खबरें आईं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज