कोरोना टास्क फोर्स का गठन नरेंद्र मोदी सरकार की 'नाकामी' को दिखाता है: शिवसेना

शिवसेना सांसद संजय राउत. (फाइल फोटो)

शिवसेना सांसद संजय राउत. (फाइल फोटो)

Shiv Sena Target Modi Govt: सुप्रीम कोर्ट ने कोविड-19 के मरीजों की जान बचाने के लिए ऑक्सीजन के आवंटन पर कार्यप्रणाली तैयार करने के संबंध में शीर्ष चिकित्सा विशेषज्ञों के 12 सदस्यीय राष्ट्रीय कार्यबल का गठन किया था.

  • Share this:

मुंबई. शिवसेना ने सोमवार को कहा कि देश में चल रही कोरोना वायरस की तीसरी लहर के बीच ऑक्सीजन आवंटन की निगरानी के लिए उच्चतम न्यायालय द्वारा चिकित्सा विशेषज्ञों के 12 सदस्यीय कार्यबल का गठन करना यह दिखाता है कि नरेंद्र मोदी की अगुवाई में केंद्र सरकार नाकाम हो चुकी है. शिवसेना के मुखपत्र 'सामना' ने एक संपादकीय में कहा कि शीर्ष न्यायालय द्वारा गठित पैनल के जरिए अब देश में ढह चुके स्वास्थ्य प्रणाली में नई जान आएगी.


संपादकीय में शिवसेना ने कहा, 'अब सुप्रीम कोर्ट ने कदम उठाया है, लेकिन देश पर शासन करने वाले अभी भी राजनीति में उलझे हुए हैं. वे लोग असम के लिए मुख्यमंत्री चुनने में व्यस्त हैं. भले ही, ममता बनर्जी ने बंगाल चुनाव जीत लिया हो, लेकिन वे लोग इस बात के लिए समय निकालने में व्यस्त हैं कि उन्हें अपनी सरकार चलाने से कैसे रोका जाए. ऐसे में उनलोगों का क्या होगा जो इस वक्त मौत के मुंह में समा रहे हैं? उनलोगों की हिफाजत कौन करेगा? अब सुप्रीम कोर्ट ने कोरोना वायरस के खिलाफ जंग में विशेषज्ञों के 12 सदस्यीय कार्यबल को नियुक्त किया है. अब यह देश के बर्बाद हो चुके स्वास्थ्य ढांचों में सांस फूंकने का काम करेगी.'


Youtube Video

कोरोना मरीज को एंबुलेंस से सैफई से आगरा ले जाने के वसूले 15 हजार, ADG ने दिये जांच के आदेश


मेडिकल ऑक्सीजन की आपूर्ति के प्रबंधन की योजना में कमी को लेकर केंद्र की आलोचना करते हुए शिवसेना ने कहा, 'दिल्ली में जो हालात हैं, उसी तरह से देश के दूसरे हिस्सों में भी संकट काफी बुरा है. देश ने मेडिकल ऑक्सीजन की आपूर्ति के प्रबंधन को लेकर कोई भी योजना की रूपरेखा तैयार नहीं की. अब 12 सदस्यीय कार्यबल द्वारा दिशानिर्देश तैयार किए जाएंगे. दूसरे देशों से ऑक्सीजन मिलने के बावजूद देश में हालात जस के तस हैं. उत्तर प्रदेश और बिहार जैसा राज्यों में मौतों की संख्या बढ़ती जा रही है.'



गौरतलब है कि उच्चतम न्यायालय ने कोविड-19 के मरीजों की जान बचाने और जनस्वास्थ्य व्यवस्था की मदद के लिए ऑक्सीजन के आवंटन पर कार्यप्रणाली तैयार करने के संबंध में शीर्ष चिकित्सा विशेषज्ञों के 12 सदस्यीय राष्ट्रीय कार्यबल का गठन किया है. कार्यबल के सदस्यों में पश्चिम बंगाल स्वास्थ्य विज्ञान विश्वविद्यालय के पूर्व कुलपति डॉ. भाबतोश बिस्वास, सर गंगा राम अस्पताल, दिल्ली के प्रबंधन बोर्ड के अध्यक्ष डॉ देवेंद्र सिंह राणा, नारायण हेल्थकेयर के अध्यक्ष और कार्यकारी निदेशक डॉ देवी प्रसाद शेट्टी, क्रिश्चियन मेडिकल कॉलेज, वेल्लौर की प्रोफेसर डॉ. गगनदीप कांग और क्रिश्चियन मेडिकल कॉलेज, वेल्लौर के निदेशक डॉ जे वी पीटर समेत अन्य विशेषज्ञ हैं. न्यायालय के निर्देश के मुताबिक टीम में कुछ और विशेषज्ञ शामिल किए जा सकते हैं.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज