Assembly Banner 2021

सेक्स कांड: वीडियो वाली कथित महिला ने SIT पर जताया संदेह, परिवार के लिए सुरक्षा की मांग की

पूर्व मंत्री रमेश जरकीहोली से संबंधित कथित सेक्स कांड की जांच कर रही एसआईटी संदेह जाहिर किया है. (सांकेतिक तस्वीर)

पूर्व मंत्री रमेश जरकीहोली से संबंधित कथित सेक्स कांड की जांच कर रही एसआईटी संदेह जाहिर किया है. (सांकेतिक तस्वीर)

माता-पिता की सुरक्षा को अपनी सर्वोच्च प्राथमिकता बताते हुए महिला ने कहा, “एक बार मुझे जब अपने माता-पिता की सुरक्षा के बारे में पता चल जाएगा तो मैं एसआईटी के सामने आउंगी और मुझे जो भी बयान देना होगा दूंगी और अगला कदम उठाउंगी.”

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 26, 2021, 12:08 AM IST
  • Share this:
बेंगलुरु. पूर्व मंत्री रमेश जरकीहोली से संबंधित कथित सेक्स कांड की जांच कर रहे विशेष जांच दल (एसआईटी) की विश्वसनीयता को लेकर कथित तौर पर वीडियो में नजर आने वाली महिला ने संदेह जाहिर किया है और अपने परिवार के लिये सुरक्षा की मांग की है.

जारकीहोली ने भी दावा किया कि इस कथित सेक्स कांड के पीछे कौन है यह दिखाने के लिये उनके पास चौंकाने वाला वीडियो है जिसे वह सही समय पर जारी करेंगे. महिला ने बृहस्पतिवार को एक वीडियो बयान जारी किया और यह उसके द्वारा संरक्षण प्राप्त करने के लिये किया गया इस तरह का दूसरा प्रयास है.

पिता को किसी से भी डरने की जरूरत नहीं
उसने वीडियो बयान में परिवार द्वारा दर्ज कराई गई गुमशुदगी की रिपोर्ट के संदर्भ में कहा, “मैं 100 प्रतिशत जानती हूं कि मेरे माता-पिता ने इच्छा से यह शिकायत दर्ज नहीं कराई होगी क्योंकि वे जानते हैं कि उनकी बेटी ने कोई गलती नहीं की है इसलिये उन्हें डरने की कोई जरूरत नहीं है.”
Youtube Video




एसआईटी के सामने आने के बारे में कही ये बात
माता-पिता की सुरक्षा को अपनी सर्वोच्च प्राथमिकता बताते हुए महिला ने कहा, “एक बार मुझे जब अपने माता-पिता की सुरक्षा के बारे में पता चल जाएगा तो मैं एसआईटी के सामने आउंगी और मुझे जो भी बयान देना होगा दूंगी और अगला कदम उठाउंगी.” उसने नेता विपक्ष सिद्धरमैया, प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष डी के शिवकुमार, कांग्रेस के विधायक और पूर्व विधानसभा अध्यक्ष के आर रमेश कुमार और महिला संगठनों से भी उसके माता-पिता को सुरक्षा मुहैया कराने का अनुरोध किया है.

ये भी पढ़ें: - सोशल मीडिया से सीखकर की मिट्टी का तेल से बालों को स्ट्रेट करने की कोशिश, मौत



उसने कहा, “…मुझे कहीं न कहीं न्याय मिलने की उम्मीद है.” महिला ने कहा कि उसने 12 मार्च को आयुक्त कार्यालय/एसआईटी में एक वीडियो भेजा था लेकिन “जारकीहोली द्वारा 13 मार्च को शिकायत दर्ज कराने के बाद 30 मिनट के अंदर ही यह वीडियो सार्वजनिक कर दिया गया.

मुझे समझ नहीं आ रहा कि एसआईटी किसकी तरफ है. मुझे नहीं पता कि वे किसे बचाने की कोशिश कर रहे हैं.” महिला के बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए प्रदेश के गृह मंत्री बसावराज बोम्मई ने कहा कि एसआईटी निष्पक्ष जांच कर रही है और उसे तथा उसके माता-पिता को सुरक्षा देने के लिये तैयार है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज