किसान आंदोलन: शरद पवार 9 दिसंबर को करेंगे राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से मुलाकात

किसानों ने 8 दिसंबर को भारत बंद का आह्वान किया है.

किसानों ने 8 दिसंबर को भारत बंद का आह्वान किया है.

Sharad Pawar on Farmers Protest: शरद पवार ने कहा कि किसान आंदोलन पर कहा कि अगर जल्द से जल्द समाधान नहीं हुआ तो ये दिल्ली तक सीमित नहीं रहेगा. देशभर के किसान इस आंदोलन में शामिल हो जाएंगे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 6, 2020, 5:14 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. दिल्ली के सिंघु बॉर्डर पर प्रदर्शन कर रहे किसानों (Farmer Protest) का अब एनसीपी प्रमुख शरद पवार (NCP chief Sharad Pawar) ने समर्थन किया है. अब कृषि कानून पर चर्चा करने के लिए एनसीपी प्रमुख शरद पवार राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद (Ram Nath Kovind) से मुलाकात करेंगे. महाराष्ट्र एनसीपी कार्यालय की ओर से जारी किए गए आधिकारिक बयान में कहा गया है कि शरद पवार 9 दिसंबर को राष्ट्रपति से मुलाकात करेंगे.

किसानों ने 8 दिसंबर को ही भारत बंद का आह्वान किया है. इससे पहले पवार ने कहा कि मोदी ने जल्‍दबाजी में यह बिल पारित किया, जिसके कारण अब इसे लेकर समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है. केंद्र सरकार को चेतावनी देते हुए शरद पवार ने कहा कि किसान आंदोलन पर कहा कि अगर जल्द से जल्द समाधान नहीं हुआ तो ये दिल्ली तक सीमित नहीं रहेगा. देशभर के किसान इस आंदोलन में शामिल हो जाएंगे.

किसानों की मांगों को गंभीरता से ले सरकार

शरद पवार ने कहा, देश की खेती और अन्न उत्पादन पर ध्यान दें तो सबसे ज्यादा योगदान हरयाणा और पंजाब के किसानों का है. विशेष तौर पर गेहूं और चावल की खेती से दुनिया के 17-18 देशों को ध्यान पहुचाने का काम इन किसानों ने किया है. अगर पंजाब और हरयाणा के किसान रास्तों पर आ रहे हैं तो इसे बहुत ही गंभीरता से लेना चाहिए.
पांचवें दौर की बातचीत रही बेनतीजा

शनिवार को विज्ञान भवन में किसानों और सरकार के बीच आज पांचवें दौर की बातचीत भी बेनतीजा रहने के बाद किसानों ने अपना आंदोलन और तेज कर दिया है. किसान पिछले 10 दिनों से दिल्ली की सीमाओं पर डेरा डाले हुए हैं जिसके चलते कई रास्तों को बंद कर दिया गया है. केंद्र ने गतिरोध समाप्त करने के लिए नौ दिसंबर को एक और बैठक बुलाई है.

Youtube Video




अर्धनग्न अवस्था में किसानों का दिल्ली कूच

भारतीय किसान यूनियन (लोकशक्ति) के सदस्य अर्धनग्न अवस्था में दिल्ली की तरफ कूच कर रहे हैं, जिसे देखते हुए सुरक्षा कड़ी कर दी गई है. प्रदर्शनकारी कालिंदी कुंज बॉर्डर से दिल्ली की तरफ रवाना हो रहे हैं. उन्‍होंने कहा कि हम रुकने वाले नहीं हैं, दिल्ली जाकर सरकार से अपनी बात मनवाएंगे. किसानों के दिल्‍ली कूच को देखते हुए जगह-जगह सुरक्षा कड़ी कर दी गई है और यात्रा को लेकर परामर्श जारी किए गए हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज