लाइव टीवी

महाराष्ट्र चुनाव परिणाम देख शिवसेना के बदले सुर, BJP से कहा- ये जनादेश है महाजनादेश नहीं

News18Hindi
Updated: October 25, 2019, 10:47 AM IST
महाराष्ट्र चुनाव परिणाम देख शिवसेना के बदले सुर, BJP से कहा- ये जनादेश है महाजनादेश नहीं
महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव के नतीजे आने के एक दिन बाद ही सामना के जरिए शिवसेना ने बीजेपी पर बड़ा हमला किया है.

महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव (Maharashtra Assembly Election) में बीजेपी (BJP) को 105 जीत हासिल हुई हैं, जबकि शिवसेना (Shiv Sena) को 56 सीटों पर जीत मिली है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 25, 2019, 10:47 AM IST
  • Share this:
मुंबई. महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव (Maharashtra Assembly Election) के नतीजे आने के एक दिन बाद ही शिवसेना (Shiv Sena) के सुर बदले हुए दिखाई दे रहे हैं. शिवसेना ने अपने मुख्यपत्र सामना (Saamana) के संपादकीय में भारतीय जनता पार्टी (BJP) पर बड़ा हमला किया है. शिवसेना ने  लिखा यह महाजनादेश नहीं है. संपादकीय में लिखा गया है कि चुनाव (Election) नतीजे देखने के बाद साफ हो जाता है कि महाराष्ट्र (Maharashtra) की जनता का रुझान सीधा और साफ है. अति नहीं, उन्माद नहीं वर्ना समाप्त हो जाओगे. ऐसा जनादेश ईवीएम की मशीन से बाहर आया.

शिवसेना ने सामना में लिखा कि 'ईवीएम' से सिर्फ कमल ही बाहर आएंगे. ऐसा आत्मविश्वास मुख्यमंत्री फडणवीस को आखिरी क्षण तक था, लेकिन 164 में से 63 सीटों पर कमल नहीं खिला. पूरे महाराष्ट्र के नतीजों को देखें तो शिवसेना-भाजपा 'युति' (गठबंधन) को सरकार बनाने लायक बहुमत मिल चुका है. आंकड़ों का खेल संसदीय लोकतंत्र में चलता रहता है.

शिवसेना ने कहा, 'महाराष्ट्र की जनता ने निश्चित करके ही ये नतीजे दिए हैं. फिर इसे महाजनादेश कहो या कुछ और. यह जनादेश है महाजनादेश नहीं, इसे स्वीकार करना पड़ेगा. जनता के फैसले को स्वीकार करके बड़प्पन दिखाना पड़ता है.'

अति उत्साह में मत आओ, सत्ता की धौंस दिखाओगे...

शिवसेना ने कहा कि महाराष्ट्र में 2014 की अपेक्षा अलग नतीजे आए हैं. 2014 में 'युति' (गठबंधन) नहीं थी. 2019 में 'युति' के बावजूद सीटें कम हुईं. बहुमत मिला लेकिन कांग्रेस-एनसीपी मिलकर 100 सीटों तक पहुंच गई. ये एक प्रकार से सत्ताधीशों को मिला सबक है. धौंस, दहशत और सत्ता की मस्ती से प्रभावित न होते हुए जनता ने जो मतदान किया, उसके लिए उसका अभिनंदन!'' देखा जाए तो ये रुझान चौंकाने वाले हैं. दूसरे शब्दों में कहें तो अति उत्साह में मत आओ, सत्ता की धौंस दिखाओगे तो याद रखो. राज्य की जनता ने ऐसा जनादेश दिया है.

इसे भी पढ़ें :- BJP-शिवसेना की सत्ता में वापसी तय, NCP का शानदार प्रदर्शन

पार्टी बदलकर टोपी बदलनेवालों को जनता ने घर भेज दिया
Loading...

भाजपा पर निशाना साधते हुए शिवसेना ने कहा कि दूसरे दलों में सेंध लगाकर या दल बदलकर बड़ी जीत हासिल की जा सकती है, जनता ने इस भ्रम को तोड़ दिया है. पार्टी बदलकर टोपी बदलनेवालों को जनता ने घर भेज दिया है. शिवसेना ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी ने राष्ट्रवादी में ऐसी सेंध लगाई कि पवार की पार्टी में कुछ बचेगा या नहीं, कुछ ऐसा माहौल बन गया था. लेकिन महाराष्ट्र में सबसे ज्यादा छलांग राष्ट्रवादी ने लगाई है और 50 का आंकड़ा पार कर लिया है. बीजेपी 122 से 102 पर आ गई है.

इसे भी पढ़ें :- NCP नेता का शिवसेना को खुला ऑफर- बीजेपी के साथ छोड़िए, हमारे साथ आकर CM बनिए

मन से स्वीकार करना होगा कि तेल थोड़ा कम पड़ गया...
शिवसेना ने कहा कि मुख्यमंत्री ने महाराष्ट्र में खुद को तेल लगाए हुए पहलवान के रूप में प्रस्तुत किया लेकिन बड़े मन से स्वीकार करना होगा कि तेल थोड़ा कम पड़ गया और माटी की कुश्तीवाले उस्ताद के रूप में शरद पवार ने गदा जीत ली है. सारे चुनावी नतीजों का विश्लेषण आज ही नहीं किया जा सकता. जनता ने फैसला सुनाया है, उसे स्वीकार करते हुए महाराष्ट्र आज जहां है, हम उसे निश्चित तौर पर आगे ले जाएंगे.

इसे भी पढ़ें :- महाराष्ट्र: NDA को बहुमत तो मिला लेकिन पंकजा मुंडे सहित 7 मंत्री नहीं बचा पाए अपनी सीट

महाराष्ट्र विधानसभा में मिली कितनी सीट
महाराष्ट्र की 288 विधानसभा सीटों पर 21 अक्टूबर को हुए चुनाव के नतीजे आ गए हैं. गुरुवार को हुई मतगणना में बीजेपी को 105 जीत हासिल हुई हैं, जबकि शिवसेना को 56 सीटों पर जीत मिली है. राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) ने 54 सीटों पर कब्जा जमाया है. वहीं कांग्रेस के खाते में 44 सीटें गई हैं.

इसे भी पढ़ें :-

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Mumbai से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 25, 2019, 10:35 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...