वरिष्ठ पत्रकार अमिश देवगन को धमकी, रिपोर्ट दर्ज, समर्थन में उतरे पत्रकार और कई पार्टियों के नेता

वरिष्ठ पत्रकार अमिश देवगन को धमकी, रिपोर्ट दर्ज, समर्थन में उतरे पत्रकार और कई पार्टियों के नेता
वरिष्ठ पत्रकार अमिश देवगन के समर्थन में कई पार्टियों के नेता और पत्रकार उतर गए हैं

अमिश देवगन ने कहा मिडिल ईस्ट से आ रहे हैं धमकी भरे फोन, वो इन धमकियों से डरने वाले नहीं हैं. कोरोना योद्धाओं की आवाज को उठाते रहेंगे

  • Share this:
नई दिल्ली. नेटवर्क 18 के वरिष्ठ पत्रकार अमिश देवगन (Amish Devgan) को फोन पर धमकियां मिली हैं. उन्होंने इसे लेकर नोएडा में एक रिपोर्ट दर्ज कराई है, जिसमें बताया है कि उन्हें लगातार मिडिल ईस्ट के देशों से फोन के जरिए धमकी दी जा रही है. देवगन ने कहा कि वो इन धमकियों से डरने वाले नहीं हैं. उन्होंने कहा, 'कोरोना योद्धाओं की आवाज को उठाते रहेंगे. आज सुबह से मेरे पास कई अलग अलग फोन नंबर से कॉल आ रही हैं. ख़ास करके मिडिल ईस्ट (Middle east) से. उनसे मेरा कहना है कि अपने आकाओं को कह दो न डरे हैं न डरेंगे. भारत के लिए आख़िरी दम तक बोलेंगे.’ देवगन के समर्थन में कई पार्टी के नेता और पत्रकार उतर गए हैं. बीजेपी, कांग्रेस, सपा सहित कई पार्टियों ने ऐसी धमकियों की भर्त्सना की है.

अमिश देवगन ने अपने प्रोग्राम ‘आर-पार’ में एक क्लिप दिखाई थी. यह वीडियो उन्होंने मुंबई (Mumbai) के कुर्ला इलाके का बताया था. जहां दिख रहा था कि लॉकडाउन के दौरान बड़ी संख्या में लोग एक जगह पर इकट्ठा थे. जिसको समझाने पुलिस (police) पहुंची तो उन स्थानीय लोगों ने पुलिस वाले के साथ गाली गलौच करना शुरू कर दिया. इसी वीडियो पर जब अमिश देवगन ने ओवैसी की पार्टी AIMIM के पार्षद मुर्तजा से उनकी प्रतिक्रिया पूछी तो वह अमिश को चलते शो में धमकी देने लगे.





इस मामले के ठीक चंद घंटे बाद अमिश देवगन ने ट्विटर के जरिए बताया कि इस धमकी के बाद से उन्हें मिडिल ईस्ट के कई देशों से सीधे फोन करके धमकी दी जा रही है. इसके बाद अमिश के समर्थन में कई पार्टी के नेता और पत्रकार भी प्रतिक्रिया देने लगे.

केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावडेकर ने देवगन को धमकी के मामले में कहा, 'जिसकी गलती होगी उसके खिलाफ मुकदमा दर्ज होगा और सख्त कार्रवाई की जाएगी.' वहीं फिल्म मेकर अशोक पंडित ने कहा, देश तुम्हारे साथ है. इन गीदड़ धमकियों से मत डरो. यह तुम्हारी ईमानदारी से बौखलाए हुए हैं. देश तुम्हारे और तुम्हारे जैसे पत्रकारों के साथ है.'

उधर, सपा प्रवक्ता अनुराग भदौरिया ने कहा पत्रकार को धमकी देना बहुत गंभीर मामला है. कानून से ऊपर कोई नहीं हो सकता. कांग्रेस नेता आचार्य प्रमोद कृष्णम ने कहा, किसी पत्रकार से सहमत या असहमत होना अलग बात है, लेकिन “पत्रकारों” को “धमकी” देना घोर निंदनीय और चिंता का विषय है, भारत सरकार को उनकी “सुरक्षा” व्यवस्था करनी चाहिए.



बीजेपी प्रवक्ता गौरव भाटिया ने कहा, अमिश जी आप एक निडर और निर्भीक पत्रकार हो और पूरा देश आप के साथ खड़ा है. मीडिया लोकतंत्र का चौथा स्तंभ है. इस पर कोई प्रहार बर्दाश्त नहीं होगा. किसी को धमकी देना कानूनन अपराध है. कोई भी किसी भी पत्रकार को धमकी देगा तो उसके खिलाफ सख्त कानूनी कार्रवाई ज़रूर होगी.

बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा कल से आप को डराया और धमकाया भी जा रहा है क्योंकि आपने AIMIM के पार्षद के गुंडागर्दी को एक्सपोज किया. यही यदि किसी तथाकथित “डिजाइनर” पत्रकार के साथ होता तो अभी तक अरब देशों तक गूंज चली जाती.

ये भी पढ़ें: 

इन 14 जिलों में कोरोना पॉजिटिव 15 से अधिक होते ही लिया जाएगा ये बड़ा फैसला  

पीएम-सीएम की अपील के बाद कोरोना से जंग में दान देने का रिकॉर्ड बना रहे ये गांव

 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading