Home /News /nation /

गोवा में सेक्स स्कैंडल! कांग्रेस ने मंत्री पर लगाया यौन शोषण का आरोप, भाजपा बोली- सब फर्जी

गोवा में सेक्स स्कैंडल! कांग्रेस ने मंत्री पर लगाया यौन शोषण का आरोप, भाजपा बोली- सब फर्जी

गोवा में कांग्रेस ने सरकार के एक मंत्री पर आरोप लगाए हैं जिसे भाजपा ने फर्जी बताया है.   (सांकेतिक फोटो )

गोवा में कांग्रेस ने सरकार के एक मंत्री पर आरोप लगाए हैं जिसे भाजपा ने फर्जी बताया है. (सांकेतिक फोटो )

Goa Assembly Election 2022 : गोवा सरकार (goa government) के एक कैबिनेट मंत्री पर गोवा प्रदेश कांग्रेस (congress) अध्‍यक्ष गिरीश चोडनकर ने आरोप लगाया कि मंत्री ने पद का दुरुपयोग किया और एक महिला का यौन शोषण किया है. उन्‍होंने कहा कि प्रधानमंत्री 19 दिसंबर को गोवा पहुंच सकते हैं. उससे पहले सरकार सही निर्णय ले. गोवा भाजपा अध्यक्ष सदानंद तनवड़े ने कहा कि किसी भी मंत्री के खिलाफ यौन शोषण की कोई शिकायत नहीं थी. कांग्रेस ऐसे आरोप विधानसभा चुनाव (Goa Assembly Election 2022) नजदीक आता देखकर लगा रही है.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्‍ली. गोवा सरकार (goa government) के एक कैबिनेट मंत्री पर गोवा प्रदेश कांग्रेस (congress) अध्‍यक्ष गिरीश चोडनकर ने मंगलवार को आरोप लगाया कि मंत्री ने अपने पद का दुरुपयोग किया और उन्‍होंने एक महिला का यौन शोषण किया है. उन्‍होंने सरकार से कहा है कि हम, इस मंत्री के खिलाफ कार्रवाई करने के लिए मुख्‍यमंत्री को 15 दिनों का समय दे रहे हैं. प्रधानमंत्री 19 दिसंबर को गोवा पहुंच सकते हैं. उससे पहले सरकार सही निर्णय ले लेगी. उन्‍होंने कहा कि हम शालीनता दिखा रहे हैं. उन्‍होंने कहा कि करीब 20 दिन पहले दो जिम्‍मेदार लोग वीडियो, ऑडियो और वॉट्सऐप चैट के रूप में सबूत लाए थे ताकि वे यह दिखा सकें कि आखिर मंत्री ने महिला का यौन शोषण कैसे किया. कांग्रेस के आरोपों का खंडन करते हुए गोवा भाजपा (BJP) अध्यक्ष सदानंद तनवड़े ने कहा कि किसी भी मंत्री के खिलाफ यौन शोषण की कोई शिकायत नहीं थी. कांग्रेस ऐसे आरोप विधानसभा चुनाव (Goa Assembly Election 2022) नजदीक आता देखकर लगा रही है.

    गिरीश चोडनकर ने पणजी में कांग्रेस हाउस में कहा कि हम अभी तक मंत्री के नाम का खुलासा नहीं कर रहे हैं, यह हमारी शालीनता और नैतिक जिम्‍मेदारी है. इस मामले में महिला और मंत्री के दो परिवार शामिल हैं, जिनका इसमें कोई दोष नहीं है. हम सरकार को 15 दिन का समय दे रहे हैं, मंत्री को बर्खास्‍त कर, इस मामले में अपराध दर्ज किया जाना चाहिए. अब गेंद मुख्यमंत्री डॉ. प्रमोद सावंत के पाले में है. उन्‍होंने कहा कि गोवा सरकार में 12 मंत्री हैं जिसमें से 11 पुरुष हैं. कांग्रेस नेता गिरीश ने यह भी दावा किया कि आपत्तिजनक वीडियो और ऑडियो फाइलें मुख्यमंत्री को भी दिखाई गईं थीं. लेकिन उन्‍होंने कोई कदम नहीं उठाया. वो मंत्री की रक्षा करने और सबूतों को नष्‍ट करने में लग गए. उन्‍होंने कहा कि किसी ने अपने पॉवर का दुरुपयोग किया है और एक महिला का यौन शोषण किया है. यह निंदनीय है. उन्‍होंने कहा कि हमने अतीत में भ्रष्टाचार के मामलों को भी उजागर किया है, लेकिन इस तरह की बात को माफ नहीं किया जा सकता है. इसे गोवा के लोगों तक पहुंचाते हुए मुझे दुख हो रहा है. उन्होंने (सीएम) पुलिस का भी दुरुपयोग किया है. हम कैसे चुप रह सकते थे? सीएम ऐसी गलत बात का समर्थन क्यों कर रहे हैं? मंत्री को इस्तीफा देने के लिए कहा जाना चाहिए था और अगर वह इस्‍तीफा नहीं दे, तो उन्हें बर्खास्त कर दिया जाना चाहिए था, लेकिन सीएम ने कुछ नहीं किया.

    ये भी पढ़ें : झारखंड: 80 साल के ‘किशन दा’ की तरह इन 114 नक्सलियों पर है 10 करोड़ रुपये से ज्यादा का इनाम, देखें पूरी लिस्ट

    वहीं, इस मामले में गोवा भाजपा अध्यक्ष सदानंद तनवड़े ने कहा कि उन्होंने मुख्यमंत्री से पूछा था कि क्या किसी मंत्री के खिलाफ यौन शोषण की कोई शिकायत है, लेकिन कोई शिकायत नहीं है. वहीं, कांग्रेस नेता चोडनकर ने कहा कि उन्हें एक जिम्मेदार व्यक्ति द्वारा मोबाइल फोन पर वीडियो दिखाए गए थे, जो उनसे एक रेस्तरां में मिले थे. इस वीडियो में मंत्री को आपत्तिजनक स्थिति में दिखाया गया है. मंत्री, महिलाओं के खिलाफ जिस भाषा का इस्तेमाल करते हैं वह भी आपत्तिजनक है. चोडनकर ने आरोप लगाया कि संबंधित मंत्री ने महिला को यह कहते हुए धमकाया कि वह कुछ भी कर सकता है और महिला को गर्भपात के लिए मजबूर करने की बात भी सुनी. हम शालीनता दिखा रहे हैं और इस मंत्री के खिलाफ कार्रवाई करने के लिए सीएम को 15 दिन का समय दे रहे हैं. प्रधानमंत्री के 19 दिसंबर को गोवा पहुंचने की उम्मीद है. इससे पहले हमें उम्मीद है कि सरकार सही काम करेगी. अगर ऐसा नहीं होता है, तो हम उसके बाद कोई दया नहीं दिखाएंगे.

    ये भी पढ़ें : जातिवार जनगणना को लेकर केंद्र सरकार ने लोकसभा में कही अहम बात

    इस मामले में महिला कांग्रेस अध्यक्ष बीना नाइक ने कहा, ‘यह बहुत चौंकाने वाला है. मेरी अपील है कि उन्हें तत्काल बर्खास्त किया जाए, उन्होंने अपने निर्वाचन क्षेत्र की महिलाओं में भय पैदा किया है. अपने धनबल से, वह सभी को आतंकित करता है, वह महिलाओं को धमकाता रहा है. वहीं, जीपीसीसी महासचिव रोयला फर्नांडीस ने कहा कि सभी राजनीतिक दलों की महिलाओं को एकजुट होने और महिलाओं के इस तरह के शोषण के खिलाफ खड़े होने की जरूरत है. चोडनकर ने कहा, ‘वीडियो और ऑडियो क्लिप स्पष्ट रूप से दिखाते हैं कि कोई सहमति नहीं थी.’ हालांकि, उन्होंने कहा कि मंत्री द्वारा कथित रूप से यौन उत्पीड़न करने वाली महिला से न तो उन्होंने बात की और न ही उनसे मुलाकात की.

    तनवडे ने आगे कहा, ‘अगर किसी महिला का यौन शोषण हुआ है, तो उसे शिकायत करनी चाहिए. क्या आप बिना किसी सबूत के ऐसे आरोप लगा सकते हैं? ये गलत है. सबूत होना चाहिए और अगर नहीं भी है, तो जिस महिला के बारे में वa कहते हैं कि उसका शोषण किया गया है, शिकायत के साथ वहां होनी चाहिए. सीएम समेत कुल 12 मंत्री हैं. हमें किस पर संदेह करना चाहिए? इस बारे में सीएम को भी कुछ पता नहीं है. किसी थाने में शिकायत नहीं है, किसी और को शिकायत नहीं है.’ उन्होंने कहा, ‘ये आरोप बेवजह और निराधार है. उन्हें मंत्री का नाम लेना चाहिए.’ उन्‍होंने कहा कि हमें बताओ कि वह महिला कौन है. यदि वे ऐसा नहीं कर सकते तो उन्हें इस तरह के झूठे आरोप नहीं लगाने चाहिए. क्या हम किसी के निजी जीवन पर कार्रवाई कर सकते हैं? चुनाव आ रहा है और कोई भी कुछ भी कह सकता है.

    Tags: BJP, Congress, Goa Assembly Election 2022, Goa government

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर