Home /News /nation /

स्टार प्रचारकों की लिस्ट से बाहर शशि थरूर बने डिजिटल कैंपेन के हीरो! सोशल मीडिया पर दिखी दीवानगी

स्टार प्रचारकों की लिस्ट से बाहर शशि थरूर बने डिजिटल कैंपेन के हीरो! सोशल मीडिया पर दिखी दीवानगी

शशि थरूर की तरफ से दी गई 25 मिनट लंबी स्पीच काफी चर्चा में रही थी. (फाइल फोटो: ANI)

शशि थरूर की तरफ से दी गई 25 मिनट लंबी स्पीच काफी चर्चा में रही थी. (फाइल फोटो: ANI)

ECI Ban on Rallies and Road Shows: थरूर भले ही कांग्रेस (Congress) के स्टार प्रचारकों की लिस्ट में नहीं हैं, लेकिन डिजिटल अभियान में यूजर्स के बीच कुछ राज्यों में उनकी अच्छी खासी डिमांड है. इस बात के सबूत आंकड़ों से मिलते हैं. इस हफ्ते कांग्रेस नेता ने घोषणा की थी कि वे गोवा के लोगों के साथ वर्चुअल तरीके से संवाद करेंगे. उनकी इस घोषणा के बाद 150 से ज्यादा लोगों ने साइन अप किया है और इसमें फेसबुक औऱ यूट्यूब के भी फॉलोअर्स जुड़ गए थे.

अधिक पढ़ें ...

नई दिल्ली. कोरोना वायरस महामारी (Coronavirus) के चलते विधानसभा चुनाव 2022 (Assembly Elections 2022) की रैलियों और रोड शो पर लगी पाबंदियों ने सियासी दलों के लिए डिजिटल रास्ते तैयार किए हैं. सावधानी के लिहाज से लगाई गई इन पाबंदियों ने पार्टियों के स्टार प्रचारकों को भले ही बैक फुट पर भेज दिया हो, लेकिन कई नेता वर्चुअल तैयारियों के मामले में फ्रंट फुट पर आ गए हैं. इन्ही में तिरुवनंतपुरम से कांग्रेस सांसद शशि थरूर (Shashi Tharoor) का नाम भी शामिल है.

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, थरूर भले ही कांग्रेस के स्टार प्रचारकों की लिस्ट में नहीं हैं, लेकिन डिजिटल अभियान में यूजर्स के बीच कुछ राज्यों में उनकी अच्छी खासी डिमांड है. इस बात के सबूत आंकड़ों से मिलते हैं. इस हफ्ते कांग्रेस नेता ने घोषणा की थी कि वे गोवा के लोगों के साथ वर्चुअल तरीके से संवाद करेंगे.

खास बात है कि थरूर की तरफ से दी गई 25 मिनट लंबी स्पीच काफी चर्चा में रही थी. वर्चुअल ईवेंट में शामिल हुए लोगों ने भी थरूर के सामने सवालों की झड़ी लगा दी थी. उनके इस कार्यक्रम को स्थानीय अखबारों में जगह मिली थी.

यह भी पढ़ें: BJP Candidates List: क्यों कटे 10 MLA के टिकट? 11 सीटों पर क्या है रणनीति? देखें पूरा विश्लेषण

पाबंदियों पर कल होगा फैसला!
भारत निर्वाचन आयोग ने शनिवार को चुनावी रैलियों और रोड शो पर लगी पाबंदियों को 22 जनवरी तक बढ़ाने का ऐलान किया था. हालांकि, आयोग ने इंडोर मीटिंग से जुड़े नियमों में ढील देते हुए 300 लोगों या हॉल की 50 प्रतिशत क्षमता के साथ बैठकों की अनुमति दी थी. इससे पहले आयोग ने 15 जनवरी तक रैलियों और रोड शो पर रोक लगाई थी.

शनिवार को चुनाव आयोग ने स्वास्थ्य मंत्रालय और चुनावी राज्यों को मुख्य और स्वास्थ्य सचिवों के साथ बैठक की थी. गोवा, मणिपुर, उत्तराखंड, पंजाब और उत्तर प्रदेश चुनावी दौर से गुजरेंगे. मतदान की प्रक्रिया 7 चरणों में होगी. केवल उत्तर प्रदेश में वोटिंग 7 चरणों में होना है. इसके अलावा मणिपुर में 2 चरणों में वोट डाले जाएंगे. पंजाब, गोवा और उत्तराखंड में एक ही चरण में यह प्रक्रिया पूरी हो जाएगी. चुनाव आयोग की तरफ से जारी कार्यक्रम के अनुसार, मतगणना 10 मार्च को होगी.

Tags: Assembly elections, Congress, ECI, SHASHI THAROOR

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर