कोरोना संक्रमण का देश में क्या है हाल? पता लगाने के लिए इस महीने 70 जिलों में शुरू होगा सीरो सर्वे

देश में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्‍या तेजी से कम हो रही है. (फाइल फोटो)

देश में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्‍या तेजी से कम हो रही है. (फाइल फोटो)

ICMR ने कहा है कि देश में कोरोना वायरस संक्रमण की मौजूदा स्थिति का पता लगाने के लिए चौथे दौर का सीरो सर्वेक्षण इस महीने देश भर के 70 जिलों में शुरू होगा.

  • Share this:

नई दिल्ली. भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (ICMR) ने कहा है कि देश में कोरोना वायरस संक्रमण की मौजूदा स्थिति का पता लगाने के लिए चौथे दौर का सीरो सर्वेक्षण इस महीने देश भर के 70 जिलों में शुरू होगा. राज्यों को भेजे गए पत्र में ICMR के महानिदेशक डॉ. बलराम भार्गव ने यह भी कहा कि इस सर्वेक्षण में 6 साल और उससे अधिक उम्र के बच्चों को शामिल किया जाएगा. इन 70 जिलों के 21 राज्यों के जिला अस्पतालों में सामान्य आबादी के अलावा स्वास्थ्य कर्मियों के ब्लड सैंपल्स भी लिए जाएंगे.

4 जून को लिखे गए पत्र में ICCMR के महानिदेशक ने कहा, 'ICMR जून में  कोविड -19 के लिए चौथा राष्ट्रीय सीरो-सर्वेक्षण' शुरू करेगा. यह सीरो सर्वेक्षण उन्हीं 70 जिलों में होगा जिन जिलों में पहले तीन राउंड के सैंपल्स लिए गए थे. सर्वेक्षण में इन जिलों के जिला अस्पतालों में काम करने वाले, 6 साल और उससे अधिक उम्र के सामान्य आबादी को शामिल किया जाएगा. चिट्ठी में कहा गया है- 'सीरो सर्वेक्षण के निष्कर्ष से भारत में वर्तमान कोविड -19 स्थिति का पता लगाने में मदद मिलेगी.'

इन जिलों में होगा सर्वे

जिन 21 राज्यों में सीरो सर्वे के लिए सैंपल्स इकट्ठा किए जाएंगे उनमें आंध्र प्रदेश (कृष्णा, एसपीएसआर नेल्लोर, विजयनगरम), असम (उदालगुरी, कामरूप मेट्रोपॉलिटन, करबियांगलोंग), बिहार (मुजफ्फरपुर, पूर्णिया, बेगूसराय, मधुबनी, बक्सर, अरवल) शामिल हैं.
साथ ही  छत्तीसगढ़ (बीजापुर, कबीरधाम, सरगुजा), गुजरात (महिसागर, नर्मदा, सबर कांथा), झारखंड (लतेहार, पाकुड़, सिमडेगा), कर्नाटक (बेंगलुरु शहरी, चित्रदुर्ग, कालाबुरागी), केरल (पलक्कड़, एर्नाकुलम, त्रिशूर), मध्य प्रदेश (देवास, उज्जैन, ग्वालियर), महाराष्ट्र (बीड, नांदेड़, परभणी, जलगांव, अहमदनगर, सांगली), ओडिशा (रायगड़ा, गंजम, कोरापुट), पंजाब (गुरदासपुर, जालंधर), हरियाणा (कुरुक्षेत्र), राजस्थान (दौसा, जालोर, राजसमंद), तमिलनाडु (तिरुवन्नामलाई, कोयंबटूर, चेन्नई), तेलंगाना (कामारेड्डी, जंगों, नलगोंडा) और उत्तर प्रदेश (अमरोहा) से भी सैंपल्स लिए जाएंगे.

सीरो सर्वे में ब्लड सैंपल्स की टेस्टिंग आईजीजी (इम्युनोग्लोबुलिन जी) एंटीबॉडी की मौजूदगी का पता लगाने के लिए किया जाता है. सीरो सर्वे यह पता लगाने में अहम भूमिका निभाते हैं कि बीमारी कम्युनिटी ट्रांसमिशन की स्थिति में पहुंच गई है या नहीं.




चेन्नई में ICMR का नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ एपिडेमियोलॉजी पिछले सभी सर्वेक्षणों के लिए नोडल एजेंसी रही है और संभवत: चौथे सर्वेक्षण की भी निगरानी करेगी. बता दें 17 दिसंबर, 2020 और 8 जनवरी, 2021 के बीच किए गए तीसरे सीरो सर्वेक्षण में 10 वर्ष और उससे अधिक आयु के 21.4% लोग वायरस से संक्रमित पाए गए

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज