ऑनलाइन उपलब्ध हुआ नेहरू वांग्मय का 100वां खंड, जयराम रमेश ने कहा ट्रोल्स भी पढ़ें

ऑनलाइन उपलब्ध हुआ नेहरू वांग्मय का 100वां खंड, जयराम रमेश ने कहा ट्रोल्स भी पढ़ें
1903 से लेकर 1964 तक जवाहर लाल नेहरू द्वारा लिखे गए लेख और किताबें अब डिजिटल फॉर्मेट में मौजूद होंगे. (फाइल फोटो)

पूर्व केंद्रीय मंत्री और कांग्रेसी सांसद जयराम रमेश (Jairam Ramesh) ने ट्वीट कर इसके बारे में जानकारी दी है. उन्होंने इस वेबसाइट को 20वीं सदी के इतिहास में दिलचस्पी रखने वालों के जरूरी बताया है. साथ ही ट्रोल्स को पढ़कर कर 'ज्ञान' हासिल करने की सलाह दी है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 4, 2020, 11:39 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. देश के पहले प्रधानमंत्री (First PM of India) पंडित जवाहर लाल नेहरू (Pt, Jawahar Lal Nehru) वांग्मय (Selected Workd) अब डिजिटल फॉर्मेट में मौजूद होंगे. पूर्व केंद्रीय मंत्री और कांग्रेसी सांसद जयराम रमेश (Jairam Ramesh) ने ट्वीट कर इसके बारे में जानकारी दी है. उन्होंने इस वेबसाइट को 20वीं सदी के इतिहास में दिलचस्पी रखने वालों के लिए बेहद जरूरी बताया है. साथ ही ट्रोल्स को पढ़कर कर 'ज्ञान' हासिल करने की सलाह भी दी है.

जयराम रमेश ने ट्वीट में लिखा है-आखिरकार, 1903 से 1964 तक के बीच का जवाहर लाल नेहरू वांग्मय 100 वॉल्यूम में अब ऑनलाइन मौजूद होगा. 20सदीं के भारतीय इतिहास में दिलचस्पी रखने वाले लोगों को इन्हें जरूर पढ़ना चाहिए. ये ट्रोल्स के लिए भी मौजूद है. इस आशा में कि वो इसे पढ़ेंगे और कुछ ज्ञान हासिल करेंगे.


ट्वीट के साथ साझा किया वेबसाइट का लिंक
जयराम रमेश ने अपने ट्वीट के साथ इस वेबसाइट का लिंक भी अटैच किया है. जवाहर लाल नेहरू के लेखों और किताबों को nehruselectedworks.com वेबसाइट पर जाकर पढ़ा जा सकता है.





गौरतलब है कि देश के पहले प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू को राजनीति से इतर अपने लेखन और इंटरनेशनल पॉलिसी की समझ के लिए विश्व स्तर पर पहचाना जाता है. उनके द्वारा लिखी गई किताबें डिस्करी ऑफ इंडिया (The Discovery of India) और ग्लिंप्सेज ऑफ वर्ल्ड हिस्ट्री (Glimpses of world history) अब भी भारत और दुनिया को समझने के लिए सबसे बेहतरीन किताबों में से एक मानी जाती हैं. डिस्कवरी ऑफ इंडिया किताब को लेकर निर्देशक श्याम बेनेगल धारावाहिक भी बना चुके हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज