Sero Survey: कागज पर जिन जिलों में नहीं थे कोरोना के मरीज, वहां मई के महीने में निकले 8.5 लाख केस

Sero Survey: कागज पर जिन जिलों में नहीं थे कोरोना के मरीज, वहां मई के महीने में निकले 8.5 लाख केस
ये सर्वे 21 राज्यों के 70 ज़िलों में कराए गए. ज़्यादातर सर्वे ग्रामीण इलाकों में हुआ.

SERO SURVEY: ICMR के मुताबिक ये सर्वे 11 मई से लेकर 4 जून के बीच कराए गए. इस दौरान 4,28,000 वयस्कों के सैंपल लिए गए. ये सर्वे 21 राज्यों के 70 ज़िलों में कराए गए.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 12, 2020, 7:17 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. देश भर में कराए गए सीरो सर्वे (Sero survey) के नतीजे ने हर किसी को हैरान कर दिया है. इस सर्वे के मुताबिक, मई के महीने तक ही देश भर में करीब 64 लाख लोग कोरोना (Coronavirus) से संक्रमित हो चुके थे. इस सर्वे से ये भी पता चला है कि जिन इलाकों में कागज पर कोई मरीज नहीं था वहां भी बड़ी संख्या में लोग इस वायरस के शिकार हो चुके थे. सर्वे के आंकड़ों के मुताबिक मई के महीने में बताया गया था कि देश के 233 जिले में कोरोना का कोई केस नहीं है, लेकिन अब सर्वे से पता चला है कि यहां 8.56 लाख मरीज़ थे. बता दें कि इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (ICMR) ने गुरुवार को देश भर में कराए गए सीरो सर्वे के नतीजों का ऐलान किया था.

233 जिले में 13% मरीज़
सीरो सर्वे के डेटा से ये भी पता चला है कि जिन जिलों में जीरो केस बताया गया था, वहां दरअसल देश के 13 परसेंट कोरोना के मरीज़ थे. रिसर्चर का कहना है कि इससे पता चलता है कि देश में कोरोना आने के शुरुआती दौर में मरीजों का सही तरीके से पता नहीं लगाया जा रहा था. इसके अलावा देश के हर हिस्से में टेस्ट भी नहीं हो रहे थे. ऐसे में देश के हर हिस्से में कोरोना का संक्रमण तेजी बढ़ने लगा. सीरो सर्वे के नतीजे बताते हैं कि भारत के गांवों में कोरोनो वायरस के संक्रमण की चपेट में 69.4% लोग आए, जबकि शहरी झुग्गियों में ये 15.9 प्रतिशत और शहरी के बाकी हिस्सों में की बस्तियों में 14.6 प्रतिशत दर्ज की गई.





ये भी पढ़ें:-महाराष्‍ट्र: 1 दिन में कोरोना के रिकॉर्ड 24,889 केस, कुल आंकड़ा 10 लाख पार

सर्वे में और क्या पता चला

आगे पढ़ें
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading