मंच पर साथ बैठे रामगोपाल यादव बोले- कौन हैं शेहला रशीद, मैं नहीं जानता

News18Hindi
Updated: August 22, 2019, 1:36 PM IST
मंच पर साथ बैठे रामगोपाल यादव बोले- कौन हैं शेहला रशीद, मैं नहीं जानता
रामगोपाल यादव (Ramgopal Yadav) से शेहला रशीद (Shehla Rashid) से जुड़ा एक सवाल पूछा गया.

रामगोपाल यादव (Ramgopal Yadav) से शेहला रशीद (Shehla Rashid) से जुड़ा एक सवाल पूछा गया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 22, 2019, 1:36 PM IST
  • Share this:
जम्मू और कश्मीर (Jammu And Kashmir) में हिरासत में लिए गए नेताओं को रिहा करने लिए राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली (Delhi) स्थित जंतर-मंतर (Jantar Mantar) पर प्रदर्शन किया गया. इस दौरान तमाम दलों के नेता मंच पर मौजूद थे. द्रविड़ मुनेत्र कड़गम (DMK) की अगुवाई में जंतर-मंतर पर 'जम्मू-कश्मीर में हिरासत में लिए गए नेताओं की रिहाई' (release of leaders detained in Jammu & Kashmir) की मांग करते हुए सर्वदलीय प्रदर्शन किया गया.

कांग्रेस नेता कार्ति चिदंबरम, गुलाम नबी आज़ाद, राजद नेता मनोज झा, और अन्य लोग भी उपस्थित थे. इस प्रदर्शन में समाजवादी पार्टी के नेता और राज्यसभा सांसद प्रोफेसर रामगोपाल यादव भी मौजूद थे. मंच पर उनके पीछे जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (Jawaharlal Nehru University)की छात्र नेता रहीं शेहला रशीद (Shehla Rashid) भी मौजूद थीं.

इस दौरान रामगोपाल यादव से शेहला से जुड़ा एक सवाल पूछा गया जिसके जवाब में उन्होंने कहा कि 'मैं उन्हें नहीं जानता. वह कौन हैं.' यादव ने कहा कि - 'वह जवाहरलाल नेहरू नहीं हैं, इसलिए उनके बयान पर मैं कोई टिप्पणी नहीं करुंगा.'.

यह भी पढ़ें:  शेहला की मुश्किलें बढ़ीं: फेक ट्वीट मामला स्पेशल सेल के पास

शेहला ने किया था यह ट्वीट

बता दें जेएनयू (JNU) की पूर्व छात्र नेता और जेएनयूएसयू (JNUSU) की पूर्व उपाध्यक्ष शेहला रशीद जम्मू-कश्मीर (Jammu Kashmir) के हालात को लेकर सोशल मीडिया (Social Media) पर किए अपने पोस्ट से मुश्किल में घिर गईं. शेहला रशीद के दावों को भारतीय सेना ने खारिज करते हुए उन्हें बेबुनियाद बताया है.

रशीद ने रविवार को कश्मीर के हालत को लेकर 10 ट्वीट किए थे. उन्होंने दावा किया था कि घाटी के मौजूदा हालात बहुत खराब हो गए हैं.रशीद ने लिखा था कि जम्मू कश्मीर के लोगों ने उन्हें बताया कि पुलिस के पास कानून-व्यवस्था का कोई अधिकारी मौजूद नहीं है.
Loading...

शेहला के दावे बेबुनियाद - सेना

रशीद ने लिखा था कि एक एसएचओ का ट्रांसफर केवल इसलिए कर दिया गया क्योंकि उसकी एक सीआरपीएफ (CRPF) के जवान ने शिकायत कर दी थी. इतना ही नहीं शेहला ने अपने ट्वीट पर आरोप लगाया कि सुरक्षाबल रात में घर में घुसते हैं और लड़कों को उठाकर ले जाते हैं.

रशीद ने लिखा था कि 'शोपिया के आर्मी कैंप में चार लोगों को ले जाकर पूछताछ के नाम पर टॉर्चर किया ' शेहला के सभी दावों को खारिज करते हुए भारतीय सेना ने इन बातों को बेबुनियाद बताया है.

इसी मामले पर जब गुरुवार को मीडिया ने शेहला से सवाल किया तो उन्होंने कहा कि 'मैं इसके सबूत दूंगी.'

यह भी पढ़ें:  कश्मीर पर विवादित पोस्ट डालकर घिरीं शेहला, गिरफ्तारी की मां

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 22, 2019, 1:31 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...