शशि थरूर ने इशारों में कसा PM पर तंज, 'पकी खेती देखिके गरब किया किसान…'

कांग्रेस नेता शशि थरूर ने पीएम मोदी पर तंज कसा है. (PTI)
कांग्रेस नेता शशि थरूर ने पीएम मोदी पर तंज कसा है. (PTI)

Shashi Tharoor taunts PM Narendra Modi: शशि थरूर ने ट्वीट किया, 'पकी खेती देखिके गरब किया किसान' बस इतना कह कर चले गए..इतने बड़े विद्वान' दरअसल, पीएम मोदी ने अपने संबोधन में करीब का एक दोहा सुनाया था, जिसमें किसान और फसल का जिक्र किया. इसी को लेकर शशि थरूर ने पीएम मोदी पर तंज कसा है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 20, 2020, 10:08 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने मंगलवार को राष्‍ट्र को संबोधित किया. इस दौरान पीएम मोदी ने लोगों को त्‍योह‍ारों की शुभकामनाएं देते हुए कहा कि कोरोना वायरस (Coronavirus) का खतरा अभी टला नहीं है. उन्‍होंने कहा, 'लॉकडाउन भले खत्म हो गया है लेकिन कोरोना वायरस खत्म नहीं हुआ है.' फिर से लोगों को याद दिलाते हुए उन्होंने कहा, 'याद रखिए, जब तक दवाई नहीं, तब तक ढिलाई नहीं.' पीएम मोदी के संबोधन पर अब नेताओं की प्रतिक्रिया आनी शुरू हो गई है. वहीं, कांग्रेस के नेता शशि थरूर ने पीएम पर तंज कसा है.

शशि थरूर ने ट्वीट किया,
'पकी खेती देखिके गरब किया किसान'
बस इतना कह कर चले गए..इतने बड़े विद्वान'
दरअसल, पीएम मोदी ने अपने संबोधन में करीब का एक दोहा सुनाया था, जिसमें किसान और फसल का जिक्र किया. इसी को लेकर शशि थरूर ने पीएम मोदी पर तंज कसा है. कबीर के दोहे का उदाहरण देते हुए पीएम मोदी ने कहा था- पक्की खेती देखि के, गरब किया किसान. अजहूं झोला बहुत है, घर आवे तब जान. अर्थात कई बार हम पकी हुई फसल देखकर ही अति आत्मविश्वास से भर जाते हैं कि अब तो काम हो गया लेकिन जब तक फसल घर न आ जाए तब तक काम पूरा नहीं मानना चाहिए. पीएम मोदी ने कहा कि रामचरित मानस में बहुत शिक्षाप्रद बातें कही गई हैं इनमें से एक है- 'रिपु, रुज, पावक पाप प्रभु अहि गनिअ न छोट करि.' अर्थात शत्रु, रोग, अग्नि, पाप, स्वामी और सर्प को छोटा नहीं समझना चाहिए.



ये भी पढ़ें: PM Modi Speech: कोरोना वायरस पर PM मोदी बोले- जब तक दवाई नहीं, तब तक ढिलाई नहीं

ये भी पढ़ें: PM मोदी का देश के नाम संबोधन, कहा- लॉकडाउन भले चला गया लेकिन वायरस अब तक नहीं गया है

लॉकडाउन चला गया, कोरोना वायरस नहीं, सावधानी बरतें: PM
पीएम मोदी ने कहा, 'लेकिन हमें ये भूलना नहीं है कि लॉकडाउन भले चला गया हो, वायरस नहीं गया है. बीते 7-8 महीनों में, प्रत्येक भारतीय के प्रयास से, भारत आज जिस संभली हुई स्थिति में हैं, हमें उसे बिगड़ने नहीं देना है.' प्रधानमंत्री ने कहा कि एक कठिन समय से निकलकर देश आगे बढ़ रहा है और थोड़ी सी लापरवाही इस गति को रोक सकती है. उन्होंने लोगों का याद दिलाया कि कैसे अमेरिका और यूरोप के दूसरे देशों में कोरोना के मामले कम होने के बाद अचानक से फिर बढ़ने लगे.

उन्होंने कहा, 'थोड़ी सी लापरवाही हमारी खुशियों को धूमिल कर सकती है. जीवन की ज़िम्मेदारियों को निभाना और सतर्कता ये दोनों साथ-साथ चलेंगे, तभी जीवन में खुशियां बनी रहेंगी.' प्रधानमंत्री ने हाल के दिनों में विभिन्न माध्यमों से आई तस्वीरों और कुछ वीडियो का जिक्र करते हुए कहा कि कई लोगों ने अब सावधानी बरतना बंद कर दिया है. उन्होंने कहा, 'ये ठीक नहीं है. अगर आप लापरवाही बरत रहे हैं, बिना मास्क के बाहर निकल रहे हैं तो आप अपने आप को, अपने परिवार को, अपने परिवार के बच्चों को, बुजुर्गों को उतने ही बड़े संकट में डाल रहे हैं.' उन्होंने कहा कि आज देश में कोरोना से ठीक होने की दर अच्छी है, इससे होने वाली मौती की दर कम है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज