सरकार पर शशि थरूर ने कसा तंज, NDA को बताया- नो डाटा अवेलेबल

शशि थरूर ने सरकार पर तंज कसा है.
शशि थरूर ने सरकार पर तंज कसा है.

कांग्रेस सांसद शशि थरूर (Shashi Tharoor) ने मंगलवार को एक ट्वीट करके सरकार पर निशाना साधा. शशि थरूर ने एनडीए को नो डाटा अवेलेबल कहकर परिभाषित किया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 22, 2020, 11:15 AM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. कोरोना वायरस (Coronavirus) के प्रसार को रोकने के लिए देश में लगाए गए लॉकडाउन के दौरान जान गंवाने वाले प्रवासी मजदूरों (Migrant workers) का आंकड़ा होने से सरकार ने इनकार कर दिया है. इस पर केंद्र सरकार विपक्ष के निशाने पर है. इस बीच कांग्रेस सांसद शशि थरूर (Shashi Tharoor) ने मंगलवार को एक ट्वीट करके सरकार पर निशाना साधा. शशि थरूर ने एनडीए को नो डाटा अवेलेबल कहकर परिभाषित किया है.

कांग्रेस सांसद शशि थरूर ने ट्वीट में एक कार्टून को भी शेयर किया है. इसके साथ उन्‍होंने लिखा, 'प्रवासी मजदूरों से संबंधित कोई डाटा नहीं, किसानों की आत्‍महत्‍या का कोई डाटा नहीं, राजस्‍व संबंधी कोई डाटा नहीं, कोविड 19 से हुई मौतों का संदिग्‍ध डाटा, जीडीपी वृद्धि पर धुंध भरा डाटा. इस सरकार ने पूरी तरह से NDA का नया अर्थ दे दिया है.'






बता दें कि लोकसभा में एक प्रश्न के लिखित उत्तर में श्रम एवं रोजगार मंत्री संतोष गंगवार ने कहा था कि लॉकडाउन के दौरान मारे गए मजदूरों के संदर्भ में आंकड़ा सरकार के पास उपलब्ध नहीं है. संगीता कुमारी सिंह देव, भोला सिंह, कलानिधि वीरस्वामी व कुछ अन्य सदस्यों ने सवाल किया था कि क्या लॉकडाउन के दौरान हजारों मजदूरों की मौत हो गई और अगर ऐसा है तो उसका विवरण दें.

मामले में कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी सरकार पर निशाना साधा था. उन्‍होंने कहा था कि श्रमिकों की मौत होना सभी ने देखा, लेकिन सरकार को इसकी खबर नहीं हुई. उन्होंने ट्वीट किया था, 'मोदी सरकार नहीं जानती कि लॉकडाउन में कितने प्रवासी मज़दूर मरे और कितनी नौकरियां गईं.' उन्‍होंने शायराना अंदाज में तंज किया, 'तुमने ना गिना तो क्या मौत ना हुई? हां मगर दुख है सरकार पे असर ना हुआ, उनका मरना देखा ज़माने ने, एक मोदी सरकार है जिसे ख़बर ना हुई.'
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज