अपना शहर चुनें

States

बोरिस जॉनसन का दौरा कैंसिल होने पर थरूर बोले- इस बार गणतंत्र दिवस समारोह रद्द क्यों न कर दिया जाए

शशि थरूर ने गणतंत्र दिवस को लेकर दी सलाह.
शशि थरूर ने गणतंत्र दिवस को लेकर दी सलाह.

ब्रिटिश प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन (Borris Johnson) ने अपने देश में कोरोना वायरस के नये स्वरूप (स्ट्रेन) से पैदा हुए संकट के बढ़ने के चलते 26 जनवरी के गणतंत्र दिवस समारोह (Republic Day) पर भारत की अपनी निर्धारित यात्रा रद्द कर दी है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 6, 2021, 2:01 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. ब्रिटेन (Britain) में फैले कोरोना वायरस के नए स्ट्रेन (New Corona Virus Strain) के चलते प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन का भारत दौरा रद्द हो गया था. कांग्रेस के वरिष्ठ नेता शशि थरूर (Shashi Tharoor) ने इस मामले को लेकर सलाह दी है. जॉनसन का भारत दौरा रद्द होने का हवाला देते हुए उन्होंने कहा है कि मुख्य अतिथि नहीं होने की स्थिति में इस बार गणतंत्र दिवस समारोह को क्यों न रद्द कर दिया जाए?

उन्होंने मंगलवार रात ट्वीट किया, ‘अब जब इस महीने बोरिस जॉनसन की भारत यात्रा कोविड की दूसरी लहर के कारण रद्द कर दी गई है और हमारे पास गणतंत्र दिवस पर मुख्य अतिथि नहीं है, तो ऐसे में एक कदम आगे क्यों न जाएं और जश्न को पूरी तरह से रद्द कर दें?’ पूर्व केंद्रीय मंत्री और लोकसभा सदस्य थरूर ने यह भी कहा कि इस बार परेड के लिए लोगों को बुलाना ‘गैरजिम्मेदाराना’ होगा.


यह भी पढ़ें: भारत दौरा रद्द करने के बाद बोरिस जॉनसन ने की PM मोदी से बात, कहा- जल्द आऊंगा



उल्लेखनीय है कि ब्रिटिश प्रधानमंत्री जॉनसन ने अपने देश में कोरोना वायरस के नये स्वरूप (स्ट्रेन) से पैदा हुए संकट के बढ़ने के चलते 26 जनवरी के गणतंत्र दिवस समारोह पर भारत की अपनी निर्धारित यात्रा रद्द कर दी है. अधिकारियों ने बताया कि जॉनसन ने मंगलवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से बात कर अपना दौरा रद्द करने के लिए खेद प्रकट किया. जॉनसन को 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस परेड के लिए मुख्य अतिथि के तौर पर आमंत्रित किया गया था.

जॉनसन की सरकार ने पूरे इंग्लैंड में लॉकडाउन की घोषणा कर दी है. यह लॉकडाउन फरवरी के मध्य तक जारी रहेगा. मंगलवार को ब्रिटेन में कोरोना वायरस के 60 हजार नए मामले सामने आए थे. गौरतलब है कि ब्रिटेन में मिला खतरनाक वायरस पहुंच चुका है. वायरस के इस नए रूप 71 भारतीयों में पुष्टि हुई है. बुधवार को 13 नए मामले सामने आए.

खास बात है कि अगर जॉनसन भारत आते, तो जॉन मेजर के बाद गणतंत्र दिवस में शामिल होने वाले दूसरे प्रधानमंत्री होते. हालांकि, उन्होंने जल्द भारत आने की उम्मीद जताई है. उनके कार्यालय के मुताबिक, पीएम ने 2021 के पहले 6 महीनों में भारत आने की उम्मीद जताई है.

(भाषा इनपुट के साथ)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज