लाइव टीवी

जम्मू कश्मीर: जल्द रिहा किए जाएंगे शाह फैजल, राजनीति छोड़कर जा सकते हैं अमेरिका

News18Hindi
Updated: October 11, 2019, 12:00 AM IST

जम्मू कश्मीर (Jammu and Kashmir) में दो महीने के प्रतिबंध के बाद तीन मुख्यधारा के नेताओं को रिहा कर दिया गया. आने वाले सप्ताह में प्रशासन कुछ और नेताओं को को छूट दे सकता है. शाह फैजल (Shah Faesal) भी उन्हीं नेताओं में से हैं, जिन्हें जल्द छोड़ा जा सकता है. लेकिन वह राजनीति छोड़ सकते हैं. इन नेताओं को 5 अगस्त के बाद तभी डिटेन किया गया था, जब सरकार ने जम्मू कश्मीर में अनुच्छेद 370 में बदलाव कर विशेष दर्जा खत्म किया था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 11, 2019, 12:00 AM IST
  • Share this:
आकाश हसन
श्रीनगर.
  जम्मू कश्मीर (Jammu and Kashmir) का विशेष दर्जा खत्म हुए करीब 2 महीने हो चुके हैं. अब वहां पर लगीं पाबंदियों में ढील दी जाने लगी है. इसी क्रम में जिन नेताओं को हाउस अरेस्ट (house arrest) रखा गया था, उन्हें छोड़ने का सिलसिला शुरू हो गया है. शाह फैजल (Shah Faesal) भी उन्हीं नेताओं में से हैं, जिन्हें जल्द छोड़ा जा सकता है. लेकिन वह राजनीति छोड़ सकते हैं.

दो महीने के प्रतिबंध के बाद तीन मुख्यधारा के नेताओं को रिहा कर दिया गया. उन्हें हाउस अरेस्ट रखा गया था. आने वाले सप्ताह में प्रशासन कुछ और नेताओं को को छूट दे सकता है. इन नेताओं को 5 अगस्त के बाद तभी डिटेन किया गया था, जब सरकार ने जम्मू कश्मीर में अनुच्छेद 370 में बदलाव कर विशेष दर्जा खत्म किया था, उसके बाद से ही वहां पर कई पाबंदियां लगा दी गई थीं.

सूत्रों के अनुसार, जिन नेताओं को रिहा किया जाना है, उनमें आईएएस के बाद नेता बने शाह फैजल हैं. इसके अलावा नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता इशफाक जब्बार और पीडीपी नेता यासिर रेशी को भी रिहा किया जा सकता है.

2009 में टॉपर रहे थे शाह फैजल
शाह फैजल 2009 में यूपीएससी में टॉपर रहे थे. इस साल जनवरी में उन्होंने अपनी नौकरी से इस्तीफा देकर राजनीति ज्वाइन की थी. मार्च में उन्होंने अपनी पार्टी जम्मू एंड कश्मीर पीपुल्स मूवमेंट लॉन्च की थी. सूत्रों के अनुसार, फैजल को अगले सप्ताह तक रिहा किया जा सकता है.

अमेरिका जा सकते हैं राजनीति छोड़कर
Loading...

फैजल से जुड़े सूत्रों के अनुसार, वह रिहा होने के बाद मुख्यधारा की राजनीति को छोड़ सकते हैं. माना जा रहा है कि वह राजनीति छोड़ अमेरिका पढ़ाने के लिए जा सकते हैं. सूत्रों के अनुसार, 5 अगस्त को हुए घटनाक्रम के बाद उनका राजनीति से मोह भंग हो चुका है.

14 अगस्त को शाह फैजल को दिल्ली एयरपोर्ट पर उड़ान भरने से रोक दिया गया था, तब उन्हें वापस श्रीनगर भेज दिया गया था. यहां उन्हें डिटेन कर रखा गया था. इसके खिलाफ उनकी पत्नी ने दिल्ली हाईकोर्ट में याचिका लगाई थी. हालांकि बाद में इसे उन्होंने वापस ले लिया. इससे पहले शाह फैजल की पार्टी ज्वाइन करने वाली जेएनयू की पूर्व स्टूडेंट लीडर शेहला राशिद ने भी राजनीति को छोड़ने का ऐलान कर दिया था.

गुरुवार 10 अक्टूबर को यावर मीर, नूर मोहम्मद और शोएब लोन तीन नेताओं को छोड़ दिया गया. मीर पूर्व पीडीपी विधायक हैं. उनके पिता दिलावर मीर पीडीपी के बड़े नेता रहे हैं. उन्हें हाउस अरेस्ट रखा गया था. इससे पहले पीपुल्स कॉन्फ्रेंस के इमरान अंसारी और नेशनल कॉन्फ्रेंस के सैयद अखनून को खरात स्वास्थ्य के कारण रिहा कर दिया गया था. पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती, उमर अब्दुल्ला अभी भी हाउस अरेस्ट हैं. वहीं फारुख अब्दुल्ला भी पब्लिक सेफ्टी एक्ट के अंतर्गत नजरबंद हैं.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 10, 2019, 11:25 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...