लाइव टीवी

शिवसेना का इशारा, गुजरात चुनाव में ईवीएम से हो सकती है छेड़छाड़

भाषा
Updated: December 20, 2017, 11:28 PM IST
शिवसेना का इशारा, गुजरात चुनाव में ईवीएम से हो सकती है छेड़छाड़
शिवसेना का इशारा, गुजरात चुनाव में ईवीएम से हो सकती है छेड़छाड़

शिवसेना ने गुजरात विधानसभा चुनाव के नतीजों को लेकर भाजपा के खिलाफ अपना हमला बुधवार को भी जारी रखा. इस दौरान शिवसेना ने मतदान में इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनों (ईवीएम) से छेड़छाड़ होने की ओर इशारा किया.

  • भाषा
  • Last Updated: December 20, 2017, 11:28 PM IST
  • Share this:
शिवसेना ने गुजरात विधानसभा चुनाव के नतीजों को लेकर भाजपा के खिलाफ अपना हमला बुधवार को भी जारी रखा. इस दौरान शिवसेना ने मतदान में इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनों (ईवीएम) से छेड़छाड़ होने की ओर इशारा किया.

गौरतलब है कि गुजरात चुनाव में भाजपा ने 99 सीटें हासिल कर सत्ता पर कब्जा बरकरार रखा है. पिछली बार इसने 115 सीटें हासिल की थीं. वहीं, कांग्रेस की सीटों की संख्या 2012 की 61 सीटों से बढ़कर इस बार 77 हो गई. शिवसेना ने कहा, ‘यदि हार्दिक पटेल ने जो कुछ कहा वह सही है तो भाजपा को गुजरात में मिली जीत के लिए मोदी के अलावा ईवीएम को भी माला पहनानी चाहिए.’

जीत के लिए भाजपा किसी भी स्‍तर तक जा सकती है

पार्टी ने सोमवार को चुनाव नतीजे आने के बाद मुंबई भाजपा कार्यकर्ताओं के पटाखे जलाने का जिक्र करते हुए कहा, ‘ गुजरात में भाजपा के 100 का आंकड़ा पार करने में नाकाम रहने के बावजूद कुछ लोग मुंबई में जीत का जश्न मना रहे हैं. हम कह सकते हैं कि उन्होंने इस जीत का सही मतलब नहीं समझा.’ पार्टी ने कहा कि गुजरात चुनाव से जाहिर होता है कि सत्तारूढ़ पार्टी चुनाव जीतने के लिए किसी भी स्तर तक जा सकती है. शिवसेना ने दावा किया, ‘मोदी ने कहा था कि भाजपा 151 सीटें जीतेगी जबकि भाजपा प्रमुख अमित शाह ने कहा था कि 150 से अधिक सीटें जीतना उनकी असली जीत होगी. हालांकि, गुजरात के लोगों ने उन्हें 100 सीटें भी नहीं दीं.’

गुजरात मॉडल चरमरा गया है

पार्टी ने दावा किया कि शहरी वर्ग का रुझान भाजपा की ओर था लेकिन असली हिन्दुस्तान गांवों में बसता है, जहां किसानों और श्रमिकों की समस्या अनसुलझी बनी हुई है. गौरतलब है कि शिवसेना ने कल भी भाजपा पर हमला बोलते हुए दावा किया था कि गुजरात मॉडल चरमरा गया है और राज्य में चुनाव नतीजे उन लोगों के लिए चेतावनी है जो तानाशाही शासन में यकीन रखते हैं.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 20, 2017, 11:28 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...