शीला दीक्षित मेरे सबसे बुरे दौर में मेरे साथ खड़ी रहीं: सोनिया गांधी

कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी (Congress Interim president Sonia Gandhi) ने शनिवार को यह कहते हुए शीला दीक्षित (Sheila Dikshit) को भावभीनी श्रद्धांजलि दी कि उनके ‘सबसे बुरे दौर’ में वह उनके साथ खड़ी रहीं.

News18Hindi
Updated: August 10, 2019, 11:48 PM IST
शीला दीक्षित मेरे सबसे बुरे दौर में मेरे साथ खड़ी रहीं: सोनिया गांधी
कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी (Congress Interim president Sonia Gandhi) ने शनिवार को यह कहते हुए शीला दीक्षित (Sheila Dikshit) को भावभीनी श्रद्धांजलि दी कि उनके ‘सबसे बुरे दौर’ में वह उनके साथ खड़ी रहीं.
News18Hindi
Updated: August 10, 2019, 11:48 PM IST
कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी (Congress Interim president Sonia Gandhi) ने शनिवार को यह कहते हुए शीला दीक्षित (Sheila Dikshit) को भावभीनी श्रद्धांजलि दी कि उनके ‘सबसे बुरे दौर’ में वह उनके साथ खड़ी रहीं. शीला ने ही उनसे कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष का पद संभालने की अपील भी की थी.

उन्होंने कहा, ‘‘शीलीजी के साथ मेरा जुड़ाव मेरे राजनीतिक करियर से भी लंबा है. सबसे बुरे दौर में भी वह मेरे साथ खड़ी रहीं और बाद में उन्होंने मुझसे कांग्रेस अध्यक्ष (Congress President) का पद संभालने के लिए बार बार अपील की.’’ उन्होंने कहा, ‘‘जब मैंने ऐसा किया तो उन्होंने पार्टी सहयोगी के बजाय बड़ी बहन की तरह मुझे रास्ता दिखाया.’’

शीला दीक्षित की याद में रखा गया था कार्यक्रम
दिल्ली की तीन बार मुख्यमंत्री रहीं शीला दीक्षित की याद में हुए एक कार्यक्रम में गांधी ने कहा, ‘‘ इस साल हाल के चुनाव में वह अस्वस्थ होने के बावजूद लोकसभा चुनाव लड़ने के लिए पार्टी की एक निष्ठावान कार्यकर्ता की तरह आगे आईं. शीलाजी की जिंदगी हमें सिखाता है कि सार्वजनिक व्यक्ति के लिए लोगों की असली सेवा से बढ़कर और कोई बड़ी चीज नहीं है.’’

Rahul Gandhi, sonia gandhi, priyanaka gandhi
इस कार्यक्रम में सोनिया गांधी के साथ प्रियंका गांधी, राहुल गांधी भी पहुंचे.


दिल्ली ने खोया काबिल प्रशासक
उन्होंने भावुकता से कहा, ‘‘दिल्ली और कांग्रेस शीलाजी के बगैर ऐसी नहीं होती. इस शहर ने अपनी सबसे काबिल प्रशासक खोया और पार्टी ने अपना सबसे निष्ठावान कार्यकर्ताओं में एक. लेकिन, जिन सिद्धांतों और आदर्शों के लिए वह खड़ी रहीं, हम उनका पालन कर उस रिक्तता को भरने का प्रयास कर सकते हैं.’’
Loading...

इस मौके पर माकपा नेता सीताराम येचुरी (Sitaram Yechuri) ने कहा कि दीक्षित ने देश में बढ़ती नफरत और हिंसा के माहौल पर चिंता प्रकट की थी और (वह)कहती थीं कि यह भारत या किसी राजनीतिक दल के लिए अच्छा नहीं है. उन्होंने कहा, ‘‘ उनका हमेशा से मानना था कि राजनीतिक विचारधारा में मतभेद के बावजूद संवाद की संभावना हमेशा खुली रहनी चाहिए.

सोनिया गांधी अंतरिम अध्यक्ष नियुक्त
बता दें सोनिया गांधी शीला दीक्षित की याद में हुए इस कार्यक्रम में शिरकत करने के बाद कांग्रेस वर्किंग कमेटी की बैठक में पहुंचीं थीं जहां उन्हें पार्टी का अंतरिम अध्यक्ष बनाया है.

ये भी पढ़ें-
राहुल का इस्तीफा मंजूर, कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष बनीं सोनिया गांधी

गैर गांधी अध्यक्ष के दौर में कैसी थी कांग्रेस की हालत

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 10, 2019, 11:48 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...